बरेली में खुदाई के दौरान मिट्टी धंसने से 8 मजदूर दबे, 7 को बाहर निकाला

मौजूद मजदूर ने बताया कि हम लोग केबिल बिछाने का काम कर रहे थे. हमारा पायलट फंस गया था. उसे निकालने के लिए हम लोगों ने जेसीबी मंगवाई. आठ आदमी गड्ढे के नीचे से पाइप काट रहे थे. तभी मिट्टी धंस गई.

News18Hindi
Updated: July 30, 2018, 11:44 PM IST
News18Hindi
Updated: July 30, 2018, 11:44 PM IST
उत्तर प्रदेश के बरेली में केबिल बिछाने के लिए चल रही खुदाई के दौरान मिट्टी धंसने से आठ मजदूर दब गये. घटना की सूचना मिलते ही मौके पर जिला और पुलिस प्रशासन के साथ रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंच गयी. मिट्टी के नीचे से 7 मजदूरों को बाहर निकाल कर अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जबकि एक की तलाश जारी है.

मिली जानकारी के मुताबिक, घटना बरेली के पीलीभीत बाईपास रोड पर फहम लॉन बारात घर और वुडरो स्कूल के पास की है. यहां एक निजी टेलीकॉम कम्पनी की केबिल बिछाने के लिए खुदाई की जा रही थी. इसी दौरान मिट्टी की ढ़ांग गिरने से काम कर रहे आठ मजदूर मिट्टी में दब गए. पहले ऐसा कहा जा रहा था कि 4 मजदूरों की मौके पर मौत हो गई. जबकि 6 से अधिक मजदूर गंभीर रूप से घायल बताये जा रहे थे.

वहीं मौके पर मौजूद मजदूर ने बताया कि हम लोग केबिल बिछाने का काम कर रहे थे. हमारा पायलट फंस गया था. उसे निकालने के लिए हम लोगों ने जेसीबी मंगवाई. आठ आदमी गड्ढे के नीचे से पाइप काट रहे थे. तभी मिट्टी धंस गई. मजदूर ने बताया कि सभी साथी बंगाल के रहने वाले हैं.

बरेली के डीएम वीरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि मिट्टी के धंसने से आठ मजदूर दब गए, जिनमें से सात लोगों को बाहर निकाल लिया गया है. अभी हमारा जोर जो लोग मिट्टी के नीचे दब गए हैं उन्हें निकालकर चिकित्सा उपलब्ध कराने पर है. इसके बाद मामले की जांच की जाएगी.

इसे भी पढ़ें-
बाढ़ से बेहाल उत्तर भारत, त्रासदी के लिए कसूरवार कौन, हम या नदियां?
कांग्रेस का प्‍लान- राफेल होगा बोफोर्स का तोड़, 'मुस्लिम' नहीं 'अल्‍पसंख्‍यक' पर जोर
Loading...
पुणे में हिंसक हुआ मराठा आरक्षण आंदोलन, 40 बसों में लगाई आग
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर