लाइव टीवी

COVID-19: अपनी नेतागिरी के चक्‍कर में BJP पार्षद ने कुछ यूं उड़ाया ‘लॉक-डाउन’ की अपील का मजाक
Bareilly News in Hindi

HARISH SHARMA | News18 Uttar Pradesh
Updated: March 26, 2020, 2:56 AM IST
COVID-19: अपनी नेतागिरी के चक्‍कर में BJP पार्षद ने कुछ यूं उड़ाया ‘लॉक-डाउन’ की अपील का मजाक
पार्षद के कार्यालय में लॉक-डाउन की यूं उड़ रहा है मजाक.

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने मंगलवार को अपील की थी कि एक दूसरे से दूरी बनाने के लिए सभी लोग अपने घरों में रहें, वहीं बीजेपी पार्षद विनोद सैनी (BJP councilor Vinod Saini) ने अपनी राजनीति चमकाने के लिए अपने कार्यालय में लोगों की भीड़ जमा कर रखी थी.

  • Share this:
बरेली (Bareilly) : कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने 21 दिन का लॉक डाउन (Lock Down) घोषित किया है. प्रधानमंत्री की घोषणा के अनुसार 25 मार्च से 14 अप्रैल के बीच पूरा देश लॉक डाउन रहेगा. इस घोषणा के दौरान, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाथ जोड़कर पूरे देश से अपील की थी कि इन 21 दिनों तक वह अपने घर में ही रहें. सोशल डिस्‍टेंसिंग के जरिए ही हम कोरोना नामक महामारी से जीत से सकते हैं. प्रधानमंत्री मोदी की इस अपील का बुधवार को देश में व्‍यापक असर देखने को मिला. हालांकि इस दौरान, भाजपा के एक पार्षद ऐसे भी थे, जिन्‍होंने प्रधानमंत्री की अपील का मजाक बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील का मजाक उड़ाने वाले इन पार्षद का नाम विनोद सैनी है. विनोद उत्‍तर प्रदेश के बरेली शहर से पार्षद हैं. प्रधानमंत्री ने मंगलवार को अपील की थी कि एक दूसरे से दूरी बनाने के लिए सभी लोग अपने घरों में रहें, वहीं बीजेपी पार्षद विनोद सैनी ने अपनी राजनीति चमकाने के लिए अपने कार्यालय में लोगों की भीड़ जमा कर रखी थी. यहां चौंकाने वाली बात यह भी है कि लोगों की इस भीड़ को देखकर न ही बीजेपी पार्षद को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील याद आई और न ही पुलिस-प्रशासन ने इस भीड़ को हटाने के लिए कोई जहमत उठानी चा‍ही. चूंकि मामला सत्‍ता में काबिज दल के पार्षद का था, लिहाजा पार्षद के कार्यालय में जुटी इस भीड़ को लेकर पुलिस प्रशासन भी पूरी तरह से मूक और बिधर बना रहा.

फार्म भरवाने के लिए बुलाई गई थी भीड़
दरअसल, सरकार की तरफ से यह घोषणा की गई थी कि लॉक डाउन के दौरान मजदूरों के बैंक एकाउंट में एक हजार रुपये भेजे जाएंगे, जिससे उनको भोजन की दिक्कत न हो. इस घोषणा के साथ सिलकापुर वार्ड 64 में यह खबर फैला दी गई कि एक हजार रुपए के लिए भाजपा पार्षद विनोद सैनी के कार्यालय में फार्म भरे जाएंगे. फिर क्‍या था, जिसको- जिसको पता चलता गया वह पार्षद के दफ्तर पहुंचता गया. देखते ही देखते पार्षद के कार्यालय के बाद लोगों का मजमा लग गया. लोग के बीच एक हजार रुपए का लालच इतना बड़ा था कि वे करोना के संक्रमण का खौफ छोड़ एक दूसरे से धक्‍के बाजी करने लगे. वहीं, जिस छोटे से कमरे में फार्म भरे जा रहे थे, वहां भी दस-दस लोग मौजूद थे.



अपनी वाह-वाही के चक्‍कर में भूल गए सोशल डिस्‍टेंसिंग


सरकार की तरफ से मिलने वाले एक हजार रुपए के लिए फार्म भाजपा पार्षद द्वारा भरवाए जा रहे थे, लिहाजा वार्ड में उनकी वाह-वाही तो पक्‍की थी. अपनी इस वाह-वाही के चक्‍कर में भाजपा पार्षद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोशल डिस्‍टेंसिंग वाली बात को पूरी तरह से भूल गए. उन्‍हें एक बार भी ख्‍याल नहीं आया कि बिना मास्‍क के एक दूसरे से सटे लोग कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलाने में सहायक बन सकते हैं. यह गैरजिम्‍मेदाराना हालात तब हैं, जब बरेली में बीते दिनों दो दर्जन से अधिक लोगों के कोरोना वायरस के चपेट में आने का संदेह सामने आ चुका है. वहीं, इस पूरे मामले में पुलिस-प्रशासन की भूमिका भी बेहद निराशाजनक है.

पार्षद ने लोगों की गरीबी को बनाया ढाल
वहीं, बीजेपी पार्षद विनोद सैनी का इस पूरे मामले में अलग पक्ष है. उन्‍होने इस पूरे प्रकरण में लोगों की गरीबी को अपनी ढाल बना ली है. उन्‍होंने कहा है कि सिकलापुर की जनता काफी गरीब है और उसके लिए ये फॉर्म भरे जा रहे है. उनकी कोशिश सिर्फ इतनी है कि सभी गरीबों को 1 हजार रुपये मिलें जाएं.

यह भी पढ़ें: 

COVID-19: लॉक डाउन सफल बनाने के लिए चप्पे-चप्पे पर तैनात हुई पुलिस, घर तक सीमित हुए लोग
COVID-19: यूपी 112 पर फोन कर 17 लोगों ने खुद को बताया कोरोना संदिग्ध

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बरेली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 26, 2020, 2:56 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading