देवरिया: महिला नेता की पिटाई पर NCW ने लिया संज्ञान, जांच के आदेश

महिला नेता की पिटाई पर NCW ने लिया संज्ञान
महिला नेता की पिटाई पर NCW ने लिया संज्ञान

महिला नेता (Women Leader) के आरोपों पर कांग्रेस प्रत्याशी ने कहा कि सभी आरोप निराधार हैं, मुझे किसी भी मामले में अभी तक कोर्ट ने दोषी नहीं माना है और न ही सजा सुनाई गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 1:44 PM IST
  • Share this:
देवरिया. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के देवरिया (Deoria) जिले में टाउन हाल स्थित कांग्रेस पार्टी (Congress Party) कार्यालय पर महिला कांग्रेस कार्यकर्ता की पिटाई पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने जांच के आदेश दिए हैं. उधर, राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी इस मामले में संज्ञान लिया है. महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने ट्वीट कर पूछा, ऐसे बीमार लोग कैसे राजनीति में आ जाते हैं? उन्होंने इस मामले में संज्ञान लेने की भी बात कही.

दरअसल महिला कार्यकर्ता ने पार्टी के राष्ट्रीय सचिव व पूर्वांचल सह प्रभारी सचिन नायक के सामने ही उपचुनाव प्रत्याशी को रेप का आरोपी बताते हुए टिकट देने का विरोध किया. महिला कार्यकर्ता ने राष्ट्रीय सचिव के ऊपर गुलदस्ता फेंक दिया, जिसके बाद वहां हंगामा मच गया. इसके बाद मौके पर मौजूद पुरुष कार्यकर्ताओं ने महिला को जमकर पीटा. हालांकि इस दौरान कुछ कार्यकर्ता उन्हें रोकने की भी कोशिश करते रहे. महिला कार्यकर्ता के साथ आई तीन महिलाओं को भी जमकर पीटा गया. वे भी पार्टी वर्कर थी.


महिला नेता तारा देवी ने बताया कि वे चार साल से पार्टी की सदस्य हैं. महिला नेता ने आरोप लगाया कि कांग्रेस प्रत्याशी मुकुंद भास्कर पर रेप का आरोप है. उसे टिकट देकर गलत हुआ है. हम चाहते हैं कि साफ सुथरे छवि के लोगों को टिकट दिया जाए. यही बात करने के लिए वह सचिन नायक से मिलने पहुंची थी. महिला नेता तारा देवी ने कहा कि उन्होंने सचिन नायक को नहीं मारा है .वह बात करने गयी थी कि ऐसे लोगों को टिकट क्यों या गया है, जिसपर वहां मौजूद कांग्रेस के कार्यकर्ता मुझे मारने पीटने लगे.



महिला नेता के आरोपों पर कांग्रेस प्रत्याशी ने कहा कि सभी आरोप निराधार हैं, मुझे किसी भी मामले में अभी तक कोर्ट ने दोषी नहीं माना है और न ही सजा सुनाई गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज