अपना शहर चुनें

States

इटावा: गैंगस्टर अनीस पासू के खिलाफ शुरू हुआ एक्शन तो पीड़ित परिवार बोला- CM योगी से बंधी न्याय की उम्मीद

शिकायतकर्ता फैजल और उनके भाई जावेद
शिकायतकर्ता फैजल और उनके भाई जावेद

इटावा (Etawah): शिकायतकर्ता फैजल और उसके भाई जावेद ने कहा कि माफियाओं के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों के क्रम में इटावा के एसएसपी आकाश तोमर की अगुवाई में माफिया अनीस पासू के खिलाफ हो रही कार्रवाई सुकून भरी है.

  • Share this:
इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा जिले (Etawah) के कुख्यात गैंगस्टर अनीस पासू (Gangster Anees Pasu) के खिलाफ संपति सीज की कार्रवाई के बाद शिकायतकर्ता परिवार बेहद खुश दिख रहा है. न्यूज 18 से बातचीत में शिकायतकर्ता फैजल और उनके भाई जावेद ने कहा कि माफियाओं के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दिए गए निर्देशों के क्रम में इटावा के एसएसपी आकाश तोमर की अगुवाई में माफिया अनीस पासू के खिलाफ हो रही कार्रवाई सुकून भरी है. शिकायतकर्ता फैजल का कहना है कि अगर एसएसपी आकाश तोमर ने होते तो गैंगस्टर माफिया अनीस पासू गैंग के खिलाफ किसी भी सूरत मे इतनी बड़ी कार्रवाई संभव नहीं थी. इस कार्रवाई के बाद उन्हें न्याय की उम्मीद बंध चली है.

एसएसपी की निगरानी से झूठ केस में फंसने से बचा पीड़ित परिवार

उन्होंने कहा कि जिस ढंग से पुलिस प्रशासन की संयुक्त रूप से कार्रवाई की जा रही है, उससे ऐसा लगता है कि उनको जल्द ही पूर्ण न्याय भी मिल जायेगा. जिसकी एक लंबे समय से तलाश थी. फैजल के भाई जावेद का कहना है कि पासू एक ऐसा छुपा हुआ अपराधी रहा है, जिसकी मुखालफत करना किसी भी व्यक्ति के बहुत हिम्मत की जरूरत होती है. उसने और उसके परिवार ने पासू के खिलाफ शिकायत की तो उसने उसके परिवार के छह सदस्यों को हत्या के प्रयास के झूठे मामले मे फंसाने की कोशिश की. वो तो एसएसपी आकाश तोमर की निगरानी का नतीजा रहा कि हत्या के प्रयास के झूठे मामले से ना केवल बचे बल्कि उन आरोपियों के खिलाफ भी कार्रवाई की गई, जो कही ना कही षड्यंत्र मे शामिल रहे हैं.



अनीस पासू की 6 करोड़ की संपत्ति हुई कुर्क
बता दें इटावा जिले में 50 हजार के इनामी कुख्यात अनीस उर्फ पासू की 6 करोड़ रुपये की संपत्ति पुलिस ने सोमवार को कुर्क कर दी. इसमें 6 मकान और एक शापिंग काम्प्लेक्स शामिल है. डीएम श्रुति सिंह और एसएसपी आकाश तोमर के निर्देश पर कुख्यात अपराधी और घोषित भूमाफिया अनीस उर्फ पासू के मकान में छापेमारी की. पुलिस फोर्स को देखकर क्षेत्र में हड़कंप मच गया. पुलिस टीम को मकान में भूमाफिया व उसका कोई रिश्तेदार नहीं मिला. पुलिस ने सबसे पहले माफिया के मकान को कुर्क करने के लिए मेन गेट में ताला डालकर उसे सील कर दिया. इसके बाद पुलिस ने मोहल्ले में स्थित माफिया के पांच अन्य मकानों में भी छापेमारी की.

ये हुई कार्रवाई

पुलिस ने पांचों मकान में रहने वाले किरायेदारों से मकान खाली कराया. इस दौरान पुलिस की किरायेदारों से नोकझोंक भी हुई. किरायेदारों को समझाने के बाद पुलिस ने पांचों मकानों को सील कर दिया. इसके बाद पुलिस फोर्स पुराना बस स्टैंड रोड स्थित पाशू के सितारा शापिंग काम्प्लेक्स पहुंची. जहां कपड़े, कास्मेटिक समेत अन्य 20 दुकानें थीं. पुलिस ने सभी दुकानदारों से दुकान खाली कराई और उनको सील कर दिया. ऐसा भी सुनने को मिला है कि पुलिस प्रशासन पर माफिया की संपत्ति कुर्क नहीं करने का दबाव सत्ता व विपक्ष के लोग करते रहे. बावजूद इसके एसएसपी आकाश तोमर ने कोर्ट में अर्जी देकर संपत्ति कुर्क करने का वारंट लिया. पासू पर हाल ही में आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने 50 हजार का इनाम घोषित किया था. पासू को पकड़ने के लिए टीमें लगातार दबिश दे रही हैं. जो संपत्ति कुर्क की गई है, वह पासू ने अपराध जगत में पांव रखने के बाद अर्जित की थी. अब इन संपत्तियों की नीलामी की कार्रवाई की जाएगी.



50 हजार का इनाम है अनीस पर

यूपी में गुंडाराज को खत्म करने के लिए योगी सरकार की कार्रवाई लगातार जारी है. इसी कड़ी मे इटावा जिले के कुख्यात गैंगेस्टर अनीस पासू पर जिला प्रशासन ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई की. प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए गैंगेस्टर की छह करोड़ की संपत्ति सीज की है. यही नहीं फरार गैंगस्टर पासू को जिंदा या मुर्दा पकड़ने के लिए पुलिस ने 50 हजार का इनाम भी घोषित किया है. पिछले माह 27 अक्टूबर को इटावा की कोतवाली पुलिस ने उसके भाई हनीफ उर्फ डब्बू, नासिर और चमन वारसी को गिरफ्तार किया था. फैजल खान नामक शख्स से अनीस पासू का जमीन को लेकर विवाद चल रहा था. अनीस के गिरोह के सदस्यों ने उसकी दुकानों का बैनामा करा लिया था. एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि अनीस पासू पर जिले भर में करीब 45 आपराधिक मामले दर्ज हैं. गैंगस्टर के बेटे इरफान उर्फ मुन्ना के खिलाफ हत्या समेत सात आपराधिक, पासू के भाई हनीफ पर हत्या समेत आठ आपराधिक मामले दर्ज हैं.

एसएसपी ने बताया कि गैंगस्टर पासू रंगदारी के अलावा हत्या के प्रयास की साजिश करने के मामले में फरार चल रहा है. अदालत से उम्रकैद की सजा पाये हुए पासू पैरोल पर जेल से बाहर रहते हुए कई संगीन वारदातो को अंजाम देने के जुटा हुआ था. पुलिस ने गहनता से कराई तहकीकात के बाद पासू के खिलाफ शिकायते सही पाये जाने के बाद कार्रवाई शुरू की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज