लॉकडाउन के बीच पटरी पर लौटती जिंदगी, 57 औद्योगिक इकाइयों को मिली उत्‍पादन शुरू करने की इजाजत

औद्योगिक विकास की प्रकिया को एक बार फिर पटरी में लाने की कवायद शुरू हो गई है. (फाइल फोटो)

औद्योगिक विकास की प्रकिया को एक बार फिर पटरी में लाने की कवायद शुरू हो गई है. (फाइल फोटो)

प्राधिकरण को 5 मई की शाम 5 बजे तक कुल 152 औद्योगिक इकाइयों (Industrial Units) का ऑनलाइन आवेदन मिला था. इन सभी आवेदनों का शत-प्रतिशत निस्‍तारण कर दिया गया है. 88 आवेदनों को निरस्‍त कर‍ दया गया है. खारिज किए गए आवेदन सरकार द्वारा निर्धारित गाइडलाइन पूरा करने में असमर्थ पाए गए थे.

  • Share this:

नोएडा. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से अपनी जंग जारी रखते हुए ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण (Greater Noida Industrial Development Authority) ने आम जनजीवन को दोबारा पटरी में लाने की कवायद शुरू कर दी है. इस कवायद की पहली शुरुआत ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली औद्योगिक इकाइयों को उत्‍पादन शुरू करने की अनुमति देकर की गई है. मंगलवार को ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण की तरफ से कुल 57 औद्योगिक इकाइयों को अपना उत्‍पादन कार्य शुरू करने की अनुमति प्रदान की गई है. जल्‍द ही, ये 57 औद्योगिक इकाइयां अपना उत्‍पादन शुरू कर देंगी.

नोएडा प्राधिकरण को मिले थे 152 औद्योगिक इकाइयों के आवेदन

प्राधिकरण के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, लॉकडाउन 3.0 में औद्योगिक इकाइयों को उत्‍पादन शुरू करने के लिए सशर्त छूट देने का प्रावधान किया गया है. ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के आर्थिक विकास की प्रकिया को पुन: प्रारंभ करने के लिए प्राधिकरण ने कंपनियों से ऑनलाइन आवेदन मांगे थे. 5 मई की शाम 5 बजे तक प्राधिकरण को कुल 152 औद्योगिक इकाइयों के ऑनलाइन आवेदन मिले थे. इन सभी आवेदनों का शत-प्रतिशत निस्‍तारण कर दिया गया है. प्राधिकरण ने इन 152 औद्योगिक इकाइयों में से सभी शर्तों को पूरा करने वाले 57 इकाइयों को उत्‍पादन शुरू करने की इजाजत दे दी है, जबकि 88 आवेदनों को निरस्‍त कर‍ दया गया है. खारिज किए गए आवेदन सरकार द्वारा निर्धारित गाइडलाइन पूरा करने में असमर्थ पाए गए थे.

डेवलपमेंट कमिश्‍नर करेंगे 7 आवेदनों का निस्‍तारण
उन्‍होंने बताया कि ईओयू, एसआईजेड और आईटीआईटीईएस कैटैगरी के अंतर्गत 7 आवेदन मिले थे. जिनका निस्‍तारण नोएडा स्‍पेशल इकोनॉमिक जोन के डेवलपमेंट कमिश्‍नर करेंगे. इन सातों आवेदनों को अगली कार्रवाई के लिए नोएडा स्‍पेशल इकोनॉमिक जोन के डिप्‍टी कमिश्‍नर को भेज दिया गया है. उन्‍होंने बताया कि सरकार द्वारा निर्धारित मानकों को पूरा करते हुए नोएडा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली इकाइयां उत्‍पादन शुरू करने के लिए आवेदन कर सकती हैं. सभी औद्योगिक इकाइयों के आवेदन ऑनलाइन लिए जा रहे हैं. उन्‍होंने बताया कि प्राधिकरण की कोशिश है कि कोरोना वायरस के संक्रमण के खिलाफ जारी जंग को जारी रखते हुए जल्‍द से जल्‍द औद्योगिक विकास की प्रकिया को एक बार फिर से सफलतापूर्णक शुरू कर दिया जाए.



यह भी पढ़ें: 

ITBP में कोरोनो संक्र‍मण के 24 नए मामले आए सामने, COVID-19 संक्रमित जवानों की संख्‍या हुई 45

दिल्ली: जानिए अलग-अलग ब्रांड की शराब अब होगी कितनी महंगी, 70% है कोरोना टैक्स

 

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज