अपना शहर चुनें

States

Noida: किडनेपिंग मामले में साइबर थाने के फरार सब इंस्पेक्टर समेत 5 सिपाही सस्पेंड

नोएडा साइबर थाने के 5 सिपाही और एक सब इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया गया है. (सांकेतिक) तस्वीर
नोएडा साइबर थाने के 5 सिपाही और एक सब इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया गया है. (सांकेतिक) तस्वीर

पुलिस के मुताबिक यह थाना सीधे लखनऊ (Lucknow) से ऑपरेट होता है. फरार पुलिसकर्मियों की तलाश में छापेमारी की जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 17, 2021, 10:00 AM IST
  • Share this:
नोएडा. एक कंपनी के तीन कर्मचारियों के अपहरण मामले में गौतम बुद्ध नगर (Gauttam budh nagar) के पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने 5 सिपाहियों समेत एक सब इंस्पेक्टर (Sub Inspector) को सस्पेंड कर दिया है. एक सिपाही पहले ही गिरफ्तार हो चुका है. वहीं चार सिपाहियों समेत सब इंस्पेक्टर अभी फरार चल रहा है. यह सभी लोग साइबर थाना (Cyber Police Station) नोएडा के हैं.

गौरतलब रहे फेज-3 थाने में दर्ज शिकायत में आरोप लगाया गया है कि कंपनी के 3 लोगों को छोड़ने के एवज में कथित तौर पर इस टीम ने 7 लाख रुपए की रंगदारी मांगी. पीड़ित शख्स ने अपनी शिकायत में कहा है कि मान-मनौव्वल के बाद 5 लाख रुपए में सौदा तय हुआ. पुलिसवालों को 2 लाख रुपए देकर कंपनी के तीनों लोगों को उसी दिन छुड़ा लिया गया, बाकी के पैसे बाद में देने की बात तय हुई.

तहरीर देने वाले ने कॉन्स्टेबल सहित अन्य पुलिसवालों पर आरोप लगाया है कि उन्होंने पीड़ित को धमकाया कि अगर बाकी के पैसे जल्द से जल्द नहीं दिए गए तो कंपनी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.



बिना किसी मंजूरी के ग्रेटर नोएडा में चल रहा था कोरोना वैक्सीन का ट्रायल
ऐसे खुलासा हुआ किडनेपिंग मामले में पुलिसकर्मियों का

आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने बाकी पैसे लेकर पीड़ित को 14 फरवरी को नोएडा स्टेडियम पर बुलाया, जिसके बाद पीड़ितों ने सेक्टर 12/22 चौकी को मामले की सूचना दी. इसके बाद नोएडा पुलिस सक्रिय हुई और पैसे लेने आए दोनों व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार व्यापारियों की पहचान साइबर सेल में तैनात कॉन्स्टेबल नितिन चौधरी और मोदीनगर निवासी सोनू के रूप में हुई है. सेंट्रल नोएडा के डीसीपी हरीश चंद्र ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों ने कबूल किया है कि उस दिन नितिन के साथ साइबर थाना नोएडा के सब इंस्पेक्टर सहित 5 अन्य पुलिसवाले भी कंपनी में गए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज