एटा: न बैंड न बराती, ई-रिक्शे से दुल्हन को ब्याहने पहुंचे दूल्हे राजा
Etah News in Hindi

एटा: न बैंड न बराती, ई-रिक्शे से दुल्हन को ब्याहने पहुंचे दूल्हे राजा
लॉकडाउन के बीच पूरी हुई शादी की रस्में

लॉक डाउन के चलते गाड़ियों की आवाजाही बंद है. ऐसे में में दूल्हे ने बिन बैंड व बाराती ई-रिक्शे में सवार होकर दुल्हन को ब्याहने पहुंचा और सात फेरों के बाद ई-रिक्शा से ही दुल्हन की विदाई कर घर लेकर आ गया.

  • Share this:
एटा. देश भर में कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के कहर के बीच जहां कुछ लोग मनमानी करते हुए लॉकडाउन (Lockdown) की धज्जियां उड़ा रहे हैं, वहीं कुछ लोग इसका पालन कर मिसाल पेश कर रहे हैं. एक ऐसा ही मामला एटा (Etah) जनपद के पिलुआ थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम नगरिया में सामने आया है. यहां लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए नव दंपति हिन्दू रीति रिवाज से वधु की मांग भर सात फेरों के बंधन में बंधे.

लॉकडाउन के चलते गाड़ियों की आवाजाही बंद है. ऐसे में में दूल्हे ने बिन बैंड व बाराती ई-रिक्शे में सवार होकर दुल्हन को ब्याहने पहुंचा और सात फेरों के बाद ई-रिक्शा से ही दुल्हन की विदाई कर घर लेकर आ गया. शादी की रस्मों के दौरान वहां मौजूद सभी लोगों ने मास्क भी पहना हुआ था. इतना ही नहीं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी किया.

दरअसल, अलीगढ़ जनपद के गांव भदेशी में रहने वाले रामवीर शर्मा के पुत्र नीतेश शर्मा की शादी 12 मई को तय हुई थी. लड़के के पिता ने मात्र पांच लोगों का पास बनवाकर थाना पिलुआ निवासी अजय पाल शर्मा की पुत्री संगीता शर्मा के साथ मंगलवार को हिन्दू रीति रिवाज के अनुसार शादी की रस्में पूरी कीं. शादी सम्पन्न होने के बाद वह दुल्हन लेकर अपने ग्राम भदेशी वापस आ गए. शादी में पांच घराती और पांच बराती ही शामिल हुए. इस संबंध में विवाहित जोड़े ने कहा है कि हम लोगों ने लॉकडाउन का पालन करते हुए शादी की है. यह भी जीवन में एक यादगार पहचान बनी रहेगी. नव जोड़े ने कहा कि अगर कोरोना जैसी महामारी से बचना है तो लॉकडाउन के नियमों का पालन अवश्य करें और देश को इस महामारी से बचाएं. घर पर रहें सुरक्षित रहें.



ये भी पढ़ें:



69000 शिक्षक भर्ती का रिजल्ट वेबसाइट पर अपलोड, तकनीकी कारणों से हुई देरी

COVID-19 Update: लखनऊ में फिर फूटा 'कोरोना बम', 14 नए केस मिले
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading