देवरिया शेल्टर होम से गायब लड़की का पिता लगा रहा है CM योगी से गुहार

पीड़ित पिता ने बताया कि मुझे सुबह अखबारों के जरिए जानकारी मिली, हम फौरन जिले के एसपी के पास पहुंचे, जहां से मुझे जिला प्रोबेशन अधिकारी के पास भेज दिया गया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 6, 2018, 3:42 PM IST
देवरिया शेल्टर होम से गायब लड़की का पिता लगा रहा है CM योगी से गुहार
पीड़ित पिता
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 6, 2018, 3:42 PM IST
उत्तर प्रदेश के देवरिया में सोमवार को मां विंध्यावासिनी बालिका संरक्षण गृह में देह व्यापार का मामला सामने आने के बाद जहां पूरे प्रदेश में हड़कंप मच गया है. वहीं 18 लड़कियां आज भी संरक्षण गृह से लापता है. इस मामले में पीड़ित बच्ची के पिता ने सीएम योगी से गुहार लगाते हुए कहा,' मेरी बेटी राधा तिवारी (काल्पनिक नाम) जिसकी उम्र 15 साल की है, वो भी लापता है. पता नहीं उसकी हत्या करवा दी गई है. लेकिन संरक्षण गृह पहुंचने पर मुझे मेरी बेटी वहां नहीं मिली है. मेरा योगी जी से कहना है कि मुझे मेरी लापता बेटी की तलाश करवाने में जिला प्रशासन को आदेश दे.

पीड़ित पिता ने बताया कि मुझे सुबह अखबारों के जरिए जानकारी मिली, हम फौरन जिले के एसपी के पास पहुंचे, जहां से मुझे जिला प्रोबेशन अधिकारी के पास भेज दिया गया. फिलहाल बेटी के बारे में कोई सूचना नहीं मिल रही है. दरअसल बिहार में कांड के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 3 अगस्त को ही प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को अपने जिलों में बाल गृह तथा महिला संरक्षण गृह का व्यापक निरीक्षण करने के निर्देश दिए थे. मुख्यमंत्री के निर्देशों के बाद भी ​देवरिया जिला प्रशासन नहीं चेता.

उधर मामले में डीएम सुजीत कुमार कहते हैं कि कई बार शेल्टर होम में घुसने की कोशिश की गई थी लेकिन प्रशासन को सफलता नहीं मिली. फिलहाल मौके पर छानबीन की जा रही है, सभी कमरों की तलाशी ली जा रही है.

मामला सामने आने के बाद योगी सरकार ने डीएम को हटा दिया गया है. वहीं पूर्व के डीपीओ अभिषेक पांडेय को सस्पेंड किया गया है. वहीं अं​तरिम चार्ज में रहे दो अधिकारी नीरज कुमार और अनुज सिंह के खिलाफ भी विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं. डॉ रीता जोशी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने प्रमुख सचिव, महिला कल्याण रेणुका कुमार और एडीजी अंजू को अलग-अलग जांच करने के​ लिए देवरिया भेजा है.

ये दोनों आज दिन भर देवरिया में रहेंगीं और एक-एक बच्चे से बात करेंगीं और कल रिपोर्ट सीएम को सौंपेंगीं.  मुख्यमंत्री ने इसके अलावा प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को 12 घंटें का समय देते हुए कहा कि प्रदेश भर के सभी सरकारी और गैर सरकारी शेल्टर होम की जांच करके पेश की जाए.

ये भी पढ़ें: 

देवरिया शेल्टर होम कांड पर सियासत तेज, विपक्ष ने की सीबीआई जांच की मांग

देवरिया शेल्टर होम कांड: सीएम योगी के निर्देश के बावजूद लापरवाह बना रहा प्रशासन

देवरिया शेल्टर होम की बच्ची का खुलासा- 'लग्जरी गाड़ियों में लोग आते और लड़कियों को ले जाते
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर