लाइव टीवी

कमलेश तिवारी मर्डर केस के बाद इंडो-नेपाल बॉर्डर के लिए सीएम योगी ने उठाया ये कदम

News18Hindi
Updated: October 23, 2019, 12:48 PM IST
कमलेश तिवारी मर्डर केस के बाद इंडो-नेपाल बॉर्डर के लिए सीएम योगी ने उठाया ये कदम
लखनऊ में कमलेश तिवारी हत्याकांड के बाद से सीएम योगी सरका ने कई सख्त कदम उठाए थे. (File Photo)

मंगलवार की देर रात सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने दो विभागों सहित भारत-नेपाल बॉर्डर (Indo-Nepal Border) की चौकसी में लगी एसएसबी (SSB) फोर्स के साथ बैठक की थी. जहां ये निर्णय लिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2019, 12:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत-नेपाल (Indo-Nepal) का खुला बॉर्डर (Border) हमेशा से ही संदिग्धों (Suspect) और तस्करों के निशाने पर रहता है. कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) के हत्यारों के बारे में भी नेपाल भागने की सूचना थी. इस तरह की गतिविधियों पर रोक लगाने के लिए यूपी (UP) के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने बड़ा कदम उठाया है. तीन विभागों संग हुई बैठक के बाद उन्होंने घोषणा की है कि बॉर्डर इलाके में आल वेदर रोड (Road) बनाया जाएगा. इस रोड के बनने से हमारी सभी चौकियां आपस में जुड़ जाएंगी. इससे बॉर्डर की निगरानी (Monitoring) और आसान हो जाएगी.

योगी बोले खुली सीमा के गलत इस्तेमाल की होती है कोशिश

सीएम योगी आदित्यनाथ का कहना है कि देश विरोधी ताकतों से जुड़े कुछ लोग भारत-नेपाल की खुली सीमा का दुरुपयोग करने की कोशिश करते हैं. वेदर रोड बनने से हमारी सुरक्षा चौकियां एक दूसरे से जुड़ जाएंगी. इससे संदिग्ध तत्वों पर निगरानी करना आसान हो जाएगा. वहीं वन माफिया व वन्य जीवों को नुकसान पहुंचाने वाले तत्वों से सख्ती के साथ निपटा जा सकेगा. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि बार्डर रोड बनाने में हमें वाइल्ड लाइफ और वृक्षों का विशेष ध्यान रखना होगा, जिससे उन्हें कोई नुकसान न पहुंचे.

अपने दो विभागों सहित सीएम ने एसएसबी से मांगी सर्वे रिपोर्ट

नेपाल-भारत बॉर्डर की निगरानी को और चुस्त बनाने के लिए बुलाई गई बैठक में लोक निर्माण विभाग, वन विभाग के अधिकारी मौजूद थे. वहीं बॉर्डर की सुरक्षा में लगी एसएसबी के अधिकारी भी मौजूद थे. इस मौके पर सीएम योगी ने एसएसबी सहित दोनों विभागों से जल्द से जल्द सर्वे कर रिपोर्ट देने की बात कही है. बॉर्डर से सटे जंगलों और मैदानी इलाके का सर्वे किया जाना है.

Kamlesh Tiwari ने हत्या से एक दिन पहले ट्विटर पर शेयर की थी 16 मंदिर-मस्जिदों के नाम वाली ये लिस्ट

कमलेश तिवारी मर्डर केस: नेपाल बॉर्डर तक पहुंच गए थे आरोपी, फिर इस कारण लौटे थे गुजरात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2019, 12:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...