Home /News /uttar-pradesh /

एटा जिले के इस थाने में 19 सालों में दर्ज हुई सिर्फ दो FIR, अफसर भी हैरान

एटा जिले के इस थाने में 19 सालों में दर्ज हुई सिर्फ दो FIR, अफसर भी हैरान

एटा के जीआरपी थाने में दर्ज हुई है महज दो एफआईआर.

एटा के जीआरपी थाने में दर्ज हुई है महज दो एफआईआर.

एटा जीआरपी थाना (GRP Police Station Etah) इलाके में पूरी तरह से शांतप्रिय माहौल होने का दावा कर रहा है. हालांकि, एटा अपराधग्रस्‍त जिलों की लिस्‍ट में आता है.

    एटा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अपराधग्रस्त जिले के नाम से जाना जाने वाले एटा (Etah District) में एक ऐसा भी थाना है, जहां पर 19 वर्षों में मात्र दो ही एफआईआर दर्ज हुई है. सोलह साल तक थाने की जीडी में एक भी शिकायत दर्ज नहीं की गई. अपराध की इतनी कम संख्या को लेकर पुलिस विभाग भी हैरान है कि आखिर ऐसा कैसे होता रहा? लेकिन, यह सच है कि एटा जीआरपी (GRP Police Station Etah) का थाना पूरी तरह से शांतप्रिय माहौल होने का दावा कर रहा है.

    रेलवे कॉलोनी स्थित जीआरपी थाना की स्थापना वर्ष 2001 में हुई थी. इससे पहले तक एटा जिले में जीआरपी की चौकी ही थी. एटा से टूंडला तक चलने वाली पैसेंजर ट्रेन की सुरक्षा संबंधी जिम्मेदारी पहले चार सिपाहियों के जिम्मे थी, लेकिन जब से थाने की स्थापना हुई तो एक प्रभारी, एक हेड कांस्टेबल सहित आठ जवानों की ड्यूटी लगाई गई. थाने का संचालन होने के बाद से वर्ष 2016 तक थाने में रखी जीडी पूरी तरह से खाली पड़ी रही. लंबे समय तक जीआरपी थाना में एक भी एफआईआर दर्ज नहीं हुई. वर्ष 2016 में ट्रेन की बोगी में एक शव मिला तब जाकर पहली एफआईआर दर्ज की गई. इसके बाद वर्ष 2019 में कुछ अराजक तत्वों ने गेटमैन के साथ मारपीट की वारदात को अंजाम दिया. उसके बाद इस थाने में दूसरी एफआईआर दर्ज हुई. एटा अपराधग्रस्त जिलों की सूची में शामिल है. लोगों की भी ही ऐसी धारणा है, लेकिन एफआईआर दर्ज होने रिकॉर्ड यही बताते हैं कि यह दावे खोखले हैं.

    आठ छोटे-बड़े स्टेशनों की निगरानी करता है जीआरपी थाना

    जीआरपी थाना की पुलिस एटा और आगरा बॉर्डर की अंतिम स्टेशन बरहन तक निगरानी करती है. एटा जिले की शाह नगर टिमरूआ स्टेशन अंतिम स्टेशन है. जीआरपी के दो सिपाही ट्रेन के साथ जाते हैं जो ट्रेन ले जाने और लाने का काम करते हैं. थाने की स्थापना होने के बाद से ट्रेन में अब तक किसी भी तरह की लूट या चोरी की वारदात नहीं हुई है.

    etah grp police station
    थाना प्रभारी प्रताप सिंह ने कहा कि यहां क्राइम नहीं हो रहा है.


    'क्राइम हो ही नहीं रहा'

    थाना प्रभारी प्रताप सिंह ने बताया कि जब से यह थाना बना है उसके बाद से महज दो ही एफआईआर दर्ज हुई है. आखिरी एफआईआर गेटमैन के साथ मारपीट की लिखी गई थी. उन्होंने कहा कि जब कोई क्राइम हो ही नहीं रहा तो मुकदमा कैसे लिखा जाए.

    (रिपोर्ट: सुमित कुमार)

    ये भी पढ़ें-

    हमसफर रिजॉर्ट केस: आजम खान के बाद अब तत्कालीन अधिकारियों पर कार्रवाई के आदेश

    राजभर की पार्टी का जिला उपाध्यक्ष निकला वाहन चोर गैंग का सरगना, हुआ गिरफ्तार

    Tags: Etah news, Up news in hindi, UP police

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर