धार्मिक प्रचार के लिए कानपुर पहुंचे तबलीगी जमात के 8 विदेशी जमातियों पर दर्ज हुआ मुकदमा
Lucknow News in Hindi

धार्मिक प्रचार के लिए कानपुर पहुंचे तबलीगी जमात के 8 विदेशी जमातियों पर दर्ज हुआ मुकदमा
लोग अभी भी दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में होम क्वारंटीन पर रह रहे हैं.

दिल्ली (Delhi) के तबलीगी जलसे (Tabligi procession) में शामिल आठ विदेशी (foreigners) कानपुर इस्लाम के प्रचार प्रसार के लिए आये हैं, बाबूपुरवा (Babupurava) इलाके से पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.

  • Share this:
कानपुर. दिल्ली के निजामुद्दीन (Nizamuddin) इलाके आयोजित हुई तबलीगी जमात (Tabligi Jamaat) में शामिल हुए आठ विदेशी (foreigners) कानपुर पहुंच गए हैं. जानकारी पर पुलिस ने सभी को हिरासत में ले लिया और स्वास्थ्य परीक्षण के लिए जिला अस्पताल उर्सला (Ursala Hospital) भेजा है. यहां पर अगर यह लोग कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए जाते हैं तो हैलट अस्पताल भेजा जाएगा. वहीं, निगेटिव पाये जाने पर इन्‍हें नरैना संस्थान में 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन (Quarantine) में रखा जाएगा. फिलहाल सभी के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है.

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए देश में लागू किए गए लॉकडाउन के बीच बीते दिनों तेलंगाना से आई एक खबर से हड़कंप मच गया था. वहां छह लोगों की मौत हो गई थी. पड़ताल में पता चला था कि ये सभी दिल्ली में हुए एक बड़े धार्मिक जलसे में शामिल होने के बाद घर लौटे थे. यह जलसा तबलीगी जमात की तरफ से दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित मरकज में आयोजित किया गया था. इसके बाद से पूरे देश में हड़कंप मचा हुआ है और हर जनपद का जिला प्रशासन सूची एकत्र कर रहा है कि जनपद से कितने लोग तबलीगी जमात में शामिल हुए हैं.

बाबूपुरवा इलाके से हिरासत में लिए गए आठ जमाती
कानपुर जिला प्रशासन भी ऐसे लोगों की सूची बना ही रहा था. जांच के दौरान, पुलिस को पता चला कि दिल्ली के तबलीगी जलसे में शामिल आठ विदेशी कानपुर इस्लाम के प्रचार प्रसार के लिए आये हैं. हरकत में आयी पुलिस ने बाबूपुरवा थानाक्षेत्र के इलाके से आठ विदेशियों को गुरुवार हिरासत में ले लिया. इसके साथ ही सभी के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कर लिया. पुलिस ने सभी को स्वास्थ्य परीक्षण के लिए जिला अस्पताल उर्सला भेजा है.



हिरासत में लिए गए सभी विदेशियों का हुआ मेडिकल चेकअप


मुख्य चिकित्साधिकारी डा. अशोक कुमार शुक्ला ने बताया कि अभी सभी का परीक्षण जिला अस्पताल में चल रहा है, अगर कोरोना से संक्रमित पाये गये तो हैलट अस्पताल में बने आईडीएच वार्ड में इलाज के लिए भर्ती कराया जाएगा. अगर संक्रमित नहीं पाये गये तो पनकी थानाक्षेत्र के नरैना इंस्टीट्यूट में बने क्वारंटाइन सेंटर में 14 दिनों के लिए रखा जाएगा. इसके बाद ही इन्हें छोड़ा जाएगा और आगे पुलिस कार्रवाई करेगी.

यह भी पढ़ें:

मऊ: तबलीगी जमात में शामिल 114 जमातियों और शरणदाताओं पर एफआईआर

COVID-19: लॉकडाउन के दौरान ड्रोन कैमरे से निगरानी रख रही नोएडा पुलिस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading