एटा: दबंगों की पिटाई से महिला का हुआ गर्भपात, पुलिस अधिकारी पूछ रहे- क्या ऐसी कोई घटना हुई?

मामले में पुलिस की घोर लापरवाही भी देखने को मिली है. सात दिन पुरानी इस घटना में पुलिस ने न कोई कार्रवाई की और न ही आला अधिकारियों को इसकी खबर है.

Manoj Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 3, 2019, 3:35 PM IST
एटा: दबंगों की पिटाई से महिला का हुआ गर्भपात, पुलिस अधिकारी पूछ रहे- क्या ऐसी कोई घटना हुई?
एएसपी संजय कुमार
Manoj Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 3, 2019, 3:35 PM IST
एटा में कानून-व्यवस्था किस तरह से चरमरा गई हैं इसकी बानगी उस वक्त देखने को मिली जब एक पांच माह की गर्भवती महिला पर दबंगों का जमकर कहर टूटा. गर्भवती महिला की पिटाई से उसका गर्भपात हो गया और उसे गंभीर हालत में आगरा के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है. लेकिन मामले में पुलिस की घोर लापरवाही भी देखने को मिली है. सात दिन पुरानी इस घटना में पुलिस ने न कोई कार्रवाई की और न ही आला अधिकारियों को इसकी खबर है.

मंगलवार देर रात जब पांच माह के भ्रूण को लेकर पीड़िता के परिजनों ने कोतवाली नगर में हंगामा काटा तो इस पूरे मामले की बात सामने आई. एक सप्ताह पूर्व हुई घटना में दबंगों के खिलाफ मामला दर्ज होने के बाद भी पुलिस सोती रही. पूरे मामले में जब न्यूज 18 ने पुलिस के आला अधिकारियों से जानकारी चाही तो अफसर इलाका पुलिस से पूछताछ करते नजर आए कि क्या इस तरह की भी कोई घटना जनपद में हुई है.

दरअसल, शहर कोतवाली के किदवई नगर क्षेत्र में 27 जून की रात एक शादी समारोह में गए परिवार की महिलाओं के साथ डीजे पर डांस कर रहे साजिद, नजीम, आदिल और आधा दर्जन दबंगों ने छेड़खानी शुरु कर दी. उनकी हरकतों का विरोध वहां मौजूद मेराज अली और उसके परिवार ने किया. जिसके बाद दबंगों ने परिवार की महिलाओं और उनकी लड़कियों के साथ मारपीट शुरु कर दी. दबंगों ने मंजूर अली की गर्भवती बहू तब्सुम को भी नहीं छोड़ा और उसके पेट पर जमकर लात-घूसों पिटाई की. घटना के बाद सभी दबंग फरार हो गए. दबंगों की पिटाई से पीड़िता के गर्भ में पल रहा 5 माह के भ्रूण की मौत हो चुकी थी. गंभीर अवस्था में पीड़िता को उसके परिजन जिला अस्पताल लाए, जहां उसकी नाजुक हालत देखकर डॉक्टरों ने उसे आगरा के रेफर कर दिया.

घटना के बाद परिजन गंभीर अवस्था में तबस्सुम को आगरा के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत बेहद नाजुक बनी हुई है. वहीं इस पूरे मामले में पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिंय निशान खड़े हो रहे हैं. मामले में एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी इलाक पुलिस ने कोई कार्यवाई नहीं की. आलम ये था कि इतनी बड़ी घटना के बाद भी घटना की जानकारी पुलिस के आला अधिकारियों तक को नहीं थी. वहीं जब इस मामले में मीडिया द्धारा सवाल पूछे जाने पर पुलिस के आला अधिकारी इलाका पुलिस से पूछताछ कर लीपापोती में लगे रहे और मामले में आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ते नजर आए.

एएसपी संजय कुमार ने बताया कि मामले में तीन नामजद और अन्य अज्ञात के खिलाफ अभियोग पंजीकृत कर कार्रवाई की जा रही है. अभी तक किसी की गिरफ़्तारी नहीं हुई है.

ये भी पढ़ें:

OBC टू SC के दांव पर ओमप्रकाश राजभर ने योगी को घेरा, कहा- मुर्ख बना रही सरकार
Loading...

मुजफ्फरनगर: बदमाशों ने दरोगा को गोली मारकर कुख्यात को छुड़ाया
First published: July 3, 2019, 3:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...