लाइव टीवी

Lockdown: एटा के जेल सुपरिंटेंडेंट की पहल, प्रतिदिन दो सौ लोगों को खिलाएंगे खाना...
Etah News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: March 27, 2020, 12:23 AM IST
Lockdown: एटा के जेल सुपरिंटेंडेंट की पहल, प्रतिदिन दो सौ लोगों को खिलाएंगे खाना...
एटा जनपद के बॉर्डर पर पहुंच रहे लोगों की व्यवस्था में जुटा पुलिस-प्रशासन

गुड़गांव, दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, पानीपत, अलीगढ़ जनपदों से लोग पैदल ही अपने घरों को लौट रहे हैं जिनकी सुविधा के लिए जिलाधिकारी सुखलाल भारती (Etah DM Sukhlal Bharti) ने रोडवेज की बसों से उनके पैतृक स्थान तक पहुंचाने का जिम्मा उठाया है...

  • Share this:
एटा. जनपद में कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को रोकने को लेकर हुए लॉकडाउन (Lockdown) के बाद पुलिस (police) ने सतर्कता बढ़ा दी है, तो वहीं अन्य जिलों से आ रहे लोगों की व्यवस्था में भी प्रशासन पूरी तरीके से जुट गया है. ऐसे में मानवीय पहलू दिखाते हुए एटा के जेल सुपरिंटेंडेंट ने व्यक्तिगत खर्चे पर दो सौ जरूरतमंद लोगों को खाना खिलाने का जिम्मा उठाया है. वहीं प्रशासन की देख-रेख में जनपद के बॉर्डर पर अन्य जनपदों से आने वाले लोगों का मेडिकल चेकअप कराया जा रहा है. साथ ही जनपदवासियों को खाद्य सामग्री घरों में ही उपलब्ध कराई जा रही है जिससे कि किसी को कोई असुविधा न हो और लोग अपने घरों से बाहर न निकलें.

घरों को लौट रहे पैदल लोगों के लिए कराई गई व्यवस्था
एटा के जिलाधिकारी सुखलाल भारती (Etah DM Sukhlal Bharti) एसएसपी सुनील कुमार (SSP Sunil Kumar) व जेल सुपरिंटेंडेंट पीपी सिंह (Jail Superintendent) ने दूरदराज से आ रहे लोगों के लिए खाने और पीने के पानी का इंतजाम किया है और जनपद के बॉर्डर पर लोगों का चेकअप कराने के लिए Medical Equipment's का इंतजाम कर रखा है. बता दें कि गुड़गांव, दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, पानीपत, अलीगढ़ जनपदों से लोग पैदल ही अपने घरों को लौट रहे हैं जिनकी व्यवस्था के लिए जिलाधिकारी ने रोडवेज की बसों से उनके पैतृक स्थान तक पहुंचाने का जिम्मा उठाया है. जिलाधिकारी सभी लोगों को खाने के साथ-साथ उनके पैतृक घर तक पहुंचाने का भी इंतजाम अपनी देख-रेख में सम्पन्न करा रहे हैं. साथ ही जनपद वासियों को भी किसी तरीके की कोई दिक्कत न हो इसलिए खाद्य सामग्री की व्यवस्था भी कराई गई है.

जनपद में ई-रिक्शा व अन्य माध्यमों से खाद्य सामग्री जरुरतमंदों तक पहुंचाई जा रही है जिससे कि लोग अपने घरों से न निकले. जेल सुपरिंटेंडेंट पीपी सिंह ने भी मानवीय पहलू दिखाते हुए अपने निजी खर्च पर प्रतिदिन दो सौ लोगों को खाना खिलाने की व्यवस्था की है. बॉर्डर पर पहुंचे लोग दो दिन से लगातार पैदल चल कर यहां पहुंचे हैं ऐसे में जिला प्रशासन ने खाने और पीने के लिए पानी की व्यवस्था कर रखी है इन्हें खाने पैकेट और पानी की बोतल दी जा रही है. जेल सुपरिंटेंडेंट पीपी सिंह का कहना है कि वह जब तक लॉकडाउन रहेगा तब तक जरूरतमंद लोगों के भोजन की हर संभव व्यवस्था वो करते रहेंगे और लगभग दो सौ लोगों को प्रतिदिन खाने व पानी का इंतजाम वो अपने निजी खर्च पर करेंगे. वहीं जिलाधिकारी सुखलाल भारती का कहना है कि सभी लोगों को खाद्य सामग्री घर-घर पहुंचाई जा रही है जिससे कि लोग घरों से बाहर न निकलें और साथ ही दूरदराज से आ रहे लोगों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए बसों का इंतजाम कराया गया है. जनपद में बाहर से आए लोगों की एंट्री के साथ-साथ उनका डॉक्टरी परीक्षण भी कराया जा रहा है. उसके बाद उन्हें खाने-पीने की व्यवस्था के साथ उनके गंतव्य की ओर रवाना किया जा रहा है.



ये भी पढ़ें- COVID-19: लखनऊ में कम्युनिटिंग पुलिसिंग, Lockdown में दिहाड़ी मजदूरों को खिला रही खाना


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए एटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 27, 2020, 12:23 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading