Deoria News: 15 दिनों में दो गावों में 32 लोगों की मौत से हड़कंप, सभी को बुखार और सांस फूलने के लक्षण

देवरिया के दो गांवों में रहस्यमय बीमारी से हो रही मौतें

देवरिया के दो गांवों में रहस्यमय बीमारी से हो रही मौतें

Deoria Mysterious Disease: न्यूज़-18 की टीम के साथ इस गांव के कई मृतक के परिजनो ने दहशत का माहौल साझा किया. ग्रामीणों का कहना है कि कई बार जिला प्रशासन से लेकर स्थानीय प्रशासन तक गुहार लगाई गयी लेकिन किसी ने भी इस गांव की सुध नही ली.

  • Share this:

देवरिया. पंचायत चुनाव (Panchayat Chunav) के बाद देवरिया (Deoria) जिले में एक रहस्यमय बिमारी (Mysterious Disease) ने पैर पसारना शुरु कर दिया है और लोग तड़प-तड़प कर मर रहे है, अभी तक दो गांवों में पिछले 15 दिनों में 32 लोगों की मौत हुई है. बताया जा रहा है कि सभी की बुखार और सांस फुलने की शिकायत के बाद अस्पताल ले जाते वक्त मौत हो गई. मामला रुद्रपुर ब्लाक के बैदा गांव भागलपुर ब्लॉक के अण्डिला गांव का है. बैदा गांव में 12 तो अण्डिला गांव में 20 लोगों की मौत हो चुकी है. चौंकाने वाली नट यह है कि जिले का स्वास्थ्य महकमा अभी भी हाथ पर हाथ धरे बैठा है.

न्यूज़ 18 की टीम जब अण्डिला गांव पहुंची तो पता चला कि इस गांव मे महज 15 दिनों में 20 लोगों की मौत हुई है. सभी मृतकों में एक ही प्रकार के लक्षण है. सभी के सांस लेने मे समस्या आ रही है और तेज बुखार हो रहा है. मृतकों के परिजनों का कहना है कि जब वह अस्पताल मरीज को लेकर जाते है तो वहां आक्सीजन की भारी किल्लत होती है. जिला अस्पताल समेत सभी सरकारी अस्पताल के वेड फुल है. 20 मौतों के बाद भी जिले का स्वास्थ्य महकमा अभी तक जांच के लिए नहीं पहुंचा है. लगातार हो रही मौतों से लोगों में दहशत है और गांव में सन्नाटा पसरा है.

Youtube Video

अभी तक नहीं पहुंची मेडिकल टीम य
ही हाल  रुद्रपुर ब्लाक के बैदा गांव का है. यहां भी लोग घरों से निलने से कतरा रहे है. वजह यह है कि इस गांव में भी पिछले सात दिनों में 12 मौत हो चुकी है और यह सभी मौत आक्सीजन की कमी से हुई है.इस गांव के कई लोग मौत के मुहाने पर खड़े हैं. यह गांव जिला मुख्यालय से लगभग 40 किलोमीटर दूर है. गोरखपुर जनपद की सीमा से सटा है, लेकिन इस गांव मे आज तक कोई मेडिकल टीम नहीं पहुंची है. नवजवान, महिलाएं और बुजुर्ग सांस फुलने की बीमारी के चलते तड़प-तड़प के मर रहे हैं, लेकिन जिला प्रशासन के आला अधिकारियों के कान इस गांव का मातम नही सुनाई दे रहा है.

परिजनों में दहशत

न्यूज़-18 की टीम के साथ इस गांव के कई मृतक के परिजनों ने दहशत का माहौल साझा किया. ग्रामीणों का कहना है कि कई बार जिला प्रशासन से लेकर स्थानीय प्रशासन तक गुहार लगाई गयी लेकिन किसी ने भी इस गांव की सुध नही ली. एक सप्ताह के अंदर 12 लोगों की मौत हो चुकी है. इस बात की जानकारी गांव के प्रधान और सीएचसी के डॉक्टरों ने दी है.न्यूज़ 18 के पास वह कागज भी है जिसमे 12 मौत का जिक्र किया गया है.



डीएम ने कही जांच की बात

जब इस मामले पर डीएम आशुतोष निरंजन से बात की गयी तो उन्होंने कहा कि मामले की जानकारी है और आज गांव मे एक स्वास्थ्य टीम भेज कर जांच करायी जायेगी. लेकिन कैमरे पर बोलने से उन्होंने इनकार कर दिया।ऐसे में आप समझ सकते है कि जिले के जिम्मेदार किस प्रकार से बेहतर स्वास्थ्य सेवा दे रहे है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज