• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • इटावा सफारी देखकर गदगद हुए 21 अमेरिकी पर्यटक, विजिटर बुक में बांधे तारीफों के पुल

इटावा सफारी देखकर गदगद हुए 21 अमेरिकी पर्यटक, विजिटर बुक में बांधे तारीफों के पुल

इटावा सफारी पहुंचे अमेरिकी एंबेसी से 21 पर्यटक.

इटावा सफारी पहुंचे अमेरिकी एंबेसी से 21 पर्यटक.

Uttar Pradesh News: अमेरिकी पर्यटक सफारी पार्क को देख कर गदगद हैं. वो सफारी पार्क की भव्यता से काफी खुश हैं. शानदार सफारी का निर्माण करने के लिए उन्होंने धन्यवाद दिया. सफारी में नेचुरल एयर है जो शहर के अंदर नहीं है. कुछ पर्यटकों का कहना था कि ऐसा लगाता है कि इटावा सफारी में आने के बाद अफ्रीका की सफारी के अंदर आ गया. यहां ग्रीनरी (हरियाली) बहुत अधिक है. बिल्कुल भी प्रदूषण नहीं है

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

इटावा. अखिलेश सरकार के कार्यकाल के दौरान तैयार हुई इटावा सफारी (Etawah Safari) देशी-विदेशी पर्यटकों (Foreign Tourists) को काफी लुभा रही है. शनिवार को अमेरिकी दूतावास (American Embassy) में काम करने वाले 21 लोग अपने परिवार के साथ सफारी पार्क घूमने पहुंचे. इससे इटावा सफारी के अधिकारियों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा. इससे पहले एक साथ इतने विदेशी पर्यटक कभी भी सफारी का भ्रमण करने के लिए नहीं आये थे. सफारी भ्रमण करने आये 21 अमेरिकी नागरिकों में 11 पुरूष और दस महिलाएं थीं. यह सभी देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) स्थित अमेरिकी दूतावास में कार्य करते हैं.

अमेरिकन एंबेसी में कार्यरत अधिकारी और उनके परिवार के सदस्य चंबल सफारी के संचालक रामप्रताप सिंह की अगुवाई में इटावा सफारी घूमने आये थे. सिंह ने बताया कि तीन दिन के चंबल भ्रमण पर अमेरिकी अधिकारी और उनके परिवार के करीब 30 सदस्य यहां आये हुए हैं. इनमें से आठ सदस्य बटेश्वर में भ्रमण पर हैं. शनिवार को दोपहर बाद 71 वर्षीय डॉ. फ्रेजियर के सरंक्षण में यह सभी सदस्य इटावा सफारी पहुंचे. सफारी भ्रमण करने के बाद फ्रेजियर ने विजिटर बुक में सफारी के निर्माण से लेकर व्यवस्था और बेहतर प्रबंधन के बारे में तारीफों के पुल बांधे. उन्होंने शानदार शब्दों में कमेंट लिख पर्यटकों को सफारी आने का संदेश दिया.

सफारी पार्क घूमकर गदगद हुए अमेरिकी पर्यटक

अमेरिकी पर्यटक सफारी पार्क को देख कर गदगद हैं. वो सफारी पार्क की भव्यता से काफी खुश हैं. शानदार सफारी का निर्माण करने के लिए उन्होंने धन्यवाद दिया. सफारी में नेचुरल एयर है जो शहर के अंदर नहीं है. कुछ पर्यटकों का कहना था कि ऐसा लगाता है कि इटावा सफारी में आने के बाद अफ्रीका की सफारी के अंदर आ गया. यहां ग्रीनरी (हरियाली) बहुत अधिक है. बिल्कुल भी प्रदूषण नहीं है.

उन्होंने बताया कि वो अपने साथ साइकिल भी लेकर आये हैं, ताकि चंबल में साइकिल चलाकर आंनद का एहसास कर सकें. सिंह ने उम्मीद जताई कि अमेरिकन एंबेसी में काम करने वाले विदेशियों का इतनी बड़ी तादाद में आना इस बात का संकेत दे रहा है कि आने वाले दिनों में अन्य देशों के दूतावासों में काम करने वाले लोग भी सफारी का भ्रमण कर सकते हैं.

कड़ी सुरक्षा के बीच पर्यटकों को सफारी का भ्रमण कराया गया

इटावा सफारी पहुंचे अमेरिकियों ने इसके मुख्य गेट पर पत्थर के बने शेरों के सामने फोटो सेशन भी कराया. उन्हों कड़ी सुरक्षा के बीच सफारी में भ्रमण कराया गया. सफारी के क्षेत्रीय वन अधिकारी विनीत सक्सेना ने सभी पर्यटकों को भ्रमण कराया. उन्होंने बताया कि दोपहर करीब साढ़े तीन बजे अमेरिकी पर्यटकों का दल सफारी आया जो शाम सवा छह बजे के बाद भ्रमण कर वापस लौट गया. उन्होंने बताया कि अमेरिकी पर्यटकों को सफारी में मौजूद सभी वन्य जीवों का दीदार कराया गया. जिसका सभी ने खूब आंनद लिया. अमेरिकी पर्यटकों ने डायरेक्टर के.के सिंह और डिप्टी डायरेक्टर अरूण सिंह से भी मुलाकात की. इससे पहले दिसंबर 2019 में तीन जापानी पर्यटक अपने भारतीय परिचितों के साथ इटावा सफारी पार्क का दीदार करने के लिए आए थे.

बता दें कि 24 नंबवर, 2019 को शुभारंभ के बाद लगातार देशी-विदेशी पर्यटकों के सफारी आने का सिलसिला जारी है. 26 नवंबर को एक जर्मन युगल आया ता. उसके बाद जापानी पर्यटकों की आमद ने सफारी की लोकप्रियता को बढ़ाया, लेकिन अब एक साथ 21 अमेरिकी पर्यटकों ने यहां पहुंचकर प्राकृतिक आवास में वन्य जीवों को करीब से देखा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज