अपना शहर चुनें

States

मिर्जापुर: जंगल में बेर खाने निकले एक ही परिवार के तीन बच्चों की मिली लाश, हत्या का शक

परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है.
परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है.

उत्तर प्रदेश के मिर्ज़ापुर (Mirzapur) में  एक ही परिवार के तीन बच्चों की लाश मिली है. परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया है. पुलिस मामले की जांच  कर रही है.

  • Share this:
मिर्जापुर. उत्तर प्रदेश के मिर्ज़ापुर (Mirzapur) में तीन बच्चों की लाश मिलने से सनसनी फैल गई. कुशियरा जंगल में स्थित एक बंधी में तीन बच्चों का शव  मिला. तीनों बच्चे एक ही परिवार के है. लालगंज के बामी ग़ांव के रहने वाले तीन बच्चे हरिओम(14) सुधांशु(14),शिवम(14) वर्ष घर से कल 1 दिसंबर 2020 को दोपहर घर के पास स्थित कुशियरा जंगल में बेर खाने के लिए निकले थे. मगर शाम तक  घर वापस नहीं लौटे. परिजनों ने पहले बच्चों की जंगल में तलाश की.मगर बच्चों का कही कोई पता नहीं चलने के बाद उन्होंने बुधवार दोपहर में लालगंज थाने में सूचना दी.

पुलिस ने गुमशुदगी का मुकदमा दर्ज कर बच्चों की तलाश कर रही थी. इस बीच बुधवार को स्थानीय लोगों ने तीनों बच्चों का शव कामापुर लोहरिया बंधा में देखा और इसकी सूचना पुलिस को दी.मौके पर पहंची पुलिस ने शव को बंधे से निकलवा कर पोस्टमार्टम के लिए ले जाना चाहा. मगर परिजनों ने शव को लालगंज थाना क्षेत्र के लहंगपुर में रख कर चक्काजाम कर दिया. परिजन बच्चों के आंख पर लगे चोट के कारण हत्या की आशंका व्यक्त कर रहे है. वहीं पुलिस मामले में जांच कर कार्रवाई करने की बात कह रही है.

ये भी पढ़ें: Farmer Protest: जेपी दलाल बोले- संयम से काम लें किसान, कराची या लाहौर नहीं ये दिल्ली है



कोर्ट ने सुनाई सजा
फिरोजाबाद  के थाना सिरसागंज क्षेत्र के ग्राम चंद्रपुरा में 8 साल की नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म और फिर उसकी गला दबाकर हत्या के मामले में पॉक्सो कोर्ट  ने आरोपी चचेरे भाई को फांसी की सजा  सुनाई. करीब 20 महीने पहले हुए इस जघन्य हत्याकांड में अभियोजन पक्ष की तरफ से की गई सटीक पैरवी के बाद पीड़ित परिवार को न्याय मिला है. पीड़ित परिवार ने सजा के बाद संतोष जाहिर करते हुए कहा कि फैसले से दोबारा किसी को ऐसा अपराध करने की हिम्मत नहीं करनी चाहिए.

ये है पूरा मामला
फिरोजबाद के सिरसागंज थाना क्षेत्र के चंद्रपुरा गांव में 17 मार्च 2019 को 8 साल की नाबालिग के घर नामकरण का कार्यक्रम था. मृतका डीजे पर डांस कर रही थी. उसी दौरान चचेरे भाई शिव शंकर उर्फ़ बंटू ने उसे 10 रुपए का लालच देकर खेत में ले गया. जहां उसके साथ उसने दुष्कर्म किया और फिर गला दबाकर उसकी हत्या कर दी थी. बच्ची का शव दूसरे दिन सुबह खेत में मिला था. इसके बाद मृतका की मां की तहरीर पर सिरसागंज थाने में शिव शंकर उर्फ बंटू पुत्र अतर सिंह के ऊपर नामजद एफआईआर दर्ज की गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज