अंगूठे का क्लोन बनाकर बैंक खातों से 30 लाख रुपये निकालने वाला सीएसपी संचालक गिरफ्तार

पुसिल की गिरफ्त में खड़ा सीएसपी संचालक.
पुसिल की गिरफ्त में खड़ा सीएसपी संचालक.

जिले की साइबर सेल (Cyber ​​cell) और स्थानीय पुलिस (Police) ने एक ऐसे सीएसपी संचालक(CMP Operator) को गिरफ्तार किया है, जो लोगों के अंगूठे का क्लोन (clone) बनाकर लाखों रुपये उनके खाते से निकाल लेता था. आरोपी अब तक लोगों के खाते से 30 लाख रुपये निकाल चुका है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2020, 7:03 PM IST
  • Share this:
मऊ. जिले की साइबर सेल (Cyber ​​cell) और थाना घोसी पुलिस (Ghosi Police) को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर साइबर सेल और थाना घोसी पुलिस ने एक शातिर सीएसपी(CSP Operator) संचालाक को गिरफ्तार किया है. आरोपी बुद्धिराम यादव पुत्र पतिराम यादव निवासी मिश्रौली (रामनिधी) थाना घोसी जनपद मऊ के कब्जे से एक लैपटाप, चार थंब स्कैनर मशीन, एक रजिस्टर, एक प्रिंटर, 42 नया पासबुक, 7 पुराना पासबुक, 50 नये एटीएम मय बंद लिफाफा, एक स्वैप मशीन, चार आधार कार्ड, एक मोबाईल, पांच मुहर, एक अदद हुंडईआई- 20 कार यूपी 54 एएच 5627 बरामद किया है. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ 824/20 धारा 419/420/467 /468/ 120बी/406 आईपीसी के तरह केस दर्ज किया है.

पुलिस अधीक्षक सुशील घुले ने बताया कि पूंछताछ के दौरान अभियुक्त ने बताया कि खाता धारक प्रवीण के अंगूठे के निशान का क्लोन बनाकर आरोपी ने प्रवीण के खाते से बीस-बीस हजार रुपये कई बार निकाले. आरोपी ने कुबूला कि उसने 15 लाख रुपया निकाले हैं. आरोपी ने बताया कि सऊद अरब में प्रवीण रहता है. वह वहीं जा रहा है ऐसे में यह सिम वहां नहीं चलेगी. इससे खाते से पैसे निकलने के बारे में उसे पता भी नहीं चलेगा. आरोपी ने बताया कि प्रवीण यादव के रुपयों से उसने एक बुलेट मोटर साइकिल और हुण्डई आई- 20 कार यूपी 54 एएच 5627 खरीदी थी.

CM योगी की भाजपा कार्यकर्ताओं को हिदायत, दंगों के सरपरस्तों से रहें 'सावधान'



पीड़ित प्रवीण कुमार यादव पुत्र राम अवध यादव सा. मिश्रौली (रामनिधी) थाना घोसी जनपद मऊ ने विदेश में रहते हुए अपने खाते में 14 लाख 83 हजार 889 रुपये को भेजा, जिसको फर्जी तरीके से सीएसपी संचालक और एसबीआई ब्रान्च मैनेजर नदवल खास ने मिलकर खाते से निकाल लिए. पीड़ित प्रवीण यादव मे पुलिस में यही शिकायत दी थी. जिस पर पुलिस ने मुकदमा संख्या  824/20 धारा 419/420/467/468/120बी/406 आईपीसी एक्ट के केस दर्ज कर लिया है.
मामले की जांच को पुलिस अधीक्षक द्वारा साइबर सेल को सौंपा गया, जिसके बाद पूरे मामले का खुलासा हुआ है. साइबर सेल ने बैंक से जानकारी मांगी तो पता चला कि पीड़ित के बैंक खाते से 20-20 हजार रुपये का ई-पेमेंट आधार और अंगूठा लगाकर किया गया है. बैंक से मिली जानकारी के आधार पर पुलिस ने अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया. जांच में सामने आया कि पीड़ित को खाते से 14 लाख 83 हजार 889 रुपयों के फ्रॉड के साथ 08 लाख चेक से फ्राड और अन्य लोगों के खाते से लगभग 06 लाख 50 हजार रुपये की धोखाधड़ी की गई थी. इस तरह से सीएसपी संचालक ने कुल 30 लाख रुपये की धोखाधड़ी की थी. अभी मामले की जांच चल रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज