UP: सीएम योगी का बड़ा फैसला, इटावा में ऑक्सीनज प्लॉट लगाएगी योगी सरकार


 इटावा के डॉ .भीमराव अंबेडकर राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में आक्सीजन प्लांट स्थापित किया जायेगा.

इटावा के डॉ .भीमराव अंबेडकर राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में आक्सीजन प्लांट स्थापित किया जायेगा.

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के चलते ऑक्सीजन की कमी से लोगों की मौत को हो रही है. इसको देखते हुये योगी सरकार ने इटावा में ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Plant) लगाने की घोषणा की है. डॉ. भीमराव अंबेडकर राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में इसे स्थापित किया जायेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 18, 2021, 7:13 PM IST
  • Share this:
इटावा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कोरोना संक्रमण के चलते ऑक्सीजन की कमी से लोगों की मौत को देखते हुये योगी सरकार ने इटावा में ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Plant) लगाने की घोषणा की है. यह प्लांट डॉ. भीमराव अंबेडकर राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में स्थापित किया जायेगा. इटावा के सीएमओ डॉ. एनएस तोमर ने यह जानकारी दी है.

उन्होंने बताया कि इटावा जिले में कोरोना की स्थिति अब काफी विस्फोटक होती जा रही है. रविवार को अब तक के सबसे ज्यादा 354 संक्रमित निकले हैं. इसके अलावा कोरोना से मौतों का आंकडा भी लगातार बढ़ता ही चला जा रहा है. जिस तरह से जिले में कोरोना का ग्राफ बढ़ रहा है, अगर यही स्थिति रही तो लोगों को और भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. हालांकि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर प्रदेश सरकार भी काफी गंभीर हुई है. इटावा जिले में 1 अप्रैल से कोरोना संक्रमितों के बढ़ने का सिलसिला शुरू हुआ था.

वाराणसी: कर्फ्यू में एक साथ रेलवे स्टेशन पर घूमते नजर आए 'यमराज' और 'कोरोना', जानिए वजह

अप्रैल के प्रथम दिन जहां तीन संक्रमित निकले थे. वहीं 16 दिन में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1101 पहुंच गई है और 16 दिनों के अंदर कोरोना से जिले में 8 मौतें भी हो चुकी हैं. इतनी भयावह स्थिति के बाद भी लोग अभी भी नहीं चेत रहे हैं. उन्होंने बताया कि कोरोना के बढ़ते हुए असर को देखते हुए योगी सरकार ने बाबा भीमराव आंबेडकर जिला अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाने की स्वीकृति दे दी है. शासन की ओर से अधिकृत किसी कंपनी का यह प्लांट जिला अस्पताल में लगाया जाएगा. सीएमओ डॉ. एनएस तोमर ने बताया कि इटावा में भी सैफई मेडिकल यूनीवसिर्टी में आक्सीजन प्लांट लगा हुआ है. वहां पर ऑक्सीजन की कोई दिक्कत नहीं है.


15 छोटे-बड़े सिलिडरों की रोज है खपत


जिला अस्पताल के 200 बेड कोविड अस्पताल के लिए नए ऑक्सीजन प्लांट की स्वीकृति दे दी गई है. उन्होंने बताया कि जिला अस्पताल को अभी 15 छोटे-बड़े सिलिडरों की रोज जरूरत पड़ रही है, जिसके लग जाने के बाद यहां पर सुविधा हो जाएगी. उन्होंने बताया कि अभी उनके पास 17 छोटे सिलेंडर और 20 बड़े सिलेंडर ऑक्सीजन के उपलब्ध हैं. 50 ऑक्सीजन सिलेंडर सैफई मेडिकल यूनीवसिर्टी को दे दिए गए हैं. इटावा जिला अस्पताल में अभी 25 मरीज भर्ती हैं. प्लाज्मा की जनपद में अभी कोई व्यवस्था नहीं है.



सीएमओ ने बताया कि 150 रेमडेसिविर इंजेक्शन इटावा को मिले हैं जो सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी को दे दिए गए हैं. जिलाधिकारी के माध्यम से और इंजेक्शन की मांग की जा रही है. उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन वाले मरीज रेमडेसिविर इंजेक्शन खरीद कर रख रहे हैं. इसकी जानकारी कोई अभी तक उनके पास नहीं आई है.

ऐसा इसलिए भी संभव नहीं है कि बाजार में यह इंजेक्शन उपलब्ध नहीं हैं. उन्होंने बताया कि कोरोना मरीज की जांच रिपोर्ट मोबाइल पर आने की सुविधा उपलब्ध है. मरीज पोर्टल पर जाकर अपना मोबाइल नंबर डालकर अपनी रिपोर्ट प्राप्त कर सकता है. जांच रिपोर्ट आने के बाद अस्पताल में भर्ती होने में कोई दिक्कत नहीं है. उन्होंने बताया कि निजी अस्पतालों को भी आगे की व्यवस्था के लिए कोविड-19 अस्पताल में बदला जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज