Agra News: धीमी हुई कोरोना की रफ्तार, भर्ती है सिर्फ एक मरीज, एक्टिव केस घटकर हुए 34

आगरा में कोरोना की रफ्तार धीमी हो रही है.  (सांकेतिक फोटो: AFP)

आगरा में कोरोना की रफ्तार धीमी हो रही है. (सांकेतिक फोटो: AFP)

आगरा के मेडिकल कॉलेज में अब सिर्फ एक ही कोरोना (COVID-19) का मरीज भर्ती है. जिले में कोरोना के सिर्फ 34 एक्टिव केस रह गए हैं. इनमें 33 ए सिंप्टोमेटिक हैं. आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में सिर्फ 1 मरीज भर्ती है, जो अगले दो या तीन दिनों में डिस्चार्ज हो सकता है.

  • Share this:
आगरा. कोरोना टीकाकरण (Corona Vaccination) तेज होने के साथ ताज के शहर आगरा में कोरोना संक्रमण तकरीबन खत्म होने की कगार पर पहुंच गया है. आगरा (Agra) के मेडिकल कॉलेज में अब सिर्फ एक ही कोरोना का मरीज भर्ती है. जिले में कोरोना के सिर्फ 34 एक्टिव केस रह गए हैं. इनमें 33 ए सिंप्टोमेटिक हैं. आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में सिर्फ 1 मरीज भर्ती है, जो अगले दो या तीन दिनों में डिस्चार्ज हो सकता है. नए संक्रमित मरीज सामने न आने से लग रहा है कि आगरा में कोरोना संक्रमण पूरी तरह से हार गया है.

दरअसल, आगरा में उत्तर प्रदेश का पहला कोरोना मरीज मिला था. केस मिलते ही हडक़ंप मच गया था. शू कारोबारी परिवार के लोगों की जांच जब हुई तो 5 लोग पॉजिटिव पाए गए थे. यहां तबलीगी जमात के लगभग 100 लोग चंद दिनों के अंतराल पर कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, जिसके बाद तो कोरोना की रफ्तार बढ़ती चली गई. आगरा के कई अस्पतालों में कोरोना मरीजों की भरमार हो गई. डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ, पुलिस प्रशासन के कर्मी सहित हजारों लोग करोना पॉजिटिव होते चले गए.

मुख्यमंत्री खुद ले रहे जानकारी

जब हालात विकट होने लगे तो प्रदेश सरकार ने कई बार आगरा में टीमें भेजी. सीएम योगी आदित्यनाथ खुद वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए आगरा के डीएम प्रभु एन सिंह से लगातार हालात की जानकारी लेते रहे. कोरोना योद्धाओं के साथ बेहतर तालमेल के जरिए जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन और स्वास्थ्य महकमे ने की सक्रियता का परिणाम अब नजर आ रहा है.
वर्तमान में कोरोना के सिर्फ 34 एक्टिव केस रह गए हैं. इनमें 33 ए सिंप्टोमेटिक हैं. जनपद में भर्ती मरीजों की बात करें तो अब आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में मात्र 1 मरीज भर्ती हैं जिसके 2 या 3 दिन में डिस्चार्ज होने की उम्मीद है. आगरा के जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह ने बताया कि सबके सहयोग से कोरोना के केस लगातार घटते जा रहे हैं, लेकिन सावधानी जरूरी है. 2 गज दूरी और मास्क है जरूरी के नियम का पालन लगातार होता रहेगा.

ये भी पढ़ें: सचिव पर्यटन और DM अल्मोड़ा को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस, चितई मंदिर से जुड़ा है मामला

अब हर दिन सिर्फ 4 से 5 मरीज



आगरा में एक वक्त ऐसा था कि कोरोना के केस लगातार बढ़ते जा रहे थे. हर दिन यहां 40-50 या 60- 70 तक मरीज आते थे. कई बार तो यहां मरीजों की संख्या 1 दिन में ही 100 को पार कर गई, लेकिन दृढ़ इच्छा शक्ति की बदौलत कोरोना योद्धाओं ने जिस तरह से काम किया उसका नतीजा रहा कि अब 1800 से 2000 लोगों की जांच में सिर्फ चार या पांच कोरोना पॉजिटिव ही मिल रहे हैं. लगातार मरीजों की घटती संख्या से पुलिस- प्रशासन और स्वास्थ्य महकमे ने राहत महसूस की है. आम जनता में भी कोरोना का खौफ अब कम हुआ है, लेकिन सतर्कता अब भी जरूरी है. इसके लिए लगातार बैठकों का दौर पहले की तरह ही हो रहा है और लगातार केस कैसे कम हों इस पर रणनीति बनाई जाती है.

यह है आगरा में कोरोना का आंकड़ा

यहां मरीजों की संख्या 10503 है. इसमें से 10297 मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं. कुल एक्टिव केस की बात करें तो यह संख्या 34 है. आगरा में अब तक 500588 लोगों की जांच हो चुकी है. लगातार एक्टिव केस घट रहे हैं, जिसकी वजह से आगरा के लोगों ने राहत महसूस की है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज