• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • कोरोना ने बदली परंपरा, यहां सावन में महादेव को लग रहा मास्क का भोग, मंदिर का प्रसाद भी खास

कोरोना ने बदली परंपरा, यहां सावन में महादेव को लग रहा मास्क का भोग, मंदिर का प्रसाद भी खास

मंदिर में आने वाले लोगों को जागरुक भी किया जा रहा है.

मंदिर में आने वाले लोगों को जागरुक भी किया जा रहा है.

Corona Effect: वाराणसी (Varanasi) में कोरोना खतरनाक स्तर पर है. बावजूद इसके लोगों में लापरवाही देखने को मिल रही है. ऐसे में मास्क (Mask) को अब प्रसाद के रूप में चढ़ावे के तौर पर अनिवार्य किया गया है. जिस मंदिर से इसकी शुरुआत हुआ है वो मंदिर वाराणसी के मिसिरपोखरा स्थित महादेव की प्राचीन मंदिर है.

  • Share this:
वाराणसी. धर्म नगरी वाराणसी (Varanasi) में जब आस्था पर बात आती है तो यहां के लोग इसे गंभीरता से लेते हैं. इसी का फायदा उठाते हुए लोगों को कोविड-19 (COVID-19) के वायरस से बचाने के लिए अब मंदिरों में मास्क प्रसाद के रूप में वितरण किया जाएगा और मास्क का भी भोग महादेव (Mahadev) को चढ़ाया जाएगा. दरअसल, वाराणसी में कोरोना खतरनाक स्तर पर है. बावजूद इसके लोगों में लापरवाही देखने को मिल रही है. ऐसे में मास्क (Mask) को अब प्रसाद के रूप में चढ़ावे के तौर पर अनिवार्य किया गया है. जिस मंदिर से इसकी शुरुआत हुआ है वो मंदिर वाराणसी के मिसिरपोखरा स्थित महादेव की प्राचीन मंदिर है जहां सावन माह में आज के दिन से ये व्यवस्था रखी गई है. इस मंदिर में प्रसाद के तौर पर अब मास्क वितरण किया जा रहा है. यहीं नहीं चढ़ावे में भी अब मास्क चढ़ाने का नियम लगाया गया है, ताकि जो लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं उन्हें प्रसाद के रूप में मास्क दिया जाए.

मंदिर में मास्क का चढ़ावा

वहीं महादेव मंदिर में इस खास तरह के नियम की शुरुआत होने के बाद इसकी चर्चा जोरों पर है. मंदिर में महादेव के दर्शन करने को आने वाले लोग अब इस मंदिर में मास्क का चढ़ावा चढ़ा रहे हैं. वहीं जो लोग मास्क नहीं पहन कर आ रहे हैं उन्हें प्रसाद के रूप में एक मास्क दिया जा रहा है. इसके साथ ही ये हिदायत भी दी जा रही है कि वो बिना मास्क लगाए घर से न निकलें.

लोगों को मास्क पहनने जागरुक भी किया जा रहा है.


ये भी पढ़ें: Rajasthan Political Crisis: सीएम गहलोत से मिले धर्मगुरु गाजी फकारी, फेयरमाउंट में विधायकों से भी चर्चा! 

लगातार बढ़ रहे मामले 

बनारस में कोरोना ने अपना पैर पूरी तरह से फैला लिया है. वायरल की चेन को तोड़ने के लिए लगातार प्रशासन की तरफ से मास्क लगाने की कड़ाई की जा रही है, लेकिन लापरवाही उसके बाद भी देखी जा रही है. ऐसे में इस मंदिर में मास्क को अब आस्था से जोड़ दिया गया है, ताकि लोग इसे गंभीरता से ले और कोरोना से लड़ाई में जीत हासिल करें.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज