लाइव टीवी

सेना के जवान के साथ यूपी पुलिस की बदसलूकी, घसीटते हुए दरोगा ले गया थाने

ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 13, 2017, 3:39 PM IST

सेना के जवानों के साथ सूबे में कैसा व्यवहार किया जाता है इसकी एक बानगी एटा जिले में देखने को मिला है. दिवाली की छुट्टी पर घर आए बीएसएफ जवान का आरोप है कि पुलिस उगाही का विरोध करने पुर एटा पुलिस उसे घसीटकर थाने पर ले गई और उसके साथ मारपीट की.

  • Share this:
सेना के जवानों के साथ सूबे में कैसा व्यवहार किया जाता है इसकी एक बानगी एटा जिले में देखने को मिला है. दिवाली की छुट्टी पर घर आए बीएसएफ जवान का आरोप है कि पुलिस उगाही का विरोध करने पुर एटा पुलिस उसे घसीटकर थाने पर ले गई और उसके साथ मारपीट की.

रिपोर्ट के मुताबिक इलाकाई पुलिस उगाही के लिए पिछले 15 दिनों से पीड़ित जवान के पिता की कैंटीन पर लगातार दबाव बना रही थी. गुरुवार शाम जब उसके पिता ने अवैध वसूली का विरोध किया तो पुलिस पिता के साथ मारपीट की. लेकिन जब जवान ने पुलिस की अभद्रता पर आपत्ति दर्ज की तो एसएचओ मिरहची राकेश कटियार जवान को घसीटते हुए अपने साथ थाने ले गया.

रिपोर्ट कहती है जवान ने अपने साथ हुई पुलिसिया नाइंसाफी पर डीएम अमित किशोर से शिकायत दर्ज कराई तो डीएम ने भी जवान को बीएसएफ की नौकरी भुला देने की बात कही. वहीं, डीएम से शिकायत करने की बात पता चलते ही एसएचओ मिरहची आगबबूला हो गया और कथित रुप से हवालात में बंद जवान को जूता उतारकर मारना शुरु कर दिया.

पीड़ित जवान अपने साथ हुए बर्बरतापूर्ण व्यवहार से बेहद आहत है और  प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री से न्याय की गुहार की है वरना बीएसएफ की नौकरी छोड़ने तक की धमकी दी है. वहीं पूरे मामले पर पुलिस कप्तान अखिलेश चौरसिया ने भी मातहतो की वकालत करते हुए घटना के लिए जवान को ही जि्म्मेदार ठहराया है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए एटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 13, 2017, 2:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...