लाइव टीवी

कलेक्ट्रेट पर किसानों में बांधे अपने गाय, बछड़े और बैल, बैठे धरने पर

ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 15, 2017, 7:26 PM IST

एटा के जिला प्रशासन को जगाने की खातिर कलेक्ट्रेट मुख्यालय पर किसानों के साथ-साथ पशु भी धरने में शामिल हुए.

  • Share this:
आपने लोगों को अपनी समस्याओं के लिए धरना देते हुए देखा और सुना तो होगा, लेकिन पशु भी अगर धरने में शामिल हो तो आपको थोड़ा आश्चर्य तो जरूर होगा. जी हां, ये सच है. एटा के जिला प्रशासन को जगाने की खातिर कलेक्ट्रेट मुख्यालय पर किसानों के साथ-साथ पशु भी धरने में शामिल हुए. किसानों ने सरकारी तंत्र के खिलाफ अपनी मांगों को लेकर पशुओं के साथ धरना-प्रर्दशन किया.

समग्र विकास परिषद के बैनर तले पांच दिन से जारी धरना-प्रर्दशन में इस बार किसानों के साथ साथ उनके पशु भी शामिल हुए. कलैक्ट्रेट धरना स्थल पर किसान अपने गाय, बछड़े और बैलों के साथ धरने पर बैठे है. अपनी 20 सूत्रीय मांगों को लेकर पिछले पांच दिन से धरना दे रहे किसानों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है. इसकी वजह जिलाधिकारी कार्यालय से सटे धरना स्थल पर प्रशासन का कोई भी आला अधिकारी किसानों की समस्याओं के निराकरण और उन्हें आश्वासन देने के लिए नहीं पहुंचा है.

सोते प्रशासन को जगाने के लिए किसान अपने पशुओं के साथ धरने पर बैठे है, वहीं प्रशासन को चेतावनी देते हुए अखिल यादव (राष्ट्रीय अध्यक्ष, समग्र विकास परिषद) ने कहा कि अगर शीघ्र उनकी समस्याओं का निराकरण न हुआ तो बड़ी संख्या में किसान जनपद के थानों में अपने पशुओं को बांध कर प्रर्दशन करेंगें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए एटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2017, 6:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...