Deoria news

देवरिया

अपना जिला चुनें

UP News: देवरिया में बोले सीएम योगी- 6 माह में यूपी के सभी 75 जिलों में होगा मेडिकल कॉलेज

देवरिया में बोले सीएम योगी- 6 माह में यूपी के सभी 75 जिलों में होगा मेडिकल कॉलेज (File photo)

देवरिया में बोले सीएम योगी- 6 माह में यूपी के सभी 75 जिलों में होगा मेडिकल कॉलेज (File photo)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोगों को विश्वस्तरीय चिकित्सा सुविधाएं मिलेंगी. कभी पूर्वांचल में बीआरडी मेडिकल कॉलेज ही चिकित्सा सेवा का एकमात्र बड़ा केंद्र था.

SHARE THIS:
देवरिया. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा कि अगले छह माह में प्रदेश के सभी 75 जिलों में मेडिकल कॉलेज होंगे. 1947 से 2016 तक उत्तर प्रदेश में सिर्फ 12 राजकीय मेडिकल कॉलेज से जबकि 2017 से 2021 के बीच महज साढ़े चार सालों में 32 नए राजकीय मेडिकल कॉलेज बनाए गए हैं. अबतक 59 जिलों को मेडिकल कॉलेज से आच्छादित कर दिया गया है. केंद्र सरकार के सहयोग और राज्य सरकार खुद के संसाधनों से प्रदेश में मेडिकल कॉलेजों की श्रृंखला खड़ी कर रही है. महराजगंज, संतकबीरनगर, मऊ, बलिया जैसे जो 16 जिले शेष हैं वहां यूपी सरकार केंद्र सरकार के सहयोग से पीपीपी मॉडल पर मेडिकल कॉलेज खोले जाएंगे. यह केंद्र व राज्य में समान विचारधारा की सरकार होने से संभव हो रहा है.

सीएम योगी शनिवार को महर्ष देवरहा बाबा मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण करने के बाद मीडियाकर्मियों से बात कर रहे थे. मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच-सात साल पहले यह कल्पना भी नहीं की जा सकती थी कि देवरिया में भी मेडिकल कॉलेज होगा. हम आभारी हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जिन्होंने प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना प्रारंभ किया और देवरिया में भी हमें मेडिकल कॉलेज खोलने का मिला. उन्होंने कहा कि देवरिया के मेडिकल कॉलेज की लागत 208 करोड रुपए है इसमें से 155 करोड़ रुपए खर्च कर लिए गए हैं. 15 दिसंबर तक सभी निर्माण कार्य पूरे हो जाएंगे. फैकेल्टी के नियुक्त की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है. सपोर्टिंग स्टाफ भी पर्याप्त है. निरीक्षण के दौरान अबतक की प्रगति पर संतोष व्यक्त करते हुए सीएम ने कहा कि यहां सब कुछ मेडिकल काउंसिल की गाइडलाइन के मुताबिक है.

पीएम मोदी करेंगे गोरखपुर एम्स का उद्घाटन
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोगों को विश्वस्तरीय चिकित्सा सुविधाएं मिलेंगी. कभी पूर्वांचल में बीआरडी मेडिकल कॉलेज ही चिकित्सा सेवा का एकमात्र बड़ा केंद्र था. अब देवरिया, बस्ती, सिद्धार्थनगर में मेडिकल कॉलेज हैं. कुशीनगर में निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया गया है. विश्व स्तरीय चिकित्सा सुविधाओं वाला एम्स भी गोरखपुर में सेवा देने लगा है. इसका भी उद्घाटन अक्टूबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कराया जाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Deoria News: पत्नी के साथ यूपी पुलिस का दारोगा बनाता था अप्राकृतिक संबंध, गिरफ्तार

Deoria News: पत्नी के साथ यूपी पुलिस का दारोगा बनाता था अप्राकृतिक संबंध (सांकेतिक फोटो)

UP Police News: बता दें कि गोरखपुर शहर के शाहपुर थाना क्षेत्र के पादरी बाजार निवासी विजय कुमार तिवारी यूपी पुलिस में दारोगा के पद पर तैनात था. वर्तमान पोस्टिंग गोरखपुर में ट्रैफिक इंस्पेक्टर पद पर थी.

SHARE THIS:

देवरिया/ गोरखपुर. यूपी देवरिया (Deoria) जिले में शुक्रवार को बेहद चौंका देने वाला मामला सामने आया है. यहां दारोगा की पत्नी ने पति के खिलाफ अप्राकृतिक संबंध और दहेज उत्पीड़न का मुकदमा रामपुर कारखाना थाने में दर्ज कराया है. पुलिस ने आरोपी दारोगा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. बता दें कि गोरखपुर शहर के शाहपुर थाना क्षेत्र के पादरी बाजार निवासी विजय कुमार तिवारी यूपी पुलिस में दारोगा के पद पर तैनात था. वर्तमान पोस्टिंग गोरखपुर में ट्रैफिक इंस्पेक्टर पद पर थी. उनकी शादी देवरिया जिले के रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र के एक गांव में हुई है. बताया जाता है कि पति-पत्नी के आपसी संबंध ठीक नहीं हैं.

दरअसल लगभग 3 माह पहले दारोगा की पत्नी ने पति के खिलाफ अप्राकृतिक दुष्कर्म करने एवं दहेज उत्पीड़न का मुकदमा रामपुर कारखाना थाने में दर्ज कराया था. पुलिस द्वारा मामले की विवेचना की जा रही थी. पुलिस ने आरोपी टीएसआई को गिरफ्तार कर गुरुवार को सीजेएम कोर्ट में पेश किया. सीजेएम ने टीएसआई को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया.

यह भी पढ़ें- UP में आफत बनकर टूटी बारिश, लोगों के जनजीवन पर लगा ब्रेक, आज और कल प्रदेश में स्कूल-कॉलेज बंद

रामपुर कारखाना थाने के एसओ मनोज कुमार ने बताया कि दारोगा के खिलाफ उनकी पत्नी ने अप्राकृतिक रेप और दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया था. न्यायालय के आदेश पर आरोपी दारोगा को जेल भेज दिया गया है. उधर, दारोगा की गिरफ्तारी के बाद पुलिस महकमे में चर्चा बनी हुई है.

स्कूल बिहार में, पढ़ने वाले बच्चे यूपी के, जानें 68 छात्र और 12 शिक्षकों वाले अनोखी पाठशाला की कहानी

बिहार के गोपालगंज जिला का स्कूल जहां यूपी के बच्चे पढ़ते हैं

Gopalganj Unique School: बिहार के गोपालगंज और यूपी के देवरिया जिले की सीमा पर स्थित मिडिल स्कूल में पढ़ने नहीं आते हैं छात्र. आसपास के इलाकों में निजी स्कूलों की बड़ी तादाद के कारण इस साल सिर्फ 11 बच्चों ने लिया दाखिला. कुल 68 बच्चों के लिए स्कूल में 12 शिक्षक हैं.

SHARE THIS:

गोपालगंज. बिहार में सरकारी स्कूलों में गुणवत्ता और बेहतर शिक्षा के लिहाज से सरकार हर साल करोड़ों रुपए खर्च करती है. लेकिन बिहार-यूपी सीमा पर स्थित एक स्कूल की कहानी थोड़ी अलग है. हम बात कर रहे हैं गोपालगंज जिले के विजयीपुर प्रखंड के राजकीय मध्य विद्यालय (Gopalganj Unique School) रगरगंज की. महज 68 छात्रों वाले इस स्कूल में पढ़ाने के लिए 12 शिक्षक नियुक्त हैं. इन छात्रों में भी 8 बच्चे पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश के हैं. जमीनी हकीकत यह है कि अव्यवस्था के कारण यहां एक भी बच्चा पढ़ने नहीं आता.

News 18 की टीम जब बिहार के गोपालगंज और उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले की सीमा से सटे इस स्कूल में पहुंची तो यहां पर क्लास में ना तो कोई छात्र था और ना ही छात्रों की कोई चहल-पहल. सिर्फ इक्का-दुक्का शिक्षिका मौजूद थीं. इस स्कूल में पहली से आठवीं तक की पढ़ाई होती है. दोपहर में मिड-डे मील की छुट्टी होती है. न्यूज 18 की टीम जब स्कूल में पहुंची, उस समय एक भी छात्र स्कूल में नहीं था. हालांकि स्कूल प्रबंधन कैमरा देखते ही शिक्षकों और छात्रों के अटेंडेंस बनाने लगा.

स्कूल के प्रिंसिपल जनार्दन ठाकुर ने सफाई दी कि इस स्कूल में छात्रों की संख्या काफी कम है, क्योंकि बिहार और यूपी की सीमा पर प्राइवेट स्कूलों की संख्या ज्यादा है. इस साल महज 11 बच्चों का एडमिशन हुआ है. ऐसे में यह सवाल लाजिमी है कि जब स्कूल में सिर्फ 68 बच्चों का ही एडमिशन है, तो इन्हें पढ़ाने के लिए 12 शिक्षकों की क्या जरूरत है? गोपालगंज शिक्षा विभाग इस स्कूल में कार्यरत 12 शिक्षकों पर हर महीने लाखों रुपए वेतन के रूप में खर्च करता है. शिक्षा जागरूकता के लिए सरकार अभियान भी चलाती है, लेकिन बिहार-यूपी सीमा पर स्थित इस स्कूल को लेकर नतीजा सिफर है.

विजयीपुर प्रखण्ड के शिक्षा पदाधिकारी अशोक कुमार से जब इस मामले में बात की गई तो उन्होंने बताया कि वो खुद इस मामले की जांच करेंगे. स्कूल में बच्चों की संख्या के मुताबिक शिक्षकों की तादाद के बारे में जब न्यूज 18 ने ध्यान दिलाया, तब उन्होंने कहा कि स्कूल का भौतिक सत्यापन करेंगे और सभी आवश्यक कार्रवाई की जाएगी.

UP News: देवरिया में बाढ़ का कहर, खनुआ नदी में डूबने से 3 बच्चों की मौत

UP News: देवरिया में तीन बच्चों के डूबने से मौत पर मचा कोहराम

Flood in UP: सूचना मिलने पर पुलिस और स्थानीय प्रशासन ने हर संभव मदद का भरोसा पीड़ित परिवार को दिया है. बता दें कि खामपार थाना क्षेत्र के खैराट गांव से सटकर खनुआ नदी बहती है.

SHARE THIS:

देवरिया. लगातार हो रही बारिश के कारण यूपी के कई गांव बाढ़ (Flood) के चपेट में आ गए हैं. देवरिया (Deoria) के खामपार थाना क्षेत्र के खैराट गांव के खनुआ नदी में डूबने से शुक्रवार को 3 बच्चों की मौत हो गई. बताया जा रहा है कि तीनों बच्चे खेलते समय नदी में चले गए. घटना के बाद पूरे गांव में कोहराम मचा हुआ है. सूचना मिलने पर पुलिस और स्थानीय प्रशासन ने हर संभव मदद का भरोसा पीड़ित परिवार को दिया है. बता दें कि खामपार थाना क्षेत्र के खैराट गांव के बेहद समीप से खनुआ नदी बहती है.

बारिश की वजह से नदी इस समय उफान पर है. शुक्रवार सुबह गांव के हरेराम साहनी का बेटा मोहित (7), पप्पू साहनी का लड़का अंकुश (6) और मनोज साहनी का बेटा बुलबुल (6) खेलते हुए घर से करीब 100 मीटर दूर जिन्‍न बाबा के स्‍थान के पास नदी में चले गए. देखते ही देखते तीनों गहरे पानी में डूब गए. दूर खड़े एक ग्रामीण ने देखकर शोर मचाया तो लोगों की भीड़ जमा हो गई. कड़ी मश्क्कत के बाद तीनों को लोगों ने नदी से निकाला. परिजन उन्हें लेकर एक प्राइवेट चिकित्सक के यहां पहुंचे, जहां डॉक्‍टरों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया. घटना के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है.

देवरिया में जलस्तर लाल निशान के पार
दरअसल, नेपाल के पहाड़ों और मैदानी इलाकों में हो रही बारिश का असर गोरखपुर- बस्ती मंडल में बह रही नदियों पर पड़ा है. लगातार हो रही बारिश के कारण नदियों का जलस्तर बढ़ने लगा है, जिससे मंडल के कई गांव बाढ़ के चपेट में आ गए हैं. गोरखपुर में राप्ती, गोर्रा और घाघरा नदी खतरे के निशान से अब भी ऊपर बह रही है. देवरिया जिले में गोर्रा और राप्ती नदी के जलस्तर में बेतहाशा वृद्धि होने से वर्ष 1998 की तरह प्रलयकारी बाढ़ का संकट गहराने लगा है. दो दिन से दोनों नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. नदियों का जलस्तर लाल निशान को पार कर जाने से दोआबा के 52 और कछार के 64 गांवों के लोग दहशत में हैं.

Army Bharti 2021: यूपी के 12 जिलों में होने वाली सेना की भर्ती रैलियां स्थगित, नई तिथि की घोषणा जल्द

Army Rally 2021: वाराणसी में प्रस्तावित सेना भर्ती रैली को कोरोना मामलों के कारण स्थगित कर दिया गया है.

Army Rally 2021: भारतीय सेना की ओर से वाराणसी में प्रस्तावित सेना भर्ती रैली को कोरोना मामलों के कारण स्थगित कर दिया गया है. जल्द ही भर्ती रैली की नई तिथि घोषित की जाएगी.

SHARE THIS:

Army Rally 2021. यूपी में 12 जिलों के लिए होने वाली भर्ती रैली को कोरोना मामलों के कारण भारतीय सेना ने स्थगित कर दिया है. इन जिलों के लिए भर्ती रैली 6 सितंबर 2021 से 30 सितंबर 2021 तक वाराणसी के रणबांकुरे मैदान में प्रस्तावित थी. जल्द ही सेना की ओर से इन जिलों के लिए भर्ती रैली का नया शेड्यूल जारी किया जाएगा.

न्‍यूज 18 से बातचीत में सेना भर्ती केंद्र के निदेशक कर्नल सिद्धार्थ बसु ने बताया कि कोविड को देखते हुए वाराणसी में होने वाली भर्ती रैली को फिलहाल स्‍थगित कर दिया गया है. भर्ती रैली की नई तिथियों की घोषणा जल्द ही की जाएगी.

Army Rally 2021: इन जिलों के लिए होने वाली थी भर्ती रैली
पूर्वांचल यूपी के 12 जनपदों के लिए वाराणसी में होने वाली भर्ती रैली प्रस्तावित थी. इनमें वाराणसी, गोरखपुर, आजमगढ़, मऊ, बलिया, देवरिया, गाजीपुर, संत रविदास नगर, सोनभद्र, मिर्जापुर, चंदौली, जौनपुरी

Army Rally 2021: 21 अगस्त तक कर सकते हैं आवेदन
रैली में शामिल होने के लिए इन जिलों के अभ्यर्थी सेना की आधिकारिक वेबसाइट www.joinindianarmy.nic.in के जरिए 21 अगस्त 2021 तक आवेदन कर सकते हैं. आवेदन की प्रक्रिया 8 जुलाई 2021 से जारी है. वाराणसी में होने वाली भर्ती रैली स्थगित होने के बाद अब बरेली और मेरठ में होने वाली सेना भर्ती रैली पर भी संकट के बादल मंडरा रहे हैं. माह के अंतिम सप्‍ताह तक इस बाबत स्थितियां साफ हो पाएंगी.

Army Rally 2021: इन पदों पर होगी भर्तियां
इस भर्ती रैली के जरिए सिपाही नर्सिंग असिस्टेंट, सिपाही क्लर्क, सिपाही ट्रेडमैन, सिपाही सामान्य ड्यूटी, सिपाही टेक्निकल और सिपाही ट्रेडमैन के पदो पर भर्तियां की जाएगी. भर्ती रैली से संबंधित अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी जारी नोटिफिकेशन को देख सकते हैं.

Army Rally 2021: शैक्षणिक योग्यता
सोल्जर ट्रेडमैन के लिए अभ्यर्थी का किसी भी बोर्ड से 8वीं पास होना अनिवार्य है. वहीं सिपाही सामान्य ड्यूटी पद के लिए 10वीं पास अधिकतम शैक्षणिक योग्यता निर्धारित की गई है. सिपाही टेक्निकल पद के लिए अभ्यर्थी को साइंस स्ट्रीम में 12वीं पास होना चाहिए. सिपाही नर्सिंग असिस्टेंट पद के लिए अभ्यर्थियों को भौतिक, रसायन, बायो या बॉटनी जूलॉजी से 12वीं पास होना चाहिए.

यह भी पढ़ें –
Sarkari Naukri: लखनऊ विश्वविद्यालय में प्रोफेसर समेत कई पदों पर आवेदन की अंतिम तिथि आज
Army Bharti: इंडियन आर्मी में तकनीकी स्नातक कोर्स के लिए आवेदन शुरू, जानें डिटेल

Army Rally 2021: महत्वपूर्ण तिथियां
आवेदन शुरू होने की तिथि – 8 जुलाई 2021
आवेदन की अंतिम तिथि – 21 अगस्त 2021
आधिकारिक वेबसाइट – www.joinindianarmy.nic.in

Army Bharti 2021: UP के इन 12 जिलों के लिए सेना में आईं भर्ती, आवेदन के लिए बचे सिर्फ 4 दिन

भारतीय सेना में भविष्‍य तलाश रहे जिन नौजवानों ने अभी तक आवेदन नहीं किया है, वे 21 अगस्‍त तक आवेदन कर सकते हैं.

Indian Army Recruitment Rally 2021: भारतीय सेना के 7 पदों के लिए प्रस्‍तावित भर्ती प्रक्रिया 6 सितंबर से वाराणसी के रणबांकुरे स्‍टेडियम में शुरू होने जा रही है. यह भर्ती प्रक्रिया 30 सितंबर तक जारी रहेगी.

SHARE THIS:

नई दिल्‍ली. उत्‍तर प्रदेश के 12 जिलों मे रहने वाले नौजवानों के लिए भारतीय सेना भर्ती अभियान शुरू करने जा रही है. सेना के विभिन्‍न पदों के लिए उत्‍तर प्रदेश के जिन 12 जिलों से भर्ती होनी हैं, उनमें आजमगढ़, बलिया, चंदौली, देवरिया, गोरखपुर, गाजीपुर, जौनपुर, मऊ, मिर्जापुर, संत रविदास नगर, सोनभद्र और वाराणसी शामिल हैं. भारतीय सेना ने इस भर्ती अभियान के लिए 8 जुलाई को नोटिफिकेशन जारी किया था. करीब सात पदों के लिए जारी भर्ती अभियान के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 21 अगस्‍त है. भारतीय सेना में भविष्‍य तलाश रहे जिन नौजवानों ने अभी तक आवेदन नहीं किया है, वे सेना की आधिकारिक वेबसाइट joinindianarmy.nic.in के जरिए 21 अगस्‍त तक आवेदन कर सकते हैं.

इन पदों के लिए होनी है भर्ती रैली:
सैनिक (सामान्य ड्यूटी),
सैनिक (तकनीकी),
सैनिक (विमानन/गोला बारूद परीक्षक),
सैनिक (नर्सिंग सहायक / नर्सिंग सहायक पशु चिकित्सा),
सैनिक (क्लर्क / स्टोर कीपर तकनीकी),
सैनिक ट्रेडमैन (सभी शस्त्र)

शैक्षणिक योग्यता

  • सैनिक (सामान्य ड्यूटी) :
    (i) कुल 45% अंकों के साथ कक्षा 10वीं या मैट्रिक पास, प्रत्‍येक विषय में न्‍यूनतम 33% अंक.
    (ii) ग्रेडिंग सिस्टम बोर्ड से पास अ‍भ्‍यर्थियों के लिए सभी विषयों में ‘डी’ ग्रेड और एग्रीगिएट में ‘सी-2’ ग्रेड.

सैनिक (तकनीकी) :
(i) भौतिकी विज्ञान, रसायन विज्ञान और गणित विषय से 10+2/ इंटरमीडिएट पास की हो.
(ii) अंग्रेजी में न्‍यूनतम 50% अंक.
(iii) सभी विषयों में न्‍यूनतम और कुल 40% अंक.

सैनिक (विमानन/गोला बारूद परीक्षक):
(i) भौतिकी विज्ञान, रसायन विज्ञान और गणित विषय से 10+2/ इंटरमीडिएट पास की हो.
(ii) अंग्रेजी में न्‍यूनतम 50% अंक.
(iii) सभी विषयों में न्‍यूनतम और कुल 40% अंक.

सैनिक (नर्सिंग सहायक / नर्सिंग सहायक पशु चिकित्सा):
(i) भौतिकी विज्ञान, रसायन विज्ञान और जीव विषय से 10+2/ इंटरमीडिएट पास की हो.
(ii) अंग्रेजी में न्‍यूनतम 50% अंक.
(iii) सभी विषयों में न्‍यूनतम और कुल 40% अंक.

सैनिक (क्लर्क / स्टोर कीपर तकनीकी):
(i) कला, विज्ञान या वाणिज्‍य स्‍ट्रीम से 10 + 2/ इंटरमीडिएट परीक्षा पास की हो.
(ii) सभी विषयों में न्‍यूनतम 50% अंक.
(iii) सभी विषयों में कुल 60% अंक हों.
(iv) 12 वीं की कक्षा में अंग्रेजी, गणित और अकाउंट्स/बुक कीपिंग की पढ़ाई की हो.

सैनिक ट्रेडमैन (सभी शस्त्र):
(i) 33% अंकों के साथ 10 वीं कक्षा पास हों.

आयु सीमा
सैनिक (सामान्य ड्यूटी) पद के लिए आवेदन करने वाले अभ्‍यर्थियों जन्‍म 1 अक्‍टूबर 2000 से 1 अप्रैल 2004 के बीच का होना चाहिए. वहीं, सैनिक (तकनीकी), सैनिक (विमानन/गोला बारूद परीक्षक), सैनिक (नर्सिंग सहायक / नर्सिंग सहायक पशु चिकित्सा), सैनिक (क्लर्क / स्टोर कीपर तकनीकी) और सैनिक ट्रेडमैन (सभी शस्त्र) पद के लिए आवेदन करने वाले अभ्‍यर्थियों जन्‍म 1 अक्‍टूबर 1998 से 1 अप्रैल 2004 के बीच का होना चाहिए.

चयन प्रक्रिया
रैली के दौरान अभ्यर्थियों का शारीरिक स्वास्थ्य परीक्षण, शारीरिक मापन और चिकित्सा परीक्षण किया जाएगा. इन सभी मापदंडों में खरे उतरने वाले अभ्यर्थियों का चुनाव सामान्य प्रवेश परीक्षा के लिए किया जाएगा.

यह भी पढ़ें –
SSC GD Constable Recruitment 2021 : एसएससी ने जीडी कांस्टेबल भर्ती को लेकर जारी किया ये अहम नोटिस
RSMSSB Recruitment 2021: राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड  ने निकाली 12वीं पास के लिए बंपर नौकरियां, जानें डिटेल

UP Army Rally 2021: यूपी के 12 जिलों में होगी सेना भर्ती रैली, जल्द करें आवेदन

UP Army Rally 2021: यूपी के 12 जिलों में सेना भर्ती रैली के लिए अभ्यर्थी 21 अगस्त कर आवेदन कर सकते हैं.

UP Army Rally 2021: भारतीय सेना की ओर से यूपी के 12 जिलों के लिए भर्ती रैली का शेड्यूल जारी किया गया है. रैली में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट के जरिए 21 अगस्त 2021 तक आवेदन कर सकते हैं.

SHARE THIS:

UP Army Rally 2021. यूपी के 12 जिलों में सेना भर्ती रैली होने वाली है. इन जिलों में भर्ती रैली के लिए आवेदन की प्रक्रिया 8 जुलाई 2021 से जारी है. आवेदन की अंतिम तिथि में 11 दिन का समय शेष बचा है. ऐसे में जिन अभ्यर्थियों ने अभी तक भर्ती रैली के लिए आवेदन नहीं किया है. वह अभ्यर्थी भारतीय सेना की आधिकारिक वेबसाइट www.joinindianarmy.nic.in के जरिए आवेदन कर सकते हैं. इस संबंध में इंडियन आर्मी ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर भर्ती रैली का शेड्यूल जारी किया है.

सेना की ओर से प्रस्तावित रैली की तारीख 6 से 30 सितंबर 2021 तक है. 21 माह बाद सेना में भर्ती फिर शुरू होगी. इसके पहले नवंबर-2019 में छावनी के रणबांकुरे मैदान में सेना भर्ती हुई थी. कोरोना महामारी के कारण साल 2020 में प्रक्रिया रोक दी गई थी. रजिस्ट्रेशन भी नहीं हो सका था. अप्रैल 2021 में सेना भर्ती की तैयारी थी, लेकिन कोरोना की दूसरी लहर ने फिर इस पर ब्रेक लगा दिया था.

UP Army Rally 2021: इन जिलों के लिए होगी भर्तियां
सेना भर्ती कार्यालय वाराणसी के निदेशक कर्नल सिद्धार्थ बसु ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पूर्वांचल के 12 जनपदों के युवाओं के लिए यह अवसर है. वाराणसी, आजमगढ़, मऊ, जौनपुर, गाजीपुर, मिर्जापुर, सोनभद्र ,देवरिया, चंदौली, गोरखपुर, बलिया, भदोही शामिल है.

UPArmy Rally 2021: इन पदों पर होगी भर्तियां
इस भर्ती रैली के जरिए सिपाही नर्सिंग असिस्टेंट, सिपाही क्लर्क, सिपाही ट्रेडमैन, सिपाही सामान्य ड्यूटी, सिपाही टेक्निकल और सिपाही ट्रेडमैन के पदो पर भर्तियां की जाएगी. भर्ती रैली से संबंधित अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी जारी नोटिफिकेशन को देख सकते हैं.

UP Army Rally 2021: शैक्षणिक योग्यता
सोल्जर ट्रेडमैन के लिए अभ्यर्थी का किसी भी बोर्ड से 8वीं पास होना अनिवार्य है. वहीं सिपाही सामान्य ड्यूटी पद के लिए 10वीं पास अधिकतम शैक्षणिक योग्यता निर्धारित की गई है. सिपाही टेक्निकल पद के लिए अभ्यर्थी को साइंस स्ट्रीम में 12वीं पास होना चाहिए. सिपाही नर्सिंग असिस्टेंट पद के लिए अभ्यर्थियों को भौतिक, रसायन, बायो या बॉटनी जूलॉजी से 12वीं पास होना चाहिए.

यह भी पढ़ें –
Sarkari Naukri 2021: मनरेगा में 1278 पदों पर भर्ती, मैनेजर से लेकर हैं कंप्यूटर ऑपरेटर तक की पोस्ट
BSF Recruitment 2021: बीएसएफ में स्पोर्ट्स कोटे के तहत जीडी कांस्टेबल की भर्तियां, जानें डिटेल

UP Army Rally 2021: यह है भर्ती रैली का शेड्यूल
आवेदन शुरू होने की तिथि – 8 जुलाई 2021
आवेदन की अंतिम तिथि – 21 अगस्त 2021
भर्ती रैली की प्रस्तावित तिथि – 6 से 30 सितंबर 2022
आधिकारिक वेबसाइट – www.joinindianarmy.nic.in

यहां देखें नोटिफिकेशन

Deoria News: अंगूठे का क्लोन बनाकर खातों से उड़ा लेते थे रकम, जनसेवा केंद्र संचालक समेत 4 गिरफ्तार

Deoria News: अंगूठे का क्लोन बनाकर खातों से उड़ा लेते थे रकम

एसपी देवरिया (SP Deoria) डॉक्टर श्रीपति मिश्र ने बताया कि, एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश हुआ है कि, जो भोली भाली जनता से विभिन्न योजनाओं के तहत उनको लाभ दिलाने के लिये उनसे आधार कार्ड ले लिया करते थे.

SHARE THIS:

देवरिया. उत्तर प्रदेश के देवरिया (Deoria) जिले की साइबर सेल पुलिस द्वारा अंगूठे का क्लोन (Clone) बनाने वाले गिरोह के चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. यह गिरोह लोगों के अगूंठे का क्लोन तैयार करने के बाद उनके खाते से रुपये निकाल लिया करते थे. आरोप है कि जनसेवा केंद्र संचालक पीएम आवास योजना और अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के नाम पर अंगूठे का निशान लेता था और उसकी क्लोनिंग कराने के बाद धीरे-धीरे बैंक खाता खंगाल देते थे.

साइबर सेल पुलिस द्वारा जब पीड़ित से इसके बारे में जानकारी ली गई तो पीड़ित द्वारा यह बताया गया कि, एक जनसेवा केंद्र पर अपने अगूंठे का निशान दिया था. पुलिस टीम द्वारा पीड़ित के साथ उस केंद्र पर पहुंची तो वहां काफी मात्रा में अंगूठे के क्लोन, आधार कार्ड, अंगूठा क्लोन बनाने वाली मशीन व 1 लाख रुपये बरामद करते हुए 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. आरोपी विकास यादव के पास से चार क्लोन बरामद हुए. जब पुलिस ने इन दोनों से कड़ाई से पूछताछ की तो इन्होंने अपना गुनाह कबूल कर लिया.

UP: बाराबंकी में नाबालिग के साथ हैवानियत, प्राइवेट पार्ट में प्रेशर गन से भरी हवा, हालत नाजुक!

मामले का खुलासा करते हुए एसपी देवरिया डॉक्टर श्रीपति मिश्र ने बताया कि, एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश हुआ है कि, जो भोली भाली जनता से विभिन्न योजनाओं के तहत उनको लाभ दिलाने के लिये उनसे आधार कार्ड ले लिया करते थे, और उनका अंगूठा कागज पर लगवा लिया करते थे. इसके बाद उस अंगूठे की क्लोनिंग बना करके उनके आधार जो बैंक एकाउंट से लिंक थे, उस आधार कार्ड के माध्यम से बैंक से पैसे निकाल लिया करते थे. एसपी के मुताबिक ऐसे दो प्रकरण संज्ञान में आये हैं, और पुलिस टीम द्वारा चार अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है. जिनमे से 19 अंगूठे के क्लोन, 1 लाख रुपये नगद, आधार कार्ड और क्लोन मशीन बरामद हुआ है. मामले में कानूनी कार्रवाई की जा रही है.

UP Weather Update: आज शाम पश्चिम से लेकर पूरब तक बारिश की संभावना, उमस से राहत की उम्‍मीद

UP Weather Update: पश्चिम से लेकर पूरब तक आज शाम बारिश की संभावना (सांकेतिक फोटो)

UP Monsoon News: उत्‍तर प्रदेश के सभी जिलों में अधिकतम तापमान (Temperature) 35 डिग्री सेल्सियस के आसपास ही दर्ज किया गया है, लेकिन उमस ने लोगों का जीना मुहाल कर रखा है.

SHARE THIS:
लखनऊ. मौसम विभाग (Weather Department) ने ताजा अनुमान जारी करते हुए बताया है कि सोमवार की शाम प्रदेश के तकरीबन 40 जिलों में बारिश (Rainfall) हो सकती है. पश्चिमी यूपी से लेकर पूर्वी यूपी तक के जिले बारिश से सराबोर हो सकते हैं. अनुमान के मुताबिक शाम 4 बजे तक हवा के तेज झोंकों के साथ बारिश होने की संभावना है. जिन जिलों में शाम तक बारिश होने की उम्मीद है वे जिले हैं- मथुरा, अलीगढ़, बुलंदशहर, नोएडा, संभल, बिजनौर, मेरठ, हापुड़, हाथरस, कासगंज, गाजियाबाद, बलिया, देवरिया, कुशीनगर, गाजीपुर, महाराजगंज, मऊ, मैनपुरी, एटा, बदायूं, फर्रुखाबाद, हरदोई, शाहजहांपुर, सीतापुर, लखीमपुर खीरी, कन्नौज, बहराइच, बाराबंकी, गोंडा, अयोध्या, श्रावस्ती, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, अंबेडकर नगर, आजमगढ़, फिरोजाबाद, बरेली और ललितपुर.

दूसरी तरफ मौसम विभाग का पूर्वानुमान यह भी बताता है कि 27 जुलाई से पूरे प्रदेश में बारिश का माहौल बन रहा है. लगभग सभी जिलों में बारिश का अनुमान है. बारिश का यह सिलसिला 30 जुलाई तक जारी रहेगा. यानी गर्मी और उमस से लोगों को अगले कई दिनों तक राहत मिलती रहेगी. हालांकि, पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के किसी भी जिले में बारिश रिकॉर्ड नहीं की गई है. सिर्फ निज़ामाबाद और प्रयागराज में हल्की फुल्की ही बारिश हुई.

प्रदेश में तापमान की स्थिति की बात करें तो प्रदेश के सभी जिलों में दिन का अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस के आसपास दर्ज किया गया है. गर्मी तो ज्यादा नहीं हो रही है, लेकिन उमस से लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है. आंचलिक मौसम विज्ञान विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता की मानें तो सोमवार को बादलों की आवाजाही रहने के साथ कुछ इलाकों में हल्की बारिश या बौछारें पड़ सकती हैं. वहीं, प्रदेश में कुछ जिलों में तूफान और भारी बारिश की चेतावनी भी जारी की गई है.

जींस पहनना बना मौत का सबब: चाचा ने भतीजी को पीट-पीटकर मार डाला

भतीजी का जींस पहनना चाचा को नागवार गुजरा, पीट-पीट कर मारडाला

Deoria News: देवरिया जिले मे किशोरी की हत्या के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. हत्या के पीछे किशोरी के पहनावे के प्रति उसके चाचा की नाराजगी सामने आई है. भतीजी का जींस पहनना चाचा को पसंद नहीं था. इसी के चलते उसकी पीट पीटकर हत्या कर दी गई.

SHARE THIS:
देवरिया. देवरिया (Deoria) जिले मे किशोरी की हत्या के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. हत्या के पीछे किशोरी के पहनावे के प्रति उसके चाचा की नाराजगी सामने आई है. भतीजी का जींस पहनना चाचा को पसंद नहीं था. आरोप है कि भतीजी ने जब बात नहीं मानी तो चाचा ने पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी. इसके बाद नदी में शव फेंकते समय लड़की का पैर रेलिंग में फंस गया. इससे उसका  शव नदी में गिरने की बजाए पुल पर ही लटक गया. यह देख चाचा वहां से भाग निकला. लड़की की मां की सूचना पर पुलिस ने चाचा अरविंद और बाबा परमहंस को गिरफ्तार किया है.

दरअसल रामपुरकारखाना थाना क्षेत्र के गंडक नदी पर बने पटनवा पुल पर बीते 20 जुलाई को एक नाबालिक किशोरी का शव लटकता हुआ मिला था. जिसकी देवरिया पुलिस ने जब शिनाख्त की तो मृतक किशोरी की पहचान महुवाडीह थाना क्षेत्र के सवरेजी खरग गांव के रुप में हुई. मृतक लड़की की मां ने थाने मे दर्ज 10 नामजद लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया था. जिसमें मृतक लड़की के दादा, दादी, 2 चाचा, 2 चाची और गांव के 4 अन्य सहयोगी लोग हैं.

आरोप है कि बीते 19 जुलाई को लड़की व्रत थी और वह दोपहर बाद पूजा करने के लिए नये कपड़े पहनी. उसने जींस भी पहन ली. इसी बात को लेकर बाबा ने जब ऐतराज किया तो लड़की लड़ने लगी. जिसके बाद चाचा और चाची ने लड़की की जमकर पिटाई कर दी. जब लड़की बेहोश हो गई तो गांव के 4 लोगों के सहयोग से अस्पताल मे भर्ती कराने के लिए ले जाया गया. लेकिन रास्ते में लड़की की मौत हो गई. जिसके बाद चाचाओं ने लड़की के शव को पटनवा पुल से गंडक नदी मे फेंकने की कोशिश की, लेकिन शव पटनवा पुल के एंगल से लटक गया. शव को शिनाख्त करते हुए 10 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया.

आरोप है कि बीते 19 जुलाई को किशोरी ने जीन्स पहना तो बाबा को गुस्सा आ गया और लड़की को डाटने लगे. लड़की अपने बाबा, दादी से लड़ने लगी तो चाचा ने उसे पीट-पीट कर अधमरा कर दिया. बाद में उसकी मौत हो गई.

UP चुनाव से पहले PM मोदी देंगे बड़ी सौगात, 30 जुलाई को एक साथ 9 मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण

यूपी चुनाव से पहले पीएम नरेंद्र मोदी प्रदेश को मेडिकल कॉलेजों की बड़ी सौगात देने जा रहे हैं. (वाराणसी में एक कार्यक्रम के दौरान पीएम Photo; PTI)

UP News: पीएम नरेंद्र मोदी यूपी के 9 जिलों देवरिया, एटा, फतेहपुर, गाजीपुर, हरदोई, जौनपुर, मिर्जापुर, प्रतापगढ़, सिद्धार्थनगर में मेडिकल कॉलेजों की सौगात देंगे. इस कार्यक्रम का आयोजन सिद्धार्थनगर में 30 जुलाई को होगा.

SHARE THIS:
लखनऊ. यूपी में 2022 के विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) एक बड़ी सौगात प्रदेश को देने जा रहे हैं. जानकारी के अनुसार पीएम मोदी यूपी के 9 जिलों मेडिकल कॉलेजों (9 Medical College Inauguration) की सौगात देंगे. इस कार्यक्रम का आयोजन सिद्धार्थनगर (Sidharthanagar) में 30 जुलाई को होगा. पीएम मोदी यहां से एक साथ 9 मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण करेंगे. कार्यक्रम तय हो गया है और अब अगले एक से दो दिन में सीएम योगी आदित्यनाथ सिद्धार्थनगर जाकर कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा ले सकते हैं.

जानकारी के अनुसार जिन जिलों में मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन होना है, उनमें देवरिया, एटा, फतेहपुर, गाजीपुर, हरदोई, जौनपुर, मिर्जापुर, प्रतापगढ़, सिद्धार्थनगर जिले शामिल हैं.

अभी तक की जानकारी के अनुसार इन मेडिकल कॉलेजों में मेडिकल स्टाफ की भर्ती की प्रकिया भी चल रही है. योजना है कि उद्घाटन के मौके पर खुद पीएम नरेंद्र मोदी 450 लोगों को नियुक्ति पत्र सौंपें. माना जा रहा है कि एक हफ्ते में इन अस्पतालों में कामकाज शुरू हो जाएगा. यही नहीं सरकार की योजना है कि इस साल 13 और मेडिकल कॉलेज शुरू कर दिए जाएं.

बता दें इन 9 जिलों के अलावा अयोध्या, बहराइच, बस्ती, फिरोजाबाद और शाहजहांपुर में जिला अस्पताल को ही अपग्रेड कर मेडिकल कॉलेज बनाया जा रहा है. वहीं मेडिकल कॉलेज झांसी, गोरखपुर, मेरठ, प्रयागराज, कानपुर और आगरा में सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक बनाकर इनका विस्तार किया गया है.

इनपुट: अजीत सिंह

देवरिया में नदी की तेज धारा में पलटी नाव, तीन लड़कियों की मौत, चार अन्य बचायी गयी

तीनों नाबालिग लड़कियों की नदी में डूबन से मौत के बाद उनके घर में कोहराम मच गया है (फाइल फोटो)

Uttar Pradesh News: मुंडन कार्यक्रम के बाद घर से सात लड़कियां शाम को पास में स्थित महादेव ताल में नौका विहार के लिए गई थी. इस दौरान नाव पलट गई और नाविक तैरकर बाहर निकल गया. नाव पर सवार सातों लड़कियां पानी में डूबने लगीं. उनकी चीख-पुकार सुनकर लोगों ने चार लड़कियों को समय रहते पानी से बाहर निकाल लिया और उन्हें बचा लिया

SHARE THIS:
देवरिया. उत्तर प्रदेश में देवरिया (Deoria) जिले में नाव पलटने से तीन लड़कियों की पानी में डूबने से मौत (Death duw To Drowning) हो गई जबकि चार अन्य को बचा लिया गया. घटना भलुअनी थाना क्षेत्र के गरेड गांव के महादेव ताल की है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक शुक्रवार को गरेड गांव के रामेश्वर के बेटे का मुंडन संस्कार था. इस कार्यक्रम के लिए उनके यहां कई रिश्‍तेदार जुटे थे. मुंडन कार्यक्रम के बाद घर से सात लड़कियां शाम को पास में स्थित महादेव ताल में नौका विहार के लिए गई थी. इस दौरान नाव पलट गई और नाविक तैरकर बाहर निकल गया. नाव पर सवार सातों लड़कियां पानी में डूबने लगीं. उनकी चीख-पुकार सुनकर लोगों ने चार लड़कियों को समय रहते पानी से बाहर निकाल लिया और उन्हें बचा लिया.

देवरिया के जिलाधिकारी (डीएम) आशुतोष निरंजन ने बताया कि इस हादसे में मृत लड़कियों की उम्र आठ वर्ष से लेकर 15 वर्ष के बीच है. पुलिस ने शवों को बरामद कर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है.

उन्होंने बताया कि इस दुर्घटना में राज नंदनी, लल्नत और रितु की मौत हो गई है. जबकि रतन नाम की लड़की की हालत गंभीर है जिसका इलाज गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में चल रहा है. उन्होंने बताया कि मृतक लड़कियों के परिजनों को सरकारी सहायता देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

भोजपुरी में पढ़ें - चमत्कार देखावे वाला संत ना रहने देवरहा बाबा,बाकिर तमाम बड़ लोग भक्त रहे

.

अष्टांग योग के सिद्ध,योगीराज देवरहा बाबा भोजपुरी इलाका में बहुत लोकप्रिय संत रहने. उनका भक्तन में आम लोगन से लेके बड़-बड़ ओहदा वाला आ नेता लोग भी रहल, लेकिव बाबा सबसे मचान प बइठले मिलस.

SHARE THIS:
जु के टाइम में संत के अर्थ हो गइल बा चमत्कार देखावे वाला. पता ना लोगन के बुद्धि अइसन हो गइल बा कि बाबा लोग, स्वामी लोग अइसन क देले बा. जे भी बाबा मशहूर होत हवें, उनका पीछे चमत्कार के कहानी बा. बाकिर देवरहा बाबा कबो भीड़ के सामवे अइसन कवनो चमत्कार ना कइले रहने. फिर भी उनकर लोकप्रियता अतना अधिक रहे कि इंदिरा गांधी भी राजनीतिक संकट के दौर में उनका दर्शन खातिर गइल रहली. भोजपुरिहा इलाका में उनके देवरहवा बाबा भी कहल जात रहल हा. बतावल जाला कि डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद जी, कमलापति त्रिपाठी, अटल बिहारी वाजपेयी से लेकर मुलायम सिंह यादव तक उनका दर्शन खातिर जात रहल हा लोग.

ये भी पढ़ें : भोजपुरी जंक्‍शन में पढ़ें: जतरा के पतरा - चरणार्द्रि से हो गइल चुनार

मचान प निवास
देवरिया जिला के बरहज के लगे मइल में बाबा के आश्रम रहे. उहां बाबा एगो मचान प भक्त लोगन से मिलस. उनके नजदीकी लोगन के मुताबिक बाबा के अधिकतर समय ओही मचान पर गुजरत रहल हा. सर्दी होखे, चाहे गर्मी बाबा कवनो नागा साधू जइसे बिना वस्त्र के मचान पर रहत रहने. हां, भक्त लोगन के अइला प घुटना पर कवनो छाल वही तरह से डाल लेत रहने, जइसे लोग शाल रखेला. उनकर संप्रदाय के बारे में ना केहू चर्चा करे आ ना बाबा कवनो जमात में शामिल होखस. साधु लोगन के संप्रदाय पर चर्चा कइले पर बाबा के कहनाम रहल हा – “जे ईश्वर के माने उहो हिंदू, जे न माने उहो हिंदू. अब संप्रदाय के बहस में का पड़ले के का जरूरत बा.” बाबा के स्वीकार्यता तकरीबन हर संप्रदाय में रहे आ हर संत बाबा के सम्मान करे. बाबा इलाहाबाद संगम के मेला में भी आवस लेकिन अलगे गंगा से लगल, करीब गंगा में ही, आपन मचान बनवाअस. कुछ समय उनकर मचान यमुना तट पर भी बनत रहलि हा, शायद बाबा गंगा आ जमुना जी दूनो से प्रेम करत रहने.

हर परेशानी के निदान एकही मंत्र
मइल आश्रम से लेकर इलाहाबाद संगम पर भक्त आ श्रद्धालु लोग आपन परेशानी बाबा के सुनाई. बाबा सबके एकही मंत्र, देत रहने. भक्त के परेशानी सुनि के कहिहें-
"ऊं कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने
प्रणत: क्लेश नाशाय, गोविन्दाय नमो-नम:"

देवरहा बाबा कहस – “जा जपिहअ. सब कष्ट दूर हो जाइ.” एक बार बाबा एकर जाप भी करावा देत रहने. श्रद्धालु लोगन के एही से लाभ होत होई, शायद तबे लोग दुबारा उनका इहां जात रहने. हमहूं 1982 में बचपन में अपना पिता जी के संगे उनके आश्रम में गइल रहनी. अइसन ना कि मइल के आश्रम में खाली मचान ही रहत रहे. उहां गौशाला भी रहे. जावे वाला बहुत से लोगन के बाबा गोशाला से दूध मंगा के दिआवत रहला हां. लेकिन केहू केतनो विशेष होखे अलग से कवनो चमत्कार या कवनो प्रकार के प्रसाद विशेष ना देत रहने. हां, मचान पर केला या अइसने कुछ फल या मेवा या फेर मिठाइ रही त ओहके लोगन में उपरे से दे देत रहने. बाद में इलाहाबाद में कई बार बाबा के मचान के आस पास जाए के मौका मिलल.

इंदिरा गांधी के ‘पंजा’ निशान दिहने
कहल जाला कि जब इमरजेंसी के बाद कांग्रेस के चुनाव निशान गाई-बाछा पर भी सवाल उठावे लागल ओही समय इंदिरा गांधी उनका इहां गइल रहली. ओह समय बाबा हाथ उठा के आशिर्वाद दिहने अउर उहे हाथ के पंजा कांग्रेस के चुनाव निशान बनल. तब से इंदिरा गांधी के संकट खत्म भइल.
बाबा के लेकर भोजपुरी इलाका में बहुत ढेर कहानी चलन में रहल. केहू कहे कि बाबा एतना सौ साल के हवें, केहू कहे कि बाबा के नहात नित्यक्रिया करत केहू नइखे देखले. बाकिर बाबा किहा से ना त अइसन कवनो प्रचार होखे ना एह तरह के कवनो चर्चा. जुगानी भाई के नाम से मशहूर ऑल इंडिया रेडियो के जुड़ल रवींद्र श्रीवास्तव याद करेनी कि वो समय के एकगो पुलिस अधिकारी जे इंदिरा गांधी के संगे रहने उ बतावत रहने कि बाबा उनके भी श्रीकृष्ण के मंत्र आ जीते के आशीर्वाद स्वरूप पंजा निशान बतवले रहने. जुगानी भाई तकरीबन 40-45 साल बाबा के संपर्क में रहल हवें.

श्रद्धालु लोगन के लाभ
हां, बाबा के प्रति श्रद्धा रखे वाला बहुत से लोगन के इ लागे कि बाबा उनकर रक्षा करेने. अइसना लोगन के मुताबिक जब श्रद्धालु लोग संकट में पड़स तब बाबा के याद कइले प उनकर संकट खत्म हो जाला. जुगानी भाई याद करेने कि एक बार योग पर बाबा के इंटरव्यू कइके ले अइले. जब ओके प्रसारित करे के कोशिश करे लगने त उ होते ना रहल. जुगानी भाई कहेने- “तब हम कहनी जब प्रसारित नाहीं करावे के रहल हा तब काहें इंटरव्यू देबे कइला बाबा. एह बीच रेडियो पर समय काटे वाला फिलर प्रोग्राम चलत रहे आ बाबा के याद कइले पर इंटरव्यू चलि पड़ल.”

अंतिम समय वृंदावन में
बाबा के आयु के लेकर भी भोजपुरिया समाज में तरह तरह के चर्चा बा. केहू कहेला कि बाबा 5 सौ साल जिअले के बाद तब परलोक गइनें त केहू तीन सौ साल बतावेला. एह बारे में कवनो प्रमाण नाहीं बा, लेकिन बाबा नजदीकी लोगन से हठयोग के चर्चा करत रहने. साथ में इहो कहस कि व्यायाम कइल योग नाहीं ह. उनके लिए अष्टांग योग महत्वपूर्ण रहे. खुद बाबा के तकरीबन सब योग मुद्रा सिद्ध रहे. बाबा के योगेश्वर श्रीकृष्ण में बहुत प्रेम रहे शायद इहे कारण रहे कि बाबा अंतिम समय में वृंदावन चलि गइल रहने. उहां 1990 में बाबा योगिनी एकादशी के एह शरीर के छोड़ के परम लोक चलि गइने. योगिनी एकादशी एह महीना में सोमवार ( 5 जुलाई )के बा. ( डिसक्लेमर- लेखक पत्रकार हैं और ये उनके निजी विचार हैं.)

Sarkari Naukri 2021: यूपी के इन जिलों में लोक अदालत के अध्यक्ष पद पर भर्तियां

sarkari naukri: यूपी के कई जिलों में लोक अदालत अध्यक्ष पद पर भर्तियां

Sarkari Naukri 2021: यूपी के कई जिलों में लोक अदालत अध्यक्ष पद पर भर्तियां निकाली गई हैं. इन पदों के लिए अभ्यर्थी 2 जुलाई 2021 तक आवेदन कर सकते हैं.  

SHARE THIS:
Sarkari Naukri 2021: उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण (Uttar Pradesh State Legal Services Authority) की ओर से प्रदेश के 22 जिलों में स्थायी लोक अदालत के अध्यक्ष के रिक्त पदों पर भर्तियां निकाली गई हैं. इन पदों के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 2 जुलाई 2021 निर्धारित की है. अभ्यर्थी इन पदों के लिए आधिकारिक वेबसाइट upslsa.up.nic.in के जरिए आवेदन कर सकते हैं.

इन जिलों में होगी भर्तियां
बरेली, सुल्तानपुर,  फर्रूखाबाद, झांसी, शाहजहांपुर, मिर्जापुर, देवरिया, मथुरा, बस्ती, ऐटा, पीलीभीत, हाथरस, जालौन, बलिया, चित्रकूट, मुरादाबाद, ललितपुर, आजमगढ़, जेपीनगर,बांदा, बलरामपुर, गाजियाबाद.

योग्यता
जिला न्यायाधीश या अतिरिक्त जिला न्यायाधीश के पद पर या राज्य में जिला न्यायाधीश की तुलना में उच्च पद पर न्यायिक अधिकारी रखने वाले अभ्यर्थी स्थायी लोक अदालत के अध्यक्ष के पद के लिए पात्र होंगे.

आयु सीमा
इस पद पर आवेदन करने वाले अभ्यर्थी की उम्र 65 वर्ष के अधिक नहीं होनी चाहिए.

चयन प्रक्रिया
इन पदों पर अभ्यर्थियों का चयन इंटरव्यू प्रक्रिया के तहत किया जाएगा. अभ्यर्थी इस भर्ती से संबंधित अधिक जानकारी के लिए जारी आधिकारिक नोटिफिकेशन को देख सकते हैं.

ये भी पढ़ें -
RCFL Recruitment 2021: आरसीएफएल में विभिन्न पदों पर आवेदन की अंतिम तिथि 5 जुलाई 2021
Sarkari Naukri 2021: यूपी सहित देश के तीन राज्यों में पुलिस एसआई की बंपर भर्तियां, जानें डिटेल

महत्वपूर्ण तिथियां
ऑनलाइन आवेदन करने की तिथि – 2 जुलाई 2021
आधिकारिक वेबसाइट - upslsa.up.nic.in

यहां देखें नोटिफिकेशन

VIDEO: लग्जरी गाड़ी न बैंड बाजा, देवरिया में एक दर्जन बैलगाड़ियों पर बारात लेकर निकला दूल्हा

देवरिया में एक दर्जन बैलगाड़ियों पर बारात लेकर निकला दूल्हा

दूल्हे (Groom) छोटे लाल पाल का कहना है कि मैंने सोच रखा था कि जब मेरी शादी होगी तो बैलगाड़ी से अपनी बारात ले जाऊंगा ताकि पुरानी परंपरा को आज के दौर में लोग देख कर समझ सकें.

SHARE THIS:
देवरिया. उत्तर प्रदेश के देवरिया (Deoria) जिले में रविवार को एक दूल्हे (Groom) की अनोखी बारात इलाके में चर्चा का केंद्र बनी हुई है. ये बारात किसी लग्जरी कार, घोड़ा, हाथी में नहीं बल्कि बैलगाड़ी से रवाना हुई. इस बारात को जिसने भी देखा देखता ही रह गया. सोशल मीडिया पर भी इस बैलगाड़ी वाली बारात का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. बैलगाड़ी पर ही दूल्हा और बाराती सवार रहे. बारात में डीजे की जगह लोग फरुआही लोकनृत्य पर थिरकते दिखे. इस अनोखी बारात को लोग अपने मोबाइल कैमरे में कैद करते नजर आए.

बता दें कि रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र के कुशहरी गांव के रहने वाले छोटेलाल पाल धनगर पुत्र स्वर्गीय जवाहर लाल की थी. छोटेलाल की शादी जिले के रुद्रपुर क्षेत्र के पकड़ी बाजार के नजदीक बलडीहा दल गांव निवासी रामानंद पाल धनगर की पुत्री सरिता से तय थी. रविवार को बारात रवाना होनी थी. इसके लिए कुशहरी में पिछले एक सप्ताह से तैयारी चल रही थी. बारात को घर से 22 किलोमीटर दूर जाना था. इसलिए सुबह 11 बजे ही घर से सभी बाराती निकल गए. वहीं, छोटेलाल पाल पालकी से परछावन कराने निकले, जिसे देख लोगों की निगाहें नहीं हट रही थी.



अलीगढ़: जान हथेली पर रखकर जांबाज दारोगा ने बचाई दिव्यांग की जान, योगी सरकार ने दिया 50 हजार का इनाम

बारात में बैंड बाजा की जगह कलाकार फरी लोक नृत्य कर रहे थे. इस बीच गांव में बूढ़े-बुजुर्ग जहां परछावन देखने पहुंचे तो वहीं, बच्चों के लिए यह बारात कोतुहल का विषय थी. दूल्हे छोटे लाल पाल का कहना है कि मैंने सोच रखा था कि जब मेरी शादी होगी तो बैलगाड़ी से अपनी बारात ले जाऊंगा ताकि पुरानी परंपरा को आज के दौर में लोग देख कर समझ सकें. गाड़ियों की वजह से यह परंपरा ख़त्म हो रही है, मैं लोगों को पुरानी परंपरा के बारे में भी बता रहा हूं.

फिल्मों की शूटिंग टीम में काम करते हैं छोटे लाल
स्वर्गीय जवाहर लाल पाल धनगर के दो बेटे हैं. बड़ा बेटा रामविचार पाल धनगर गांव पर ही रहते हैं. जबकि, छोटे लाल मुंबई में फिल्मों की शूटिंग टीम में काम करते हैं. रिश्ता तय होने के बाद जब छोटे लाल घर आए तो, उन्होंने अपनी बारात खास अंदाज में निकालने इच्छा जाहिर की थी.

UP Flood: लगातार बारिश से तराई और पूर्वांचल के 16 जिलों में बाढ़ का खतरा, एडवाइजरी जारी

लगातार बारिश से तराई और पूर्वांचल के 16 जिलों में मंडराया बाढ़ का खतरा (File photo)

UP Flood News: यूपी के गोरखपुर, लखीमपुर खीरी, श्रावस्ती, बहराइज, सीतापुर, मऊ समेत कई जिलों में नदियों का जलस्तर बढ़ा. कई स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रहीं नदियां. आपदा एवं राहत विभाग ने संबंधित जिलों को किया अलर्ट.

SHARE THIS:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के 16 जिलों में समय बीतने के साथ बाढ़ (Flood) का भी खतरा बढ़ता जा रहा है. इन सभी जिलों से होकर बहने वाली नदियों के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. कुछ नदियां तो अभी से खतरे के निशान के ऊपर बहने लगी हैं. चिंता वाली बात ये है कि हर पल के बीतने के साथ नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी ही हो रही है. वहीं लगातार हो रही बारिश से बाढ़ का खतरा और तेजी से बढ़ता जा रहा है. इसे देखते हुए राहत विभाग ने इन सभी जिलों के अफसरों को एडवाइजरी भेज दी है और तैयारी रखने के निर्देश दिये हैं.

दरअसल, लखीमपुर खीरी, श्रावस्ती, बहराइच, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, महाराजगंज, कुशीनगर, देवरिया, गोरखपुर, गोण्डा, बस्ती, संतकबीर नगर, बलिया, बाराबंकी, सीतापुर और मऊ में बाढ़ का संकट मंडरा रहा है. महराजगंज और सिद्धार्थनगर में तो जलभराव भी शुरू हो गया है. गोरखपुर में रोहिणी नदी त्रिमोहानीघाट पर खतरे के निशान से लगभग एक मीटर ऊपर बह रही है. गोरखपुर में तैनात गण्डक बाढ़ मण्डल के अधीक्षण अभियंता दिनेश सिंह ने बताया कि नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है. दिन-रात निगरानी की जा रही है. हल्की कटान की स्थिति में फटाफट रेत से उसे भर दिया जा रहा है. सभी तटबंध सुरक्षित हैं और आबादी क्षेत्र में पानी नहीं आया है.

पंचायत चुनावों पर अखिलेश यादव बोले- हार से बौखलाई बीजेपी, अब सरकारी तंत्र का कर रही दुरुपयोग

दूसरी तरफ शारदा, घाघरा और राप्ती नदी का जलस्तर भी खतरे के निशान के पास पहुंच गया है. चिंताजनक बात ये है कि इन सभी नदियों का जलस्तर हर सेकेण्ड के साथ बढ़ता जा रहा है. इस बात की आशंका बढ़ गयी है कि अगले कुछ घंटों में इन सभी नदियों का जलस्तर खतरे के निशान को पार कर जायेगा. ऐसे में लगातार पानी बढ़ने से निचले इलाकों में जलभराव की समस्या खड़ी हो सकती है. इन 16 जिलों की ओर बढ़ते इस खतरे को देखते हुए राहत विभाग ने जिलों को निर्देश दे दिये हैं कि बाढ़ के संकट से निपटने के उपाय किये जाए.

नेपाल और उत्तराखण्ड में हो रही लगातार बारिश
बाढ़ प्रभावित आबादी के लिए राहत शिविर तैयार किये जाएं और उनके खाने-पीने का भी प्रबंध किया जाए. आपको बता दें कि नेपाल और उत्तराखण्ड के साथ तराई और पूर्वी इलाकों में लगातार हो रही बारिश से नदियां उफान मारने लगी हैं. समय से पहले ही इस साल सूबे में बाढ़ के हालात पैदा हो गये हैं. मॉनसून के जल्दी आने की वजह से ये समस्या जल्दी खड़ी हुई है.

भोजपुरी एक्टर प्रेम सिंह उत्तर प्रदेश के देवरिया में श्रुति राव के साथ कर रहे फिल्म की शूटिंग, देखें Photos

प्रेम सिंह उत्तर प्रदेश के देवरिया में फिल्म की शूटिंग कर रहे हैं.

भोजपुरी (Bhojpuri) में 'पंगेबाज' एक्टर के नाम से मशहूर अभिनेता प्रेम सिंह (Prem Singh) यूपी (Uttar Pradesh) के देवरिया (Deoria) में शूटिंग कर रहे हैं. देखिए शूटिंग से जुड़ी खास फोटोज.

SHARE THIS:
भोजपुरी (Bhojpuri) में 'पंगेबाज' एक्टर के नाम से मशहूर अभिनेता प्रेम सिंह (Prem Singh) जल्द ही प्रोड्क्शन नंबर 1 जल्द ही नजर आयेंगे, जिसकी शूटिंग यूपी (Uttar Pradesh) के देवरिया (Deoria) जिले में चल रही है. इस फ़िल्म में श्रुति राव (Shruti Rao) उनके अपोजिट नज़र आएंगी. इस फिल्म को अजय कुमार झा निर्देशित करेंगे. लेकिन फिलहाल वे आने कोलकाता स्थित आवास पर ही फिल्म को लेकर खूब सारी तैयारियां कर रहे हैं. जीम में पसीने बहा रहे और जमकर डांस भी कर रहे हैं. प्रेम सिंह ने ये जानकारी खुद ही दी.

prem singh

बिहार (Bihar) की माटी से आने वाले अभिनेता प्रेम सिंह ने बताया कि वे अप्रैल में अपनी फिल्म 'समय होला बलवान' की शूटिंग को लखनऊ गये थे, जो कैंसिल हो गयी. उसके बाद 'सनेहिया टूटे आ' और 'पंगेबाज 2' भी कैंसिल हो गयी, जिसके बाद वे कोलकाता चले गये थे. कोरोना की वजह से उनकी फिल्मों को शूटिंग का परमिशन नहीं मिला. लेकिन अब वे फिर से फिल्म की शूटिंग की ओर लौट रहे हैं.

prem singh

उन्होंने बताया- "कोरोना काल में 'चाँद जैसन दुल्हिन हमारा' को लोगों ने खूब पसंद किया गया. गुंजन पंत के साथ काम करके बहुत कुछ सिखने को मिला. उनके साथ काम करने का अनुभव शानदार रहा. उन्होंने बताया कि मेरी फिल्म जान हमारा और पंगबाज भी खूब पसंद की गयी. अभी मेरी फिल्म 'आरजू', सिया 420, अजनबी, हमरे बाबु जी की बहिनिया आने वाली है, जिससे काफी उम्मीदे हैं."

UP: लखनऊ में पूर्व बीएसपी MLC रामू द्विवेदी समेत 4 गिरफ्तार, सामने आया सीसीटीवी फुटेज

लखनऊ में पूर्व बीएसपी MLC रामू द्विवेदी समेत 4 गिरफ्तार

बता दें कि यूपी के टॉप 33 माफियाओं (Top Mafia) की सूची में देवरिया जिला निवासी संजीव उर्फ रामू का नाम भी शामिल है. इसके गिरोह में 12 सदस्य चिह्नित किए गए हैं जिनमें से दो के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई भी की है.

SHARE THIS:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में बसपा (BSP) के पूर्व एमएलसी (Former MLC) रामू द्विवेदी समेत उसके 3 साथियों को पुलिस ने लखनऊ (Lucknow) से गिरफ्तार कर लिया है. देवरिया पुलिस ने 2012 के एक मामले में रामू द्विवेदी को गिरफ्तार किया है. रंगदारी मांगने में पुलिस ने बसपा के पूर्व एमएलसी को गिरफ्तार किया है. जानकारी के अनुसार देवरिया के रामपुर कारखाना थाने में रामू को रखा गया है. लखनऊ के धेनुमती अपार्टमेंट से गिरफ्तारी हुई है. इस दौरान गिरफ्तारी का सीसीटीवी फुटेज वायरल हो गया है.

दरअसल, शराब व्यापारी संजय केडिया पर जानलेवा हमले के पुराने मामले में रामू द्विवेदी गिरफ्तारी हुई है. संजय केडिया की तहरीर पर रामू द्विवेदी पर 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगने का केस दर्ज हुआ था. कोतवाली पुलिस ने पूर्व एमएलसी संजीव द्विवेदी उर्फ रामू, विशाल राव चंदेल, संजय चौरसिया सहित अन्य लोगों पर हत्या के प्रयास और रंगदारी का केस दर्ज किया था. कारोबारी संजय केडिया और निकुंज अग्रवाल से पुलिस ने नई तहरीर देकर पूर्व एमएलसी के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी है. एडीजी जोन अखिल कुमार ने एसपी को पत्र भेज कर रामू पर दर्ज मुकदमे, जुड़े लोग और संपत्तियों के बारे में जानकारी मांगी है. जबकि दूसरी तरफ डीसीआरबी से भी रिपोर्ट तैयार कराई जा रही है.

टॉप माफियाओं की सूची में नाम
बता दें कि यूपी के टॉप 33 माफियाओं की सूची में देवरिया जिला निवासी संजीव उर्फ रामू का नाम भी शामिल है. इसके गिरोह में 12 सदस्य चिह्नित किए गए हैं जिनमें से दो के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई भी की है. चौरीचौरा थाने के हिस्ट्रीशीटर रामू पर लखनऊ में 1996 से 98 के बीच हत्या के तीन मुकदमे दर्ज हैं. इसके अलावा गोरखपुर, देवरिया में उन पर रंगदारी, हत्या की कोशिश जैसी कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज है. अपर पुलिस महानिदेशक कानून-व्यवस्था की सख्ती के बाद पुलिस ने इन माफियाओं और उनके गिरोह के सदस्यों को नकेल डालने की कार्रवाई तेज कर दी है.

UP में 1 जून से प्रयागराज समेत 6 जिलों में भी मिलेगी कोरोना कर्फ्यू से छूट, जारी रहेगा वीकेंड लॉकडाउन

UP में 1 जून से प्रयागराज समेत 6 जिलों में भी मिलेगी कोरोना कर्फ्यू से छूट (सांकेतिक तस्वीर)

UP Unlock: अंडे (Egg), मांस और मछली की दुकानों को पर्याप्त साफ-सफाई तथा सैनिटाइजेशन का ध्यान रखते हुए बंद स्थान में खोलने की अनुमति होगी.

SHARE THIS:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Government) ने प्रदेश में अनलॉक (Unlock) की प्रक्रिया के तहत सोमवार को प्रदेश के 6 जिलों में कोरोना गाइडलाइन के अनुसार छूट दी है. जिसमें देवरिया, बिजनौर, मुरादाबाद, बागपत, प्रयागराज, सोनभद्र जिलों में कोरोना कर्फ्यू में छूट मिलेगी. बताया जा रहा है कि इन जिलों में बीते 24 घंटे में 600 से कम केस आए हैं. अब प्रदेश के 61 ज़िले छूट की श्रेणी में आ गये है. नए निर्देशों के मुताबिक 1 जून से सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक दुकानें खुल सकेंगी.

क्या खुला और क्या बंद
1- कोरोना की रोकथाम से जुड़े फ्रंटलाइन सरकारी विभागों में पूर्ण उपस्थिति रहेगी एवं शेष सरकारी कार्यालय अधिकतम 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ खुलेंगे.
2- निजी कंपनियों के कार्यालय भी मास्क की अनिवार्यता के साथ खोले जा सकेंगे. सैनेटाइजर और दो गज दूरी का पालन जरूरी रहेगा.
3- गाइडलाइन के मुताबिक सभी औद्योगिक संस्थान खुलेंगे. नाइट कर्फ्यू के दौरान इनके आइडी कार्ड के हिसाब से इन्हें आने-जाने दिया जाएगा.
4- सब्जी मंडी पहले की ही तरह खुली रहेंगी. हर सब्जी मंडी स्थल में कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन जरूरी होगा. जो सब्जी मंडिया घनी आबादी में हैं उसे खुले क्षेत्र में प्रशासन लगवाएगा.
5- रेलवे स्टेशन, बसों में मास्क की अनिवार्यता के साथ ही यात्रा की जा सकती है. इन सभी के एंट्री गेट पर स्क्रीनिंग की सुविधा रहेगी.
6- यूपी ट्रांसपोर्ट की बसें चलेंगी. जितनी सीट उतने यात्री के हिसाब से ही परिवहन होगा. इनमें खड़े होकर यात्रा की अनुमति नहीं होगी.
7- रेस्टोरेंट्स में बैठ कर खाने की व्यवस्था बंद रहेगी. सिर्फ होम डिलीवरी की अनुमति होगी.
8- रोड किनारे सभी होटल, ढाबे, ठेला फिर से खुलेंगे.
9- ट्रांसपोर्ट कंपनियों के वेयर हाउस खुलेंगे.
10- सभी धार्मिक स्थल खुलेंगे. इनमें एक बार में सिर्फ 5 लोग ही प्रवेश कर सकते हैं. कंटेनमेंट जोन के धार्मिक स्थल बंद रहेंगे.
11- अंडे मांस और मछली की दुकानों को पर्याप्त साफ-सफाई तथा सैनिटाइजेशन का ध्यान रखते हुए बंद स्थान में खोलने की अनुमति होगी.
12- पूरे प्रदेश में गेहूं क्रय केंद्र एवं राशन की दुकानें खुली रहेंगी.
13- कृषि कार्यों से जुड़ी सभी दुकानें खुली रहेंगी.
14- राजस्व व चकबंदी न्यायालय दो गज दूरी की गाइडलाइन के हिसाब से खोले जाएंगे.
15- स्कूल कॉलेज तथा शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे.
16- कोचिंग संस्थान सिनेमा जिम स्विमिंग पूल क्लब एवं शॉपिंग मॉल पूर्णता बंद रहेंगे.
17- शादी समारोह में सिर्फ 25 लोग ही कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए शामिल हो सकते हैं.
18- अंतिम संस्कार में सिर्फ 20 लोग ही शामिल हो सकते हैं.

UP: संतकबीर नगर में भीषण सड़क हादसा, एक ही परिवार के 4 सदस्यों की मौत से मचा कोहराम

संतकबीर नगर में भीषण सड़क हादसा

जानकारी के अनुसार देवरिया जिले के रुद्रपुर थानाक्षेत्र के मांगा कोडर गांव के निवासी संदीप पंजाब (Punjab) के लुधियाना में जीविकोपार्जन करते हैं. वह यहां पर पत्नी, बच्चों व अन्य लोगों के साथ रह रहे थे.

SHARE THIS:
संतकबीरनगर. उत्‍तर प्रदेश के संतकबीरनगर (Santkabirnagar) में रविवार सुबह गोरखपुर-लखनऊ राष्ट्रीय राजमार्ग पर डीघा के पास खड़ी ट्रक से पिकअप टकरा गई. इस हादसे में पिकअप में सवार एक ही परिवार के चार सदस्यों की घटनास्थल पर ही मौत (Death) हो गई. वहीं पिकअप चालक घायल हो गया. चालक को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

जानकारी के अनुसार देवरिया जिले के रुद्रपुर थानाक्षेत्र के मांगा कोडर गांव के निवासी संदीप पंजाब के लुधियाना में जीविकोपार्जन करते हैं. वह यहां पर पत्नी, बच्चों व अन्य लोगों के साथ रह रहे थे. कोरोना लॉकडाउन में जीविका प्रभावित हुई तो वह अपनी स्वयं की पिकअप में बेटे अमन व अभिमन्यु, पत्नी गुड़िया तथा सास तारा देवी के संग अपने गांव जा रहे थे. पिकअप स्वयं संदीप चला रहे थे. वह रविवार की सुबह करीब साढ़े पांच बजे गोरखपुर-लखनऊ राष्ट्रीय राजमार्ग पर डीघा के पास पहुंचे थे.

किसी ने मुझे एक कहानी लिखकर भेजी, सोचा आप सब के साथ शेयर कर लूंं: प्रियंका गांधी

बताया जा रहा है कि हल्की हवा के झोंके के बीच संदीप को झपकी आ गई. इसकी वजह से यहां पर सड़क के किनारे खड़ी ट्रक से पिकअप टकरा गई. पिकअप बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया. हादसे में इनके बेटे अमन व अभिमन्यु, पत्नी गुड़िया तथा सास तारा देवी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. वहीं पिकअप चालक संदीप को भी चोटें आई है. वह बाल-बाल बच गए. सूचना मिलने पर पर इंडस्ट्रियल एरिया पुलिस चौकी के इंचार्ज के अलावा कोतवाली प्रभारी मनोज कुमार पाण्डेय घटनास्थल पर पहुंचे. इसकी सूचना मृतक के परिवार के सदस्यों को दी. मौत की सूचना मिलने पर मृतक के घर में कोहराम मचा हुआ है.
Load More News

More from Other District

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज