लाइव टीवी

वाह रे बिजली विभाग! न मीटर लगा, न ही तार खिंचा, फिर भी बिल आ गया 1.82 लाख

Manoj Srivastava | ETV UP/Uttarakhand
Updated: August 1, 2017, 11:52 AM IST
वाह रे बिजली विभाग! न मीटर लगा, न ही तार खिंचा, फिर भी बिल आ गया 1.82 लाख
एटा निवासी इस्लाम मलिक

उत्तर प्रदेश के एटा जिले में बिजली विभाग का एक और कारनामा सामने आया है. यहां एक झोपड़ी में रहने वाले इस्लाम को बिजली विभाग ने 1.82 लाख का बिजली बिल थमाया है. इतना ही नहीं भुगतान न करने पर जेल भेजने की धमकी भी दी जा रही है.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के एटा जिले में बिजली विभाग का एक और कारनामा सामने आया है. यहां एक झोपड़ी में रहने वाले इस्लाम को बिजली विभाग ने 1.82 लाख का बिजली बिल थमाया है. इतना ही नहीं भुगतान न करने पर जेल भेजने की धमकी भी दी जा रही है.

हरियाणा के फरीदाबाद में सब्जी का ठेला लगाकर अपनी रोजी रोटी चलाने वाले इस्लाम मलिक परेशान हैं. उनके घर न बिजली का तार खिंचा, न मीटर लगा और न ही रोशनी हुई, लेकिन 1.82 हजार का बिल जरुर थमा दिया गया है. इस्लाम का कसूर सिर्फ इतना ही कि उसने अपनी झोपड़ी में बिजली का कनेक्शन लेने के लिए करीब 20 साल पहले आवेदन किया था. इसके लिए उसने 400 रूपये जमा भी किये थे. कनेक्शन तो नहीं मिला लेकिन दो साल पहले उसे भारी भरकम बिल जरुर थमा दिया गया.

बिजली विभाग ने उसके नाम की आरसी भी काट दी है. अब बिल न भुगतान करने पर उसे जेल भेजने की धमकी दी जा रही है. अब इस्लाम ने उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा से इंसाफ की गुहार लगाई है.

शहर कोतवाली से 4 किमी दूर स्थित नगला तेली गांव में इस्लाम एक कमरे की कच्ची सी झोपड़ी में रहता है. इस्लाम आज उस पल को कोस रहा है जब करीब उसने बिजली के मीटर के लिए आवेदन किया था. इसके लिए इस्लाम ने 400 रुपये भी विभाग में जमा कर दिया.

आवेदन जमा होने के बाद विभाग के जेई आए और कच्ची झोपड़ी को देखकर मीटर लगाने से मना कर दिया और कहा कि तुम्हारे जमा किए पैसे भी अब वापस नहीं होंगे.

इस बीच आर्थिक तंगी से जूझ रहा ये परिवार अपने पत्नी और बच्चों को लेकर दो वक्त की रोटी के लिए फरीदाबाद चला गया जहां वो सब्जी का ठेला लगाकर अपने परिवार का भरण पोषण करने लगा. इस्लाम के पैरों तले उस समय जमीन खिसक गई जब करीब दो साल पहले बिजली विभाग ने 1.82 लाख का बिल गांव स्थित घर में पहुंचा दिया. गांव के लोगों ने जब इस्लाम से संपर्क साधा तो ये सुन इस्लाम के होश फाख्ता हो गए.

गरीब इस्लाम का कहना है कि इतना बड़ा बकाया कैसे जमा करेगा जबकि उसकी झोपड़ी में मीटर लगा नहीं, तार खिंचे नहीं और उसने बिजली जलाई नहीं. फरीदाबाद से बार-बार एटा आकर इस्लाम अधिकारियों के आगे अपनी बेबसी और बेकसूरी का रोना रोता रहा, लेकिन किसी के कानों में जूं तक नहीं रेंगी और आरसी काट ये फरमान सुना दिया कि बिल जमा नहीं हुआ तो तुम्हे जेल जाना होगा.इस पूरे मामले में दरअसल मीटर ना लग पाने पर रिपोर्ट जेई और एसडीओ को देनी थी, लेकिन उन्होंने नहीं दी जिसका खामियाजा इस्लाम भुगत रहा है. इतना ही नहीं विभाग में बैठ दलालों ने इस्लाम की मजबूरी का फायदा उठाकर मामला खत्म करने के नाम पर 50 हजार ले लिया, लेकिन नतीजा वही ढाक के तीन पात. बीबी के गहने जेवर बेचकर इस्लाम ने ये रकम दी थी.

अब दो साल से विभाग के चक्कर लगा कर हार चुके इस्लाम ने उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा से इंसाफ दिलाने की गुहार लगाई है. वहीं इस पूरे मामले पर विभाग के आला अधिकारी कैमरे का सामना करने से बचते नजर आए.

यह भी पढ़ें: अब यूपी में पहुंचा महिलाओं के बाल काटने वाला 'अनदेखा साया', लोगों में दहशत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए एटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 1, 2017, 11:52 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर