UP: दबंगों ने बंधक बनाकर दलित युवक को इतना पीटा कि हो गई मौत, सभी आरोपी गिरफ्तार

मौत की सूचना मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया. (सांकेतिक फोटो)
मौत की सूचना मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया. (सांकेतिक फोटो)

मौत की सूचना मिलते ही पुलिस (Police) महकमे में हड़कंप मच गया. और आनन-फानन में परिजनों की तहरीर पर अब चार लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है.

  • Share this:
चित्रकूट. उत्तर प्रदेश के चित्रकूट (Chitrakoot) में एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां पुरानी रंजिश में दबंगों ने दलित युवक (Dalit Youth) को बंधक बनाने के बाद उसकी जमकर पिटाई कर दी. इससे इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई है. मामला मऊ थाना क्षेत्र (Mau Police Station Area) के ओझर गांव का है. कहा जा रहा है कि 15 अक्टूबर को सुधीर नाम के दलित नाबालिग युवक को गांव के ही संतोष शुरूआ और उसके परिवार के लोगों ने पुरानी रंजिश के चलते बंधक बना लिया. फिर नदी किनारे लेजाकर उसके हाथ- पैर को बांध दिया और जमकर पिटाई कर दी, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया. इसके बाद सभी आरोपी मौके से फरार हो गए.

वहीं, परिजनों ने मामले को लेकर पुलिस को सूचना दी. हालांकि, सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया. पीड़ित परिजनों का कहना है कि आरोपियों को गिरफ्तार करने के एवज में पुलिस उनसे ही पैसों की डिमांड करने लगी. वहीं, पीड़ित परिजनों के द्वारा पैसे न दिए जाने पर पुलिस द्वारा आरोपियों के खिलाफ कोई कठोर कार्रवाई नहीं की गई. इसके बाद पीड़ित युवक को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया,  जहां डॉक्टरों ने उसकी हालत देख प्रयागराज के लिए रेफर कर दिया. लेकिन पीड़ित परिजनों ने पास पैसे के अभाव के चलते उसका इलाज नहीं करवाया, जिससे आज उसकी घर पर ही मौत हो गई है.

पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है
वहीं, मौत की सूचना मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया और आनन-फानन में परिजनों की तहरीर पर अब चार लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा पंजीकृत कर दिया गया है.पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल का कहना है कि इस मामले पर प्रथम दृष्टया पुलिस ने 151 की कार्रवाई की थी. मेडिकल रिपोर्ट में कोई गंभीर चोटें नहीं आई थी. इसकी वजह से मुकदमा नहीं पंजीकृत किया गया था. युवक की मौत के बाद परिजनों की तहरीर पर अब चार लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है. और पीड़ित परिजनों द्वारा पुलिस पर पैस की डिमांड करने का जो आरोप लगाया है वह सरासर गलत है. मामले की जांच कर आगे की कार्रवाई की जा रही है और सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज