देवरिया: पढ़ने की जगह इस स्कूल में सफाई करते हैं बच्‍चे

ये पूरा मामला देवरिया शहर के राजेंद्र प्राथमिक विद्यालय का है,जहां पर पढ़ने आए बच्चे झाड़ू लगाते हुए नजर आए.जब इस मामले पर स्कूल के टीचर से बात की तो उनका जवाब हैरान करने वाला था. उनका कहना था कि बच्चे झाड़ू नही लगा रहे थे बल्‍कि बच्चे झाड़ू से खेल रहे थे.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 7, 2018, 2:02 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 7, 2018, 2:02 PM IST
यूपी के सरकारी स्‍कूलों में शिक्षा की क्‍या स्‍थिति है इस बात का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है. यहां के स्‍कूल में बच्‍चों के हाथों में कॉपी-किताब की जगह झाड़ू नजर आ रही है. यहांं के बच्‍चे क्‍लास में पढ़ाई की शुरूआत करने से पहले बैठने की जगह  खुद साफ कर रहे थे. यहां ऐसा नजारा अक्‍सर ही देखने को मिलता है. वहीं  जब इस बारे मेंं क्‍लास टीचर से बात की गई तो उन्‍होंने बड़ा ही चौकाने वाला जवाब दिया.

ये पूरा मामला देवरिया शहर के राजेंद्र प्राथमिक विद्यालय का है,जहां पर पढ़ने आए बच्चे झाड़ू लगाते हुए नजर आए. जब इस मामले पर स्कूल के टीचर से बात की तो उनका जवाब हैरान करने वाला था. उनका कहना था कि बच्चे झाड़ू नही लगा रहे थे बल्‍कि बच्चे झाड़ू से खेल रहे थे. वैसे ये कोई पहला मौका नहीं है, जब किसी प्राइमरी स्‍कूल में ऐसी तस्‍वीर दिखी हो.अक्‍सर ही इन स्‍कूलों में इस तरह की तस्‍वीरें सामने आती हैं,जिनमें बच्‍चे सफाई कर्मी नहीं होने या हड़ताल पर होने की वजह से कक्षाओं में साफ-सफाई करते हुए नजर आते हैं.

यह भी पढ़ें: बदहाल हालत में है द्वारीखाल का सरकारी स्कूल, टॉयलेट, पानी, बिजली से है महरूम 

यह भी पढ़ें: VIDEO: ड्यूटी टाइम पर टीचर नींद में मस्त, शिक्षा पस्त 

बता दें कि फिलहाल जिले में बेसिक शिक्षा विभाग की कुर्सी एक सप्ताह से खाली है. यहां के बीएसए का स्थानान्तरण हो गया था लेकिन अभी तक नए बेसिक शिक्षा अधिकारी ने जिले का चार्ज नही लिया है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर