अपना शहर चुनें

States

फंड रिलीज होने के बाद भी नहीं बने टॉयलेट, नाराज DM ने कहा- खुले में शौच जाने वालों को भेजें जेल

गांव का निरीक्षण करने पहुंचे डीएम साफ़-सफाई से दिखे नाराज
गांव का निरीक्षण करने पहुंचे डीएम साफ़-सफाई से दिखे नाराज

अनियमितता को देखते हुए डीएम ने खुले में शौच करने वालों को सीधे जेल में डालने का आदेश दिया है.

  • Share this:
एटा. जिले के जलेसर क्षेत्र स्थित शाह नगर टिमरूआ गांव में मंगलवार को निरीक्षण के लिए जिलाधिकारी सुखलाल भारती (DM Sukhlal Bharti) पहुंचे थे. इस दौरान गांव में चौपाल के दौरान डीएम ने कई अनियमितताएं देखीं. उन्होंने ग्राम प्रधान को नोटिस देने के साथ ही खुले में शौच (ODF) जाने वालों को जेल भेजने का आदेश दिया. डीएम द्वारा दिए गए आदेश में साफ तौर पर कहा गया है कि जो लोग खुले में शौच जाते हैं उन्हें पकड़ कर जेल भेजा जाए. इसके लिए डीएम ने तहसीलदार, बीडीओ, थानेदार व सेक्रेटरी की ड्यूटी लगाई है.

दरअसल, डीएम जलेसर क्षेत्र स्थित शाह नगर टिमरूआ गांव के निरीक्षण के लिए गए थे. बताया जा रहा है कि डीएम सुखलाल भारती गांव में जन चौपाल लगाने गए थे. निरीक्षण के दौरान भारी मात्रा में अनियमितताएं पाईं. इसी अनियमितता को देखते हुए डीएम ने खुले में शौच करने वालों को सीधे जेल में डालने का आदेश दिया है. सबसे बुरी स्थिति गांव में सफाई व्यवस्था की थी. नालियां कीचड़ से पटी पड़ीं थीं. चारों तरफ गंदगी का अंबार था. गांव में शौचालय भी पूरी तरह से नहीं बने हुए थे जबकि पैसा शासन की तरफ से पहले ही भेज दिया गया.

ग्राम प्रधान को दिया नोटिस



निरीक्षण के दौरान डीएम गांव के समीप बने तालाब पर गए तो वहां भी चारों तरफ गंदगी देखकर उन्होंने खुले में शौच जाने वालों के खिलाफ सख्ती से निपटने का मन बनाया. जिलाधिकारी ने गांव में पैसा पहुंचने के बाद भी विकास कार्यों में लापरवाही बरतने को लेकर सचिव शैलेंद्र कुमार को निलंबित कर दिया. इसके अलावा शौचालय निर्माण में बरती गई लापरवाही के लिए ग्राम प्रधान शकुंतला को नोटिस भी दे दिया. साथ ही ग्राम प्रधान के अधिकार भी सीज कर दिए जाने की चेतावनी दे डाली.
ये भी पढ़ें:

यूपी के व्यापारियों को पेंशन देने पर विचार कर रही सूबे की योगी सरकार

राम मंदिर के लिए एटा में मुस्लिम कारीगरों ने बनाया 2100 किलो का घंटा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज