आखिर मुर्दे को क्यों चाहिए सरकारी योजनाओं में लाभ!

वृद्ध की 1 साल से वृद्धा पेंशन नहीं आ रही थी, तो उसने अपने पेंशन ना आने का कारण जानने के लिए समाज कल्याण विभाग पहुंचा. जहां बाबू ने उसे अपने सरकारी कागजों पर मृत दर्शाया हुआ था.

News18Hindi
Updated: March 29, 2018, 8:23 PM IST
News18Hindi
Updated: March 29, 2018, 8:23 PM IST
यूपी के चित्रकुट में मुर्दों सरकार से अपना हक मांग रहे हैं. इन लोगों का कहना है कि सरकार की योजनाओं का लाभ इन्हें भी मिलना चाहिए. ये मुर्दे अपनी मांगों को लेकर सरकारी ऑफिस के चक्कर काट रहे हैं. दरअसल ये वो लोग हैं जिन्हें सरकारी फाइलों में मृत घोषित कर दिया गया है.

ये पूरा मामला राजापुर तहसील के लमियारी गांव का है जहां एक शिवसागर नाम का वृद्ध ने अपने ही जीवित होने का सबूत देने के लिए जिला अधिकारी के चौखट पर गुहार लगाई है. इसका खुलासा तब हुआ जब वृद्ध की 1 साल से वृद्धा पेंशन नहीं आ रही थी, तो उसने अपने पेंशन ना आने का कारण जानने के लिए समाज कल्याण विभाग पहुंचा. जहां बाबू ने उसे अपने सरकारी कागजों पर मृत दर्शाया हुआ था.

यह देखते ही वृद्ध के पैरों तले से जमीन खिसक गई और वह अपने जीवित होने के सबूत कई लेकर . अधिकारियों की चौखट पर चक्कर लगा रहा है, लेकिन कोई भी कर्मचारी और अधिकारी उसकी सुनने के लिए तैयार नहीं है. ऐसे में मजबूरन वृद्धि अपने जीवित होने का सबूत देने के लिए जिलाधिकारी की चौखट पर पहुंच गया है.

वही जब न्यूज18 ने इस मामले में मुख्य विकास अधिकारी से बात की तो उन्होंने मामले में जांच कराकर कार्रवाई करने की आश्वासन जिया. अब यह देखना होगा कि आखिर लापरवाह अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्रवाई होती है या फिर ऐसे ही दर्द को अपने जीवित होने का सबूत देने के लिए चक्कर लगाना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें

बीजेपी अब आंबेडकर के बहाने यूपी में हिन्दुत्व का एजेंडा चलाना चाहती है: विपक्ष
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर