जिन्ना प्रकरण पर बीजेपी सांसद ने कहा- स्वामी प्रसाद मौर्या माफी मांगे, या फिर निकाला जाए बाहर  

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में मोहम्मद अली जिन्ना की फोटो लगाने वाले तत्वों को कठोरता से कुचलने की जरुरत है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 2, 2018, 1:43 PM IST
जिन्ना प्रकरण पर बीजेपी सांसद ने कहा- स्वामी प्रसाद मौर्या माफी मांगे, या फिर निकाला जाए बाहर  
एटा से बीजेपी सांसद हरनाथ सिंह
News18 Uttar Pradesh
Updated: May 2, 2018, 1:43 PM IST
एटा से बीजेपी सांसद हरनाथ सिंह ने मोहम्मद अली जिन्ना को महापुरुष बताए जाने पर यूपी सरकार के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य पर पलटवार किया है. एटा सांसद ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेन्द्रनाथ पांडेय और यूपी संगठन मंत्री सुनील बंसल को ट्वीट कर कहा है कि स्वामी प्रसाद मौर्या का बीजेपी से मोह भंग हो रहा है. मौर्या या तो अपने बयान के लिए माफी मांगे या फिर उन्हें पार्टी से निकाला जाए.

ट्वीट के बाद मीडिया से बातचीत में एटा सांसद हरनाथ सिंह ने कहा, “अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में मोहम्मद अली जिन्ना की फोटो लगाने वाले तत्वों को कठोरता से कुचलने की जरुरत है. दूसरा, हमारे उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री ने जिन्ना को महापुरुष कहा है. मुझे लगता है कि स्वामी प्रसाद मौर्या का पार्टी के प्रति मोहभंग हुआ है. इसी को लेकर आज मैंने प्रधानमंत्री, राष्ट्रीय अध्यक्ष, मुख्यमंत्री, प्रदेश अध्यक्ष और संगठन महामंत्री को एक ट्वीट किया है. जिसमें मैंने मांग की है कि स्वामी प्रसाद मौर्या या तो माफ़ी मांगे या फिर उन्हें पार्टी से निकाला जाए.”

मौर्या के बयान को वोटों की तुष्टिकरण करने की एक कोशिश वाले सवाल के जवाब में हरनाथ सिंह ने कहा मुझे लगता है बीजेपी से उनका मन भर गया है. उन्हें उस समय को यद् करना चाहिए जब वे एमएलए बनने के लिए बीजेपी की चौखट पर गिडगिडा रहे थे. जब विधायक बन गए और पार्टी ने उन्हें मंत्री बना दिया तो फिर इस तरह की हरकतें किसी भी प्रकार से उचित नहीं है.

एएमयू में जिन्ना की फोटो मामले में कार्रवाई को लेकर सांसद ने कहा, जिन लोगों ने लंबे समय से ये काम किया है, उन लोगों को तत्काल गिरफ्तार कर जेल की सीखचों के पीछे भेजा जाना चाहिए. इतना ही नहीं उन लोगों पर देशद्रोह का मुकदमा भी दर्ज होना चाहिए.

उन्होंने कहा कि वे वे एएमयू जिन्ना फोटो प्रकरण को पार्टी के राष्ट्रीय नेताओं के समक्ष उठाएंगे. हरनाथ सिंह ने एएमयू के कुलसचिव और विश्वविद्यालय प्रशासन को भी इसके लिए जिम्मेदार मानते हुए कार्रवाई की मांग की. उन्होंने कहा मैंने एएमयू वीसी और पीआरओ के बयान टीवी पर सुने. वे लोग सभी उसका सपोर्ट कर रहे हैं. दरअसल, एएमयू में राष्ट्रद्रोह की मानसिकता विकसित हो गई है जो आगे भी ट्रान्सफर हो रही है. इस मानसिकता को तोड़ने की और खत्म करने की जरुरत है.

गौरतलब है कि स्वामी प्रसाद मौर्या के बयान के बाद बीजेपी नेताओं में घमासान मचा है. मेरठ में स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान पर गरमाई राजनीति गरमा गई है. जिन्ना को महापुरुष बताने के विरोध में बुधवार को सैकड़ों भाजपाई सड़कों पर उतर आए. बीजेपी व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक विनीत शारदा ने स्वामी प्रसाद मौर्या को पार्टी से बर्खास्त करने की मांग की. उन्होंने कहा कि बसपा छोड़ने के बाद भी स्वामी प्रसाद की मानसिकता नहीं बदली. जिन्ना को महापुरुष कहने वालों को पाकिस्तान चले जाना चाहिए.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर