लाइव टीवी

राजधानी में जरूरतमंदों को खाना खिलाएगा अक्षय पात्र, 1 लाख भूखों का भरेगा पेट
Lucknow News in Hindi

MANISH KUMAR | News18 Uttar Pradesh
Updated: March 30, 2020, 10:06 PM IST
राजधानी में जरूरतमंदों को खाना खिलाएगा अक्षय पात्र, 1 लाख भूखों का भरेगा पेट
अक्षय पात्र के जरिए पहले दिन 3500 लोगों तक खाना पहुंचाया गया है.

इंडस्ट्रियल एरिया में बनी अक्षय पात्र (Akshaya Patra) की सेंट्रल किचन में हजारों लोगों का खाना (Food) तैयार होना शुरू हो गया है.

  • Share this:
लखनऊ: राजधानी लखनऊ (Lucknow) में जरूरतमंदों को खाना खिलाने के लिए अक्षय पात्र फाउंडेशन (Akshaya Patra Foundation) सामने आया है. इंडस्ट्रियल एरिया में बनी अक्षय पात्र की सेंट्रल किचन में हजारों लोगों का खाना तैयार होना शुरू हो गया है. इस खाने को मलिन बस्तियों और बाहर से आकर रुके लोगों के बीच में बांटना शुरू कर दिया गया है. लखनऊ के कमिश्नर मुकेश मेश्राम (Mukesh Meshram) ने अक्षय पात्र के पदाधिकारियों से कहा था कि इस समय जबकि स्कूल बंद है और मिड डे मील (Mid-day Meal) बनाने और बांटने का जिम्मा अक्षय पात्र फाउंडेशन पर नहीं है, ऐसे में उन्हें अपनी सेवाएं जरूरतमंद दूसरे लोगों तक खाना पहुंचाने में देनी चाहिए.  संस्था ने इस पर तेजी से काम शुरू किया और सोमवार से खाना बनना और बंटना शुरू हो गया है.

पहले दिन 3500 लोगों को पहुंचाया खाना
सोमवार की शाम को संस्था ने लगभग साढे 3 हजार लोगों के लिए पुलाव बनवाया और इसे बंटवाया. आज सोमवार की शाम जिन इलाकों में खाना बांटा गया है वह पारा के आसपास की बस्तियां हैं जहां बड़ी संख्या में छत्तीसगढ़ के श्रमिक रुके हुए हैं. नगर आयुक्त इंद्रमणि त्रिपाठी ने बताया कि हर रोज अक्षय पात्र को रूट प्लान दे दिया जाएगा कि उन्हें कहां पर खाना बांटा जाना है. यह डाटा हम कंट्रोल रूम में मिलने वाली जानकारी के आधार पर तैयार कर रहे हैं कि किस इलाके में लोगों की ज्यादा जरूरत है. ध्यान इस बात का रखा जा रहा है कि सड़कों के किनारे, झुग्गियों में और पुलों के नीचे रहने वाले लोगों तक हमारी पहुंच हो सके और उन्हें भरपेट भोजन दोनों टाइम मिल सके.

20 रुपये प्रति व्यक्ति के हिसाब से आ रहा चार्ज



अक्षय पात्र फाउंडेशन गरीब लोगों को जो खाना पहुंचा रहा है उसके एवज में जिला प्रशासन उसे ₹20 प्रति व्यक्ति के हिसाब से पेमेंट करेगा. नगर आयुक्त ने बताया कि उनके पास बड़ी मात्रा में डोनेट किया हुआ अनाज भी है और जो स्वयंसेवी संस्थाएं लोगों को खाना खिलाने में दिलचस्पी दिखा रही हैं उनको इस बात के लिए मोटिवेट किया जा रहा है खाना खिलाने के बजाय वह उसका पैसा ही जिला प्रशासन को दें क्योंकि अक्षय पात्र में बना हुआ खाना ज्यादा हाइजीनिक है और सिस्टमैटिक ढंग से उसे वितरित भी किया जा सकता है.



कोरोना के आफत के बीच कर्मियों को बुलाना बड़ी चुनौती
एक तरफ लॉक डाउन में किसी को भी घर से निकलने की मनाही है ऐसे में अक्षय पात्र फाउंडेशन के लिए अपने कर्मचारियों को वापस काम पर बुलाना भी किसी चुनौती से कम नहीं था. फाउंडेशन के एजीएम गवर्नमेंट रिलेशंस अनूप चतुर्वेदी ने बताया कि फिलहाल 30 कर्मचारियों को काम पर बुलाया गया है. धीरे-धीरे यह संख्या बढ़ाई जा रही है. उन्होंने बताया कि हर रोज लगभग 1 लाख लोगों का खाना तैयार करने की क्षमता उनके सेंट्रल किचन में है. हर रोज बढ़ाई जाने वाली कैपेसिटी के कारण वह अगले 3 से 4 दिनों में 50 से 75 हजार तक लोगों का खाना तैयार कर सकेंगे और उन्हें बटवा सकेंगे. इसमें हाइजीन का विशेष ध्यान रखा जा रहा है. खाने के बर्तन के साथ-साथ गाड़ियों को भी हर चक्कर के बाद सैनिटाइज किया जाएगा. कर्मचारियों के स्वास्थ्य परीक्षण के बाद ही उन्हें फील्ड में भेजा जा रहा है और लौटने के बाद भी उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा.

क्या है अक्षयपात्र
अक्षय पात्र फाउंडेशन देशभर में स्कूलों में मिड डे मील पहुंचाने का काम करता है. यूपी में 3 जिलों में स्कूलों में मिड-डे-मील पहुंचाता है, मथुरा-वृंदावन, लखनऊ और गोरखपुर. वाराणसी में फाउंडेशन की सेंट्रल किचन अभी बनकर तैयार होने वाली है. फुली ऑटोमेटिक मशीनों के जरिए खाना तैयार किया जाता है और उन्हें बहुत हाइजीनिक व्यवस्था के तहत बच्चों तक पहुंचाया जाता है. इन दिनों स्कूलों में बंदी होने के कारण अक्षय पात्र की किचन बंद थी. लिहाजा लखनऊ जिला प्रशासन ने इसके उपयोग की संभावना देखी और इसे अमल में लाया.

यह भी पढ़ें: 

COVID-19: लॉक डाउन तोड़ने वाले 5561 लोगों पर FIR, 2.96 करोड़ रुपए का वसूला गया जुर्माना
COVID-19: सीएम योगी ने 20 राज्यों के मुख्यमंत्रियों को लिखा पत्र, राज्यों से आपसी सहयोग की अपील

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 30, 2020, 10:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading