अपना शहर चुनें

States

विकास करके हम खुद को अगड़ा समझने लगे, बीजेपी ने हमें पिछड़ा बना दिया: अखिलेश

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की रैली (फाइल फोटो)
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की रैली (फाइल फोटो)

अखिलेश यादव ने कहा कि आज देश में 10 फीसदी लोगों के पास देश की सबसे ज्यादा सम्पत्ति है जबकि सबसे बड़ी आबादी थोड़े में ही संतोष कर रही है.

  • Share this:
अपने विजन डॉक्यूमेंट में अगड़ा बनाम पिछड़ा कार्ड खेलने के बाद अखिलेश यादव ने बुधवार को एटा की रैली में भी यह मुद्दा उठाया. अखिलेश यादव ने जीआईसी इंटर कॉलेज में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि विकास करके हम खुद को अगड़ा समझने लगे थे, लेकिन बीजेपी ने हमें फिर से पिछड़ा बना दिया.

अखिलेश यादव ने कहा, "आगरा एक्सप्रेसवे बनाकर हमने समझा हम अगड़े हो गए. लैपटॉप और विधवा पेंशन देकर हमने समझा कि हम अगड़े हो गए. लेकिन बीजेपी ने हमें पिछड़ा बना दिया. हमारे ऊपर आरोप लगता है कि हमने यादवों को नौकरी दी. ये बताएं कि इन लोगों ने आरक्षण में परिवर्तन क्यों किया?"

अखिलेश यादव ने कहा कि आज देश में 10 फीसदी  लोगों के पास देश की सबसे ज्यादा सम्पत्ति है जबकि सबसे बड़ी आबादी थोड़े में ही संतोष कर रही है. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने 10 फ़ीसदी आरक्षण आर्थिक आधार पर दिया है. हम इसके विरोधी नहीं हैं. हम तो कहते हैं कि गिनती करवा लो और आबादी के हिसाब से और भी ज्यादा हिस्सा दे दो. जिसकी जितनी आबादी हो उसकी हिस्सेदारी उतनी हो. आज तो आधार भी बन गया है. जनगणना भी हुई है. आंकड़े मौजूद हैं, लेकिन हमें नहीं पता कि किसकी कितनी आबादी है."



अखिलेश यादव ने वादा किया कि जब दिल्ली में समाजवादी सरकार बनेगी तो हम जातिगत जनगणना के आंकड़े जारी करेंगे. ताकि देश की जनता जान जाए कि किसकी कितनी आबादी है. वरना हम ऐसे ही आपस में लड़ते रहेंगे.
इससे पहले जनसभा को संबोधित करते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बालाकोट में एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के एफ-16 फाइटर प्लेन के मार गिराए जाने के दावे पर सवाल उठाया. साथ ही कहा कि वायुसेना के फाइटर पायलट अभिनंदन की वापसी में सरकार नहीं अमेरिका का हाथ था.

अखिलेश ने कहा, " अभिनन्दन की रिहाई में अमेरिका का हाथ था. अगर अमेरिका ने छोड़ने की बात न कही होती तो पाकिस्तान हमारे पायलट को कभी नहीं छोड़ता. बताओ इसमें बीजेपी सरकार का क्या हाथ था? अमेरिका कह रहा है कि एफ-16 प्लेन को नहीं गिराया गया. तो हम बीजेपी सरकार की बात कैसे मान लें. आज अगर हमारी सीमाएं सुरक्षित हैं तो इसके पीछे हमारे जवानों का हाथ है. इसमें बीजेपी सरकार का क्या हाथ है?"

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज