प्रवासी मजदूरों को रोजगार दिलाने के लिए DM ने की अहम पहल, जानकर हो जाएंगे खुश
Etah News in Hindi

प्रवासी मजदूरों को रोजगार दिलाने के लिए DM ने की अहम पहल, जानकर हो जाएंगे खुश
तालाब का निरीक्षण करते जिलाधिकारी.

खास बात यह है कि तालाब (pond) खुदाई के दौरान महिला मजदूरों को भी प्राथमिकता के आधार पर काम दिलवाया जा रहा है.

  • Share this:
एटा. उत्तर प्रदेश के एटा (Etah) जनपद में जिलाधिकारी प्रवासी मजदूरों को मनरेगा (MANREGA) के तहत काम दिलाकर यूपी सरकार के निर्देशों का अनुपालन कर रहे हैं. वे जनपद में आए सभी प्रवासी मजदूरों के जॉब कार्ड बनाकर उन्हें काम उपलब्ध करा रहे हैं. जिला अधिकारी एटा सुखलाल भारती (Sukhlal Bharti) द्वारा बाहरी राज्यों से आने वाले सभी प्रवासी मजदूरों के लिए काम की व्यवस्था की जा रही है. साथ ही जिला अधिकारी ग्राम पंचायतों में चल रहे मनरेगा के कार्यों का निरीक्षण भी कर रहे हैं. शुक्रवार को सुखलाल भारती ने विकासखंड सटीक में बीडीओ मदन वर्मा के साथ मनरेगा कार्यों का निरीक्षण किया. इस दौरान उन्होंने पंचायत सचिव पर कार्रवाई भी की.

आपको बता दें इस वक्त तीन गावों में मनरेगा के तहत तालाब खुदाई का कार्य किया जा रहा है. इसका निरीक्षण करने के लिए डीएम सुखलाल भारती मौके पर पहुंचे और प्रवासी मजदूरों के जॉब कार्ड बनवाकर मनरेगा कार्य के तहत उन्हें काम दिलवाया. साथ ही निरीक्षण के दौरान मजदूरों के खाते में पंचायत सचिव द्वारा मानदेय का भुगतान न किए जाने पर उनको कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया.

सकारात्मक परिणाम सामने आने लगा है
खास बात यह है कि तालाब खुदाई के दौरान महिला मजदूरों को भी प्राथमिकता के आधार पर काम दिलवाया जा रहा है. कहीं न कहीं जिला अधिकारी सुखलाल भारती ने प्रवासी मजदूरों के लिए रोजगार की जनपद में ही तमाम राह खोल दी हैं. डीएम सुखलाल भारती की यह पहल यूपी सरकार के निर्देशों के अनुपालन में की जा रही है, जिसका एक सकारात्मक परिणाम सामने आने लगा है.



एनसीआर से पैदल चलकर 548 श्रमिक एटा पहुंचे थे


बता दें कि बीते दिनों दिल्ली एनसीआर से पैदल चलकर 548 श्रमिक उत्तर प्रदेश के एटा जनपद में पहुंच गए थे. इसके बाद जिला प्रशासन ने उन्हें गंतव्य स्थान तक पहुंचाने के लिए रोडवेज की 10 बसों का इंतजाम किया था. जिला प्रशासन ने सभी बसों में खाना, पानी, मास्क, और सेनेटाइजर की व्यवस्था भी की थी. पूरे देश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए देश में लॉकडाउन है. इसमें सबसे ज्यादा परेशानी श्रमिकों को हुई. उनकी नौकरी छिन गई, जिसके बाद वे वापस अपने घर जा रहे हैं. यूपी सरकार ने इन्हें रोडवेज बसों से घर वापस भेजने का फैसला किया, जिसके चलते एटा जनपद में आज 10 बसों से 548 श्रमिकों को उनके गंतव्य स्थान तक जिला प्रशासन ने पहुंचाने के लिए बीड़ा उठाया था.

ये भी पढ़ें- 

बंदर भगाने वाला निकला कोरोना पॉजिटिव, रेल भवन के कई अधिकारी क्वारंटाइन

Lockdown के बाद दिल्ली मेट्रो में कैसा होगा सफर, जानिए 10 प्वाइंट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading