COVID-19: अमेठी में कोरोना वारियर्स बनकर सामने आईं महिलाएं, बना रहीं खादी के मास्क
Amethi News in Hindi

COVID-19: अमेठी में कोरोना वारियर्स बनकर सामने आईं महिलाएं, बना रहीं खादी के मास्क
ग्रामीण महिलाओं द्वारा बनाए जा रहे मास्‍क को पुलिस कर्मियों को उपलब्‍ध कराया जा रहा है.

कोविड 19 (COVID-19) से निपटने के लिए गौरीगंज (Gauriganj) ब्लाक के गुरुड गांव से लेकर भादर ब्लाक के भावापुर गांव तक 14 स्वयं सहायता समूह की महिलाएं मास्‍क (Mask) बनाने का काम कर रही हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
अमेठी. उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का अमेठी (Amethi) जिला अभी तक कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से सुरक्षित है. जिले में कोरोना का कहर न पहुंच पाए, इसके लिए प्रशासन के साथ-साथ स्‍थानीय नागरकि भी बढ़ चढ़ कर प्रयास कर रहे हैं. अमेठी के इन्‍हीं कोरोना वारियर्स में एक महिलाओं के स्‍वयं सहायता समूह भी शामिल है. अमेठी में महिलाओं के 14 ऐसे स्‍वयं सहायता समूह हैं, जो खादी के मास्‍क बनाकर जरूरतमंद लोगों को उपलब्‍ध कराएंगी. इस लक्ष्‍य को पूरा करने के लिए उन्‍हें करीब 44 मीटर कपड़ा जिला प्रशासन द्वारा उपलब्‍ध कराया गया है.

उल्‍लेखनीय है कि अमेठी जिला अब तक कोरोना जीरो डिस्ट्रिक्ट की श्रेणी में है. यह श्रेणी बरकरार रहे इसके लिए यहां के डीएम और एसपी हर संभव प्रयास कर रहे हैं. फिलहाल, लोगों की सुरक्षा के लिए सरकार की तरफ से पर्याप्‍त संख्‍या में मास्‍क उपलब्‍ध कराए गए हैं. लेकिन, आपातकालीन स्थिति में व्यवस्था बनाए रखने के लिए स्वयं सहायता समूह की महिलाओं की मदद से खादी के कपड़े का मास्क बनवाया जा रहा है. गौरीगंज विकासखंड के गुडुर गांव पंचायत से लेकर भादर विकासखंड के भावापुर गांव तक स्‍वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाएं मास्‍क बनाने का काम कर रही हैं.

कपड़े की उपलब्‍धता सुनिश्चित कराएगा प्रशासन
प्रशासन यह सुनिश्चित कर रहा है कि कोविड 19 से निपटने के लिए महिलाएं जिन मास्क को बना रही हैं, उसके लिए कपड़े की आपूर्ति बनी रहे. कपड़े की आपूर्ति बनाए रखने की जिम्‍मेदारी जगदीशपुर विकासखंड की ब्‍लॉक डेवेलपमेंट ऑफिसर प्रीति वर्मा को दी गई है. दोनों गांव पंचायतों में मास्क बना रही महिलाओं को पर्याप्त संख्या में कपड़े और मास्क निर्मित करने के लिए संबंधित जरूरी वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित करना भी ब्‍लॉक डेवेलपमेंट ऑफिसर की जिम्‍मेदारी है.



समय-समय पर डीएम करेंगे निरीक्षण


गांव में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं द्वारा मास्क बनाएं जाने को लेकर जिलाधिकारी अरुण  कुमार ने कहा कि गौरीगंज में 14 महिलाओं के समूह द्वारा खादी के कपड़े का मास्क बनाए जा रहे हैं. इसके लिए जनपद में टीम बनाई गई है और लगातार ऐसे स्थलों का निरीक्षण किया जा रहा है. ग्रामीण महिलाएं खादी का कपड़ा लेकर मास्क बनाने का काम तेजी से कर रही हैं. इनके द्वारा बनाए गए मास्को को पुलिस विभाग और अन्य लोगों को वितरित कराया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:

COVID-19: ग्रेटर नोएडा में क्‍वारंटाइन किए गए युवक ने 7वीं मंजिल से लगाई छलांग, मौत
First published: April 13, 2020, 12:20 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading