लाइव टीवी

जब मुर्दों ने किया जिलाधिकारी के आवास का घेराव...

Manoj Srivastava | ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 17, 2018, 6:27 PM IST

मतदाता सूची में बीएलओ-तहसीलदार द्धारा इतनी बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं के नाम हटाने को लेकर विधायक ने इसे षणयंत्र करार दिया है.

  • Share this:
एटा में मुर्दों ने जिलाधिकारी आवास का घेराव किया. ये सुनकर आपको आश्चर्य जरूर हो रहा होगा लेकिन यहीं सच है, क्योंकि मतदाता सूची में उन्हें मृत बताया दिया गया है. बीजेपी विधायक सत्यपाल सिंह राठौर के साथ ये सैकड़ों लोग बीजेपी विधायक सत्यपाल सिंह राठौर के साथ अपने जीवित होने का प्रमाण लेकर पहुंचे. उनका कहना है कि इसमें ज्यादातर बीजेपी के कार्यकर्ता हैं.

जिलाधिकारी के आवास के बाहर ये वो मुर्दे हैं जिन्हें वोटर लिस्ट में या तो मृत दिखा दिया गया है, या फिर उनके नाम काट दिये गये हैं. कोई एक नाम नहीं बल्कि हजारों की संख्या में लोग हैं जिन्हें मतदाता सूची में मृत दिखाया गया हैं. जीवित होते हुए भी वोटर लिस्ट में मृतक दर्शाए जाने के बाद अब इन्हें अपने जीवित प्रमाण पत्र के साथ जीवित होने की जंग लड़नी पड़ रही है.

अलीगंज विधायक सत्यपाल सिंह राठौर ने इन सभी लोगों की डीएम के सामनें परेड कराई. मतदाता सूची में बीएलओ-तहसीलदार द्धारा इतनी बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं के नाम हटाने को लेकर विधायक ने इसे षणयंत्र करार दिया है. लाख कोशिशें करने के बाद भी उनकी कोई सुनवाई ना होते देख बीजेपी विधायक ने पूरे मामले में दोषियों के खिलाफ एफआईआर और निलंबन किये जाने की चेतावनी देते हुए कहा कि यदि इन पर कार्रवाई नहीं की गयी तो वो 19 मार्च से धरने पर बैठेंगे.

ये भी पढ़ें

सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिया 12, 460 BTC अभ्यर्थियों को जल्द नियुक्ति देने के निर्देश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए एटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 17, 2018, 6:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...