Delhi- Ncr से पैदल चलकर एटा पहुंचे 548 श्रमिक, घर भेजने के लिए 10 बसों का किया गया इंतजाम
Etah News in Hindi

Delhi- Ncr से पैदल चलकर एटा पहुंचे 548 श्रमिक, घर भेजने के लिए 10 बसों का किया गया इंतजाम
बसों में बैठते श्रमिक मजदूर.

रेलवे ने कहा कि उसने देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) लागू होने के बाद विभिन्न राज्यों में फंसे प्रवासी कामगारों के लिए एक मई से अब तक 115 श्रमिक विशेष ट्रेनें चलाई हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
एटा. दिल्ली एनसीआर से पैदल चलकर 548 श्रमिक उत्तर प्रदेश के एटा जनपद (Etah district) में पहुंच गए. इसके बाद जिला प्रशासन ने उन्हें गंतव्य स्थान तक पहुंचाने के लिए रोडवेज (Roadways) की 10 बसों का इंतजाम किया. जिला प्रशासन ने सभी बसों में खाना, पानी, मास्क, और सेनेटाइजर की व्यवस्था भी की है. पूरे देश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए देश में लॉकडाउन (Lockdown) है. इसमें सबसे ज्यादा परेशानी श्रमिकों को हुई. उनकी नौकरी छिन गई, जिसके बाद वे वापस अपने घर जा रहे हैं. यूपी सरकार ने इन्हें रोडवेज बसों से घर वापस भेजने का फैसला किया, जिसके चलते एटा जनपद में आज 10 बसों से 548 श्रमिकों को उनके गंतव्य स्थान तक जिला प्रशासन ने पहुंचाने के लिए बीड़ा उठाया.

जानकारी के मुताबिक, जिला प्रशासन ने श्रमिकों की सुविधा के लिए उन्हें भोजन कराया और मास्क वितरित किए. साथ ही सभी बसों को सैनिटाइज कर यात्रियों को बिठाया गया. सफर में खाना खाने के लिए लंच पैकेट के साथ पानी की बोतल दी गई हैं. वहीं, बस पर बैठाने से पहले यात्रियों की स्कैनिंग भी की गई, ताकि अगर किसी में भी कोरोना के लक्षण हो तो उसका उपचार किया जाए. इसके लिए भी जिला प्रशासन ने पूरी तैयारियां कर रखी थीं. साथ ही बसों में सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा गया है.

अब तक 115 श्रमिक विशेष ट्रेनें चलाई गई हैं
रेलवे ने कहा कि उसने देशव्यापी लॉकडाउन लागू होने के बाद विभिन्न राज्यों में फंसे प्रवासी कामगारों के लिए एक मई से अब तक 115 श्रमिक विशेष ट्रेनें चलाई हैं और एक लाख से अधिक प्रवासी श्रमिकों को उनके घर पहुंचाया है. इसी क्रम में एनसीआर क्षेत्र से पैदल चलकर एटा पहुंचे श्रमिकों को जिला प्रशासन  ने बस से उन्हें उनके गंतव्य स्थान तक पहुंचाने का बीड़ा उठाया है. जिलाधिकारी सुखलाल भारती ने सभी बसों को सैनिटाइज कराया और सभी लोगों को मास्क वितरण किए गए.



अन्य जरूरत की वस्तुओं को उपलब्ध करा रहे हैं


जिलाधिकारी का कहना है कि वे जनपद में खाने पीने से लेकर दवा व अन्य जरूरत की वस्तुओं को उपलब्ध करा रहे हैं. किसी भी तरीके की जनपद वासियों को परेशानी नहीं होने दी जाएगी. इसके लिए जिलाधिकारी ने 2 दर्जन से अधिक टीम जनपद में लगा रखी है. टीम का काम यह है कि अगर किसी व्यक्ति को कोई परेशानी है तो उसकी समस्या को तत्काल दूर करना चाहिए. साथ ही जनपद वासियों को लॉकडाउन में घरों से बाहर न निकल पाए इसके लिए हर सुविधा उनके घर तक पहुंचने चाहिए.

ये भी पढ़ें- 

दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, कैट्स एंबुलेंस सेवा के 46 कर्मचारी हुए संक्रमित

गौतमबुद्ध नगर में 214 हुई कोरोना मरीजों की संख्या, 118 लोग हुए स्वस्थ
First published: May 9, 2020, 9:49 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading