Home /News /uttar-pradesh /

योगी सरकार का प्रेरणा ऐप बना एक शिक्षक की मौत की वजह

योगी सरकार का प्रेरणा ऐप बना एक शिक्षक की मौत की वजह

शिक्षक को नहीं आता था प्रेरणा ऐप सेल्फी अपलोड करना

शिक्षक को नहीं आता था प्रेरणा ऐप सेल्फी अपलोड करना

स्कूल बंद करते समय सेल्फी लेने के लिए ही शिक्षक ने अपने बेटे को बुलाया था क्योंकि उन्हें स्मार्ट फोन चलाना नहीं आता था.

    एटा. दो दिन पहले यूपी सरकार द्वारा लॉन्च प्रेरणा ऐप (prerna App) एक शिक्षक की मौत का सबब बन गया. प्राइमरी स्कूल (Primary School) बंद कर सेल्फी ले कर बेटे के साथ आ रहे 50 वर्षीय शिक्षक की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई. वहीं उनके 22 साल के बेटे की हालत गंभीर है जिसे आगरा रेफर किया गया है. वैसे इस ऐप का प्राइमरी टीचर हमेशा से ही विरोध करते रहे हैं.

    ये घटना थाना रिजोर क्षेत्र की है. जहां सकीट रोड पर बाइक से स्कूल से घर जा रहे शिक्षक व उनके बेटे को बोलेरो ने रौंद दिया. जिससे बाइक सवार शिक्षक की मौके पर ही मौत हो गई. बता दें कि सरकार ने एक प्रेरणा ऐप लॉन्च किया है जसमें स्कूल खोलते और बंद करते समय शिक्षकों को सेल्फी लेकर ग्रुप पर पोस्ट करना है.

    स्कूल बंद करते समय सेल्फी लेने के लिए ही शिक्षक ने अपने बेटे को बुलाया था क्योंकि उन्हें स्मार्ट फोन चलाना नहीं आता था. वहीं शिक्षक विद्यालय बंद कर अपनी एक सहकर्मी शिक्षिका के साथ बाइक से घर जा रहे थे. इस एक्सिडेंट में जहां शिक्षक की मौके पर ही मौत हो गई. तो वहीं बेटे व एक सहकर्मी शिक्षिका गंभीर घायल हो गए.

    मौके पर पहुंची पुलिस ने शिक्षक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. गंभीर हालत में शिक्षक के बेटे और सहकर्मी शिक्षिका को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जहां से शिक्षक के बेटे को आगरा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया है.
    (सुमित शर्मा की रिपोर्ट)

    ये भी पढ़ें: 

    AMU: मार्च निकालने वाले कश्मीरी छात्रों पर देशद्रोह का केस दर्ज करने की मांग

    संस्कृत के क्षेत्र में भविष्य तलाश रहीं मेरठ की ये मुस्लिम बेटियां...

    आपके शहर से (एटा)

    Tags: Etah news, Government primary schools, Yogi adityanath

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर