UP: बड़े बेटे ने थाने में दर्ज कराया पिता की हत्या का केस, छोटा भाई ही निकला कातिल

आरोपी बेटे ने पिता की हत्याकर शव को गांव के बाहर ईंट भट्टे के पास झाड़ियों में फेंक दिया था.

आरोपी बेटे ने पिता की हत्याकर शव को गांव के बाहर ईंट भट्टे के पास झाड़ियों में फेंक दिया था.

Etah News: एसएसपी उदय शंकर सिंह ने बताया कि गिरफ्तार मुख्य आरोपी सत्यभान मृतक राधेश्याम का सबसे छोटा लड़का है. आरोपी सत्यभान ने पिता राधेश्याम से मोबाइल खरीदने के लिये रुपये मांगे लेकिन उसने पैसे देने से मना कर दिया था. इसी बात से क्षुब्ध होकर सत्यवान ने पिता की गला दबाकर हत्या कर दी.

  • Share this:

अजयेंद्र शर्मा.

एटा. जिले में पुलिस ने एक अधेड़ की हत्या का खुलासा किया है. पुलिस के खुलासे में चौंकाने वाला मामला सामने आया है. कलयुगी बेटे ने ही अपने दोस्तों के साथ मिलकर महंगे मोबाइल के लिए रुपये न देने पर गला दबाकर हत्या कर दी थी. फिलहाल पुलिस ने मुख्य आरोपी बेटे सहित उसके दोस्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है और आवश्यक कार्रवाई शुरू कर दी है. पूरा मामला एटा जिले के थाना पिलुआ क्षेत्र के गांव भदवास का है, जहां सत्यभान नामक युवक ने अपने पिता की इसलिए हत्या कर दी थी कि उसने महंगा मोबाइल फोन खरीदने के लिए रुपये नहीं दिए थे.

29 मई को राधेश्याम पुत्र वंशीधर निवासी ग्राम भदवास थाना पिलुआ जिला एटा की अज्ञात व्यक्तियों द्वारा हत्याकर शव को ग्राम भदवास स्थित ईंट भट्टे के पास झाड़ियों में फेंक दिया था. मृतक के बड़े बेट सुखवीर ने थाना पिलुआ में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया था. तभी से लगातार पुलिस हत्यारों की तलाश में जुटी हुई थी तभी पुलिस की तफ्तीश में पता चला हत्या किसी और ने नहीं बल्कि मृतक के छोटे बेटे सत्यभान ने ही की है.

एसएसपी उदय शंकर सिंह ने बताया कि गिरफ्तार मुख्य आरोपी सत्यभान मृतक राधेश्याम का सबसे छोटा लड़का है. उसके अनुसार उसके पिता राधे श्याम पिछले छः वर्षो में करीब 6 बीघा जमीन बेच चुके थे. पंद्रह दिन पहले एक बीघा जमीन 2 लाख 55 हजार रुपयों में बेची थी, जिसमें मृतक को मात्र 45000 रुपये मिले थे. 7000 रुपये उसके बडे़ भाई अनिल को, 15000 रुपये उसकी छोटी बहिन सुकन्या को और 2000 रुपये उसको दिये थे. 21000 रुपये उसके पिता के पास थे. उसके बाद 25 मई को उसका पिता राधेश्याम तथा गांव के ही संदीप उर्फ भोला, विकास, विनोद तथा अजीत एक साथ बैठकर शराब पी रहे थे. उसी दौरान आरोपी सत्यभान ने पिता राधेश्याम से मोबाइल खरीदने के लिये रुपये मांगे लेकिन उसने पैसे देने से मना कर दिया.
इसी बात से क्षुब्ध होकर सत्यभान ने वहीं मौके पर ही पिता राधेश्याम का गला दबाकर हत्या कर दी. विकास ने मृतक राधेश्याम के गमछे से हाथ-पैर बांध दिये और सत्यभान के कहने पर भोला उर्फ संदीप व अजीत ने मृतक के शव को एक डण्डे पर लटका कर भदवास भट्टे के पास झाडियों में फेंक दिया. इसके एवज में सत्यभान ने संदीप उर्फ भोला व अजीत को 500-500 रुपये दिये थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज