Home /News /uttar-pradesh /

UP Election 2022: जब चंबल के खूंखार डाकू तहसीलदार सिंह ने दी थी मुलायम को चुनौती! पढ़िए ये रोचक स्टोरी

UP Election 2022: जब चंबल के खूंखार डाकू तहसीलदार सिंह ने दी थी मुलायम को चुनौती! पढ़िए ये रोचक स्टोरी

Etawah News: चुनाव में मुलायम के सामने बागी दस्यु सम्राट के अलावा कांग्रेस के टिकट पर बाहुबली दर्शनसिंह यादव थे. (File photo)

Etawah News: चुनाव में मुलायम के सामने बागी दस्यु सम्राट के अलावा कांग्रेस के टिकट पर बाहुबली दर्शनसिंह यादव थे. (File photo)

UP Politics: चुनाव के दौरान नगला बाबा गांव में मुलायम-दर्शन के समर्थकों के बीच जमकर नारेबाजी और गोलीबारी हुई थी. बंदूकों और गोलियों की आवाजों के बीच ऐसी भगदड़ मच गई थी कि कवरेज के लिए मौजूद पत्रकारों तक को पास के मकानों में घुसकर अपनी जान बचानी पड़ी थी. पूरा विधान सभा क्षेत्र सुरक्षाबलों की छावनी के रूप में तब्दील हो चुका था.

अधिक पढ़ें ...

इटावा. उत्तर प्रदेश के चुनावी रण (UP Election 2022) में तमाम पार्टियों के दिग्गज नेता प्रचार-प्रसार में लगे हैं. जनता के सामने एक-दूसरे पर निजी हमले कर रहे हैं. यूपी की राजनीति की कहानी मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) के बिना अधूरी है. एक पुराना किस्सा है, जब इटावा (Etawah News) की जसवंतनगर सीट में उनको चंबल के खूंखार दस्यु सरगना ने चुनौती दी थी. सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव का सबसे मजबूत किला कहे जाने वाली उत्तर प्रदेश के इटावा जिले की जसवंतनगर विधानसभा सीट पर हराने के लिए चंबल के खूंखार डाकू तहसीलदार सिंह को सहारा भारतीय जनता पार्टी ने लिया था. लेकिन चुनावी हिंसा के कारण इस चुनाव को रद्द कर दिया गया था. यह रोचक वाक्या साल 1991 का है. जब भारतीय जनता पार्टी ने मुलायम सिंह यादव के खिलाफ चंबल के खूंखार डाकू रहे तहसीलदार सिंह को चुनाव मैदान में उतारा था. 90 के दशक में राम मंदिर आंदोलन चरम पर था.

बता दें कि उस वक्त प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी थी और कल्याण सिंह प्रदेश के मुखिया बने थे. उस समय पत्रकार और आज के नामी वकील मोहिसन अली ने न्यूज18 से बातचीत में बताया कि 15 मार्च 1991 को दस्यु सम्राट एवं भाजपा उम्मीदवार तहसीलदार सिंह ने इटावा कलेक्ट्रेट के एतिहासिक वट वृक्ष के चबूतरे पर बैठकर देश के नामी पत्रकारों को इंटरव्यू दिया था जिसमें उसने राम मंदिर आंदोलन के चलते मुलायम को राक्षस बताकर उन्ही की लंका में हराने का ऐलान किया था. मोहसिन ने बताया कि चुनाव में मुलायम के सामने बागी दस्यु सम्राट के अलावा कांग्रेस के टिकट पर बाहुबली दर्शनसिंह यादव थे.

UP Election: नौतनवा सीट पर बाहुबली MLA अमनमणि त्रिपाठी की राह आसान नहीं! जानें कैसे बदला समीकरण?

चुनाव के दौरान नगला बाबा गांव में मुलायम-दर्शन के समर्थकों के बीच जमकर नारेबाजी और गोलीबारी हुई थी. बंदूकों और गोलियों की आवाजों के बीच ऐसी भगदड़ मच गई थी कि कवरेज के लिए मौजूद पत्रकारों तक को पास के मकानों में घुसकर अपनी जान बचानी पड़ी थी. पूरा विधान सभा क्षेत्र सुरक्षाबलों की छावनी के रूप में तब्दील हो चुका था. चुनावी समर में मुलायम ने अपने दोनों बाहुबली प्रतद्विंदियों को पटखनी देकर जीत हासिल की थी. बाबू दर्शन सिंह ने चुनाव अवैध घोषित करके दोबारा चुनाव कराने की मांग की थी. हालांकि इसी सीट पर विधायक रहते हुए मुलायम ने यूपी की गद्दी संभाली थी.

Tags: BJP, Etawah news, Etawah Police, Mulayam Singh Yadav, Samajwadi party, UP Assembly Election 2022, UP Election 2022, UP news, UP Politics Criminals, इटावा

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर