होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /बागेश्वर धाम से लापता महिला का 7 माह बाद भी नहीं लगा सुराग... पति ने धीरेंद्र शास्त्री पर लगाया ढोंग का आरोप

बागेश्वर धाम से लापता महिला का 7 माह बाद भी नहीं लगा सुराग... पति ने धीरेंद्र शास्त्री पर लगाया ढोंग का आरोप

Chitrakoot News: दुर्गा प्रसाद ने पंडित धीरेंद्र शास्त्री पर लागए गंभीर आरोप

Chitrakoot News: दुर्गा प्रसाद ने पंडित धीरेंद्र शास्त्री पर लागए गंभीर आरोप

Bageshwar Dham Dheerendra Shastri News: मामला शहर कोतवाली क्षेत्र के खुटहा गांव का है, जहां के रहने वाले दुर्गा प्रसाद ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

दुर्गा प्रसाद अपनी पत्नी को दिखाने के लिए 2 जुलाई 2022 को बागेश्वर धाम गए थे
प्रक्रिमा के दौरान उनकी पत्नी अचानक से गायब हो गईं
इसके बाद परिवार ने धीरेंद्र शास्त्री से पत्नी का पता बताने की गुहार लगाई

चित्रकूट. मध्य प्रदेश के बागेश्वर धाम महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री इन दिनों लगातार मीडिया की सुर्खियों में बने हुए हैं. उनके ऊपर अंधविश्वास फैलाने का आरोप लगा है. ऐसा ही सनसनीखेज मामला चित्रकूट जनपद से सामने आया है, जहां एक पीड़ित पति की पत्नी बागेश्वर धाम से लापता हो गई. पीड़ित परिवार ने बागेश्वर धाम के संत पंडित धीरेंद्र शास्त्री से महिला का पता लगाने की गुहार लगाई थी. जिस पर पंडित धीरेंद्र शास्त्री ने कहा था कि महिला आधे घंटे बाद मिल जाएगी. लेकिन 7 महीने बीत जाने के बाद भी महिला का कहीं कोई सुराग नहीं लगा है. जिसके बाद पीड़ित परिवार ने पंडित धीरेंद्र शास्त्री पर ढोंग करने का गंभीर आरोप लगाया है.

मामला शहर कोतवाली क्षेत्र के खुटहा गांव का है, जहां के रहने वाले दुर्गा प्रसाद रैकवार ने आरोप लगाते हुए बताया कि उसकी पत्नी मीड़िया रैकवार की कभी-कभी तबियत खराब हो जाती थी. उसे लगता था कि भूत-प्रेत की वजह से ऐसा हो रहा है. जिसके बाद वह छतरपुर के बागेश्वर धाम की महिमा सुनकर बीते 2 जुलाई 2022 को वह अपनी पत्नी को दिखाने के लिए अपने परिवार सहित गया हुआ था. परिक्रमा लगाते समय आगे पीछे हो जाने के कारण उसकी पत्नी कहीं लापता हो गई. जिसको ढूंढने के लिए उन्होंने काफी प्रयास किया, लेकिन उसका कहीं कोई सुराग नहीं लगा. जिसके बाद वह बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र शास्त्री से बिना अर्जी लगाए हुए मिलने का प्रयास किया, लेकिन उन्हें उनकी सुरक्षा और वहां के कर्मियों द्वारा मिलने नहीं दिया गया. किसी तरह उनकी भतीजी ने पंडित धीरेंद्र शास्त्री से अपनी चाची के खो जाने की बात कही और जिस तरह वह लोगों की मन की बात को पढ़ लेते हैं उसी तरह उनकी चाची को पता लगाने की गुहार लगाई. जिस पर पंडित धीरेंद्र शास्त्री ने उसकी बात सुनकर रोने से मना करते हुए कहा कि उसकी चाची का पता आ गया है और फोटो भी आ गई है. आधे घंटे बाद मैं बता दूंगा जिसके बाद वह लोग आधे घंटे तक इंतजार करते रहे. जब फिर से वह पंडित धीरेंद्र शास्त्री के पास जाने लगे तो वहां खड़े उनके सुरक्षाकर्मियों और बागेश्वर धाम में तैनात कर्मियों ने उन्हें पंडित धीरेंद्र शास्त्री से मिलने नहीं दिया. जिसके बाद पीड़ित परिवार निराश होकर वहां से लौट आए.

पुलिस में लिखवाई गुमशुदगी की रिपोर्ट
एक महीने तक वहीं रह कर पत्नी की तलाश करते रहे. इस दौरान उन्होंने कई बार पंडित धीरेंद्र शास्त्री से मिलने का प्रयास किया, लेकिन फिर भी नहीं मिल पाए. जिससे परेशान पीड़ित परिवार ने पंडित धीरेंद्र  शास्त्री की मां से भी उनके बेटे से मिलवाने की गुहार लगाई, लेकिन उनकी मां ने भी उन्हें आश्वासन देकर वापस कर दिया. लपता महिला के पति ने छतरपुर जनपद के बबीठा थाने में 4 जुलाई 2022 को अपनी पत्नी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी, लेकिन पुलिस ने भी मुकदमा दर्ज करने की खानापूर्ति कर ली. आज तक पीड़ित परिवार की कोई मदद नहीं की है. जब पीड़ित परिवार लापता महिला को खोज कर थक गया तो निराश होकर वह अपने घर चला आया. आज भी अपनी पत्नी के खो जाने के वियोग में डूबा हुआ है.

मन की बात जानने के दावे को बताया ढोंग
दुर्गा प्रसाद का कहना है कि इसके बावजूद भी वह बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र शास्त्री के गुरु स्वामी जगतगुरु रामभद्राचार्य महाराज से भी पंडित धीरेंद्र शास्त्री से मिलवाने की बात कही. जिस पर उन्होंने भी आश्वासन दे दिया, लेकिन आज तक उसे पंडित धीरेंद्र शास्त्री से नहीं मिलवा पाए हैं. उसने पुलिस प्रशासन से लेकर शासन तक को पत्र लिखकर मदद की गुहार लगाई थी, लेकिन किसी ने भी उसकी नहीं सुनी. इसलिए पीड़ित पति दुर्गा प्रसाद ने बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र शास्त्री द्वारा पर्चा लिखकर लोगों की मन की बात जान लेने की बात को ढोंग बताया.

Tags: Chitrakoot News, UP latest news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें