Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Dhanteras 2020: अयोध्या नगर निगम को मिली तीन इलेक्ट्रिक कार की सौगात

    नगर निगम को तीन कार की सौगात मिली है.
    नगर निगम को तीन कार की सौगात मिली है.

    राम नगरी अयोध्या (Ayodhya) को प्रदूषण मुक्त कराने की पहल शुरू हो गई है. धनतेरस के शुभ मौके पर प्रथम चरण में गुरुवार को नगर निगम को 3 इलेक्ट्रिक कार (Electric Car) सौंपी गई.

    • Share this:
    Krishna Shukla

    अयोध्या. राम नगरी अयोध्या (Ayodhya) को प्रदूषण मुक्त कराने की पहल शुरू हो गई है. धनतेरस के शुभ मौके पर प्रथम चरण में गुरुवार को  नगर निगम को 3 इलेक्ट्रिक कार (Electric Car) सौंपी गई. नगर निगम के कार्यालय में एक निजी मोटर कंपनी के अधिकारियों ने महापौर ऋषिकेश उपाध्याय और नगर आयुक्त विशाल सिंह को तीन इलेक्ट्रिक कार की चाबी सौंपी. यह तीनों कार ध्वनि प्रदूषण व वायु प्रदूषण से मुक्त है. अब महापौर ऋषिकेश उपाध्याय नगर आयुक्त विशाल सिंह व सहाय नगर आयुक्त इलेक्ट्रिक कार से चलेंगे.

    महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने बताया कि राम नगरी अयोध्या को प्रदूषण मुक्त कराने के लिए प्रथम चरण में तीन कारें नगर निगम मिली है. आगे भी संख्या इनकी बढ़ाई जाएगी. वहीं दूसरी तरफ कंपनी के स्थानीय डीलर के मैनेजिंग डायरेक्टर गौरव सिंह ने बताया कि अभी नगर निगम को 3 कारों की डिलेवरी दी गई है. जल्द ही सरकारी कार्यालयों में भी इलेक्ट्रिक कार उपलब्ध कराई जाएगी ताकि शहर प्रदूषण मुक्त हो सकें.



    ये भी पढ़ें:  दिल्ली HC का आदेश, 33 निजी अस्पतालों में 80 फीसदी ICU बेड COVID-19 मरीजों के लिए करें रिजर्व 


    धनतेरस पर मिली सौगात

    धनतेरस के दिन नगर निगम को 3 इलेक्ट्रिक कार सौंपी गई है. राम नगरी अयोध्या में यह पहली तीन कार होंगी जो शहर में ध्वनि प्रदूषण वायु प्रदूषण से मुक्त होकर चलेगी. अयोध्या में दीपोत्सव की धूम है. ऐसे में धनतेरस के शुभ मौके पर नगर निगम ने तीन इलेक्ट्रिक कार को परचेज किया है. वहीं दूसरी तरफ अयोध्या में दीपोत्सव का उल्लास छाया हुआ है. राम की पैड़ी में जहां दीपक जलाने के इंतजाम किए जा रहे हैं. वहीं भगवान राम के राज्य अभिषेक के लिए राम कथा पार्क को भी सजाया जा रहा है. ऐसे में नगर निगम को धनतेरस के दिन इलेक्ट्रिक कार मिलना शुभ माना जा रहा है. जल्द ही नगर निगम और इलेक्ट्रिक कार का आर्डर देगा ताकि नगर निगम के सभी अधिकारी इलेक्ट्रिक कार से सफर कर सकें. महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने बताया कि यह प्रदूषण मुक्त करने का प्रथम चरण का अभियान है जल्द ही इसे और आगे बढ़ाया जाएगा.


    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज