देवरिया कांड: सभी लड़कियों का कराया गया मेडिकल, आज हो सकते हैं नए खुलासे

इससे पहले सोमवार शाम को पुलिस और जिला प्रशासन ने मां विंध्यवासिनी बालिका संरक्षण गृह को सील कर दिया और वहां से कई अहम दस्तावेज अपने साथ ले गई.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 7, 2018, 7:56 AM IST
देवरिया कांड: सभी लड़कियों का कराया गया मेडिकल, आज हो सकते हैं नए खुलासे
देवरिया शेल्टर होम को सील करने पहुंची पुलिस
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 7, 2018, 7:56 AM IST
देवरिया के मां विंध्यवासिनी बालिका संरक्षण गृह में बालिकाओं से देह व्यापार कराने के मामले में मंगलवार को नए खुलासे हो सकते हैं. समाज कल्याण विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार और एडीजी अंजू गुप्ता की देखरेख में सोमवार रात सभी 24 लड़कियों का जिला महिला अस्पताल में मेडिकल परीक्षण कराया गया. हालांकि, मेडिकल रिपोर्ट को गुप्त रखा गया है. दो सदस्यीय टीम मंगलवार शाम को मेडिकल रिपोर्ट समेत अन्य जांच रिपोर्ट सीएम योगी आदित्यनाथ को सौंपेगी. कहा जा रहा है कि जांच दल की रिपोर्ट के बाद इस मामले की कई घिनौनी परतें खुलेंगी और कईयों पर गाज गिरेगी.

यह भी पढ़ें: 'देवरिया शेल्टर होम से 500-1500 रुपए में गोरखपुर भेजी जाती थीं लड़कियां'

इससे पहले सोमवार शाम को पुलिस और जिला प्रशासन ने मां विंध्यवासिनी बालिका संरक्षण गृह को सील कर दिया और वहां से कई अहम दस्तावेज अपने साथ ले गई. दो सदस्यीय जांच टीम ने मुक्त कराई गईं लड़कियों से भी बात कर उनके बयान दर्ज किए हैं.

मुक्त कराए गए बच्चियों में से 13 नाबालिग

संरक्षण गृह से मुक्त कराई गई 24 लड़कियों में से 13 नाबालिग हैं. इनकी उम्र 18 वर्ष से कम है. वहीं 11 अन्य की आयु 18 या उससे अधिक पाई गई. इनमें से तीन लड़कियों को राजला स्थित नारी संरक्षण गृह से मुक्त कराया गया है, जबकि अन्य सभी स्टेशन रोड स्थित बालगृह बालिका में रह रही थीं.

पांच लड़कियों ने कहा गाड़ियों में ले जाई जाती थीं लड़कियां
सदर एसडीएम रामकेश यादव, डीपीओ प्रभात कुमार ने 20 लड़कियों और 3 लड़कों के बयान दर्ज किए. इनमें से पांच बच्चों ने कहा कि लड़कियों को लेने गाडियां आती थीं, जिनमें उन्हें भेजा जाता था.

यह भी पढ़ें: देवरिया शेल्टर होम कांड पर सियासत तेज, विपक्ष ने की सीबीआई जांच की मांग
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर