Etawah news

इटावा

अपना जिला चुनें

Etawah News: अखिलेश यादव का तंज- वाेट के लिए सबसे ज्यादा नौटंकी BJP करती है, वही ममता की चोट को नाटक बता रहे हैं

Etawah News: अखिलेश यादव का तंज- वाेट के लिए सबसे ज्यादा नौटंकी BJP करती है, वही ममता की चोट को नाटक बता रहे हैं

अखिलेश यादव ने भाजपा पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने इटावा में कहा कि सबसे ज्यादा नाटक भाजपा करती है.

सपा प्रमुख और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का कहना है कि भाजपा सबसे ज्यादा नाटक करके खुद वोट बटोरने का काम करती है, लेकिन आज वह ममता की चोट और उनके व्हीलचेयर पर प्रचार करने को भाजपा नाटक बता रही है.

SHARE THIS:
इटावा. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने सीएम योगी आदित्यनाथ की बंगाल में प्रचार करने पर सवाल खड़ा करते हुए कहाकि योगी पश्चिम बंगाल मे प्रचार के दरम्यान विकास करने के बात कह रहे हैं. जबकि उत्तर प्रदेश का विकास पूरी तरह से ठप कर दिया है. अखिलेश ने कहा कि सीएम योगी को उत्तर प्रदेश में जनमत मिला लेकिन फिर भी उत्तर प्रदेश की जनता डीजल-पेट्राेल और महंगाई से परेशान है. सरकार दूसरे राज्यों मे प्रचार करके वाहवाही कर रहे हैं.

अखिलेश यादव पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी बंगाल में बोलते है कि वे राम शिव की धरती से आए हैं और बंगाल मे विकास करेंगे, लेकिन उत्तर प्रदेश का विकास पूरी तरह से रोक दिया है. जब यहां का विकास रोक दिया है तो फिर बंगाल में विकास क्या करेगे? उन्होने आरोप लगाया कि सपा सरकार के समय से चल रहे सारे कामों को सीएम योगी ने रोक दिया है. राज्य की कानून व्यवस्था का इस समय बुरा हाल है. योगी ने उत्तर प्रदेश बरबाद कर दिया है. पश्चिम बंगाल को आबाद क्या करेंगे? उन्होने पश्चिम बंगाल की जनता से अपील की है कि वो ममता बनर्जी को दोबारा जिताएं ताकि नफरत फैलाने वाले काबिज ना हो सकें.

सबसे बड़ी नाटककार भाजपा है 

ममता बनर्जी के व्हीलचेयर पर चुनाव प्रचार को भाजपा के नाटक से जुडे सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सबसे ज्यादा नाटक करके खुद वोट बटोरने का काम करती है, लेकिन आज ममता के चोट लगने के कारण व्हील चेयर पर प्रचार कर रही हैं तो भाजपा नाटक बता रही है. कभी भाजपा के लोग कहते थे कि इटावा के लोगों ने डॉक्टर छीन लिए हैं, लेकिन आज इटावा की स्वास्थ्य सेवायें कैसी हैं, यह आप खुद देख लें. उन्होने कहा कि योगी सरकार के चार साल पूरे हो गये हैं, लेकिन उसके बावजूद भी आज तक लायन सफारी चालू नही की जा सकी है. दूसरे यहां से शेरो को ले जाकर गोरखपुर की शान बढ़ाने का काम करने मे लगे हुए हैं.

UP में सरकार चला रही है ठोकों नीति 

पंचायत चुनाव को लेकर उन्होने कहा कि यह खुशी की ही बात है कि सरकार के प्रस्ताव को अदालत ने ठुकरा दिया है. नए सिर से आरक्षण करने को कहा है, लेकिन मुझे कहीं ना कहीं साजिश नजर आती है. उस ओर भी सरकार को देखना चाहिए कि कहीं चुनाव टाल ना दिया जाए. उन्होने कहा कि उत्तर प्रदेश मे बहुत बड़ी ठोको नीति चल रही है. अगर कोई पत्रकार सच दिखायेगा तो उसको भी ठोका जा सकता है. समाजवादी पार्टी किसानों के समर्थन मे खड़ी है. उन्होने कहा कि BJP किसी भी तरह की साजिश कर सकती है.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री  अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में अपराधी बेलगाम हैं लेकिन मुख्यमंत्री पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था सुधारने में व्यस्त हैं. उन्होने कहा कि भाजपा राज में खुद पुलिस पर अपराधी बेखौफ हमलावर हो रहे है. पुलिस का मनोबल गिरा हुआ है. अपराधी सत्ता संरक्षित होने से निडर हैं कि उन पर हाथ डालने वाला पुलिस कर्मी ही निलम्बित होगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

UP में बारिश का कहर, इटावा में अंडर ब्रिज में भरा पानी, यात्रियों से भरी बस फंसी

UP में बारिश का कहर, इटावा में अंडर ब्रिज में भरा पानी, यात्रियों से भरी बस फंसी

Etawa News: शहर में दिनभर हुई तेज बारिश के बाद मैनपुरी अंडरपास में भरा पांच फीट से भी ज्यादा पानी, रोडवेज की बस सहित कई वाहन फंसे, एक घंटे की मशक्कत के बाद बाहर निकाला जा सका लोगों को.

SHARE THIS:

इटावा. पूरे उत्तर प्रदेश में बुधवार और गुरुवार को बारिश का कहर बना रहा. इटावा में भी लगातार हो रही बारिश अब लोगों के लिए परेशानी का सबब बनती जा रही है. दिन भर हुई बारिश के बाद शहर में स्थित मैनपुरी अंडर ब्रिज नदी में तब्दील हो गया. इस दौरान यहां से गुजर रही 40 यात्रियों से भरी रोडवेज बस समेत कई वाहन इसमें फंस गए. हालात ये हो गए कि यात्रियों की जान पर बन गई. जिसके बाद आनन फानन में नगर परिषद की दो जेसीबी को बुलाया गया और बस को बाहर निकाला गया. इस दौरान सभी यात्रियों को सकुशल बाहर निकाल लिया गया.
बस फंस जाने की खबर लगते ही नगर परिषद की पहले एक जेसीबी को बुला कर बस को निकालने का प्रयास किया गया लेकिन विफल होने पर एक और जेसीबी को भी बुलाया गया और करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद बस को बाहर निकाला जा सका. इस दौरान 40 यात्रियों की जान पर बनी रही.

रोका गया यातायात
बस के अंडरपास में फंसने के बाद पुलिस ने दोनों तरफ से यातायात को रोक दिया. इस दौरान एक एक पुलिसकर्मी की कार भी पानी में फंस गई. बाद में कार चालक ने बोनट पर खड़े होकर मदद के लिए फोन किया और उसे भी एक घंटे बाद बाहर निकाला जा सका. एक मोटरसाइकिल सवार भी इस दौरान अंडरपास में फंस गया और गहरे पानी में डूबने लगा. बताया जा रहा है कि उसे पानी की गहराई का अंदाजा नहीं रहा और इसी के चलते वो फंस गया.

पांच फीट से ज्यादा भरा पानी
दिनभर हुई बारिश के बाद मैनपुरी अंडरपास में पांच फीट से भी ज्यादा पानी भर गया. इस दौरान वाहन चालकों के लिए खतरनाक स्थिति पैदा हो गई और कई वाहन चालक पानी में फंस कर जूझते दिखाई दिए. गौरतलब है कि मैनपुरी अंडरपास में ये स्थिति हर साल बारिश के दौरान होती है लेकिन इस तरफ किसी का ध्यान नहीं जाता है. नगर परिषद की ओर से हर साल जलभराव की स्थिति न होने के दावे किए जाते हैं लेकिन मैनपुरी अंडरपास में भरने वाला पानी उन दावों की पोल खोलता नजर आता है.

इटावा: आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर दिल्ली से गोंडा जा रही बस ट्रक से टकराई, चालक समेत दो की मौत,13 घायल

इटावा: आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर दिल्ली से गोंडा जा रही बस ट्रक से टकराई, चालक समेत दो की मौत,13 घायल

Eatwah Agra-Lucknow Expressway Accident: हादसा रात 1 बजे के आसपास हुआ. हादसे के बाद आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर अफरा-तफरी फैल गई. यूपीडा के कर्मियों ने स्थानीय थाना पुलिस को सूचना देने के साथ सभी घायलों को सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में उपचार के लिए भर्ती कराया.

SHARE THIS:

इटावा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के इटावा (Etawah) जिले में सैफई थाना क्षेत्र के अंतर्गत आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस (Agra-Lucknow Expressway) वे पर टिमरुआ कट के पास दिल्ली से गोंडा जा रही बस की टक्कर एक ट्रक से हो गई. इस हादसे (Road Accident) में बस ड्राइवर समेत दो की मौत हो गई, जबकि 13 अन्य घायल हो गए. हादसे की शिकार हुई बस में 65 यात्री सवार थे. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बस हादसे मे मारे गये लोगो के प्रति दुख व्यक्त व्यक्त करते हुए घायलो के निशुल्क उपचार के लिए डीएम और सीएमओ को निर्देशित किया है.

इटावा के एसएसपी डॉ ब्रजेश कुमार सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि हादसे के बाद स्थानीय सैफई थाना पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए घायलों को एंबूलेंस के जरिये सैफई मेडिकल यूनीवसिर्टी में भर्ती कराया। मरने वालों में एक की पहचान चालक के रूप हुई है. चालक दिलीप शुक्ला प्रतापगढ़ का रहने वाला है. जबकि दूसरे की पहचान गोंडा के किशन शुक्ला के रूप में हुई है. यह हादसा सैफई थाना क्षेत्र के आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चैनल नंबर 105 ओर 106 के बीच हुआ. हादसा रात 1 बजे के आसपास हुआ. हादसे के बाद आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर अफरा-तफरी फैल गई. यूपीडा के कर्मियों ने स्थानीय थाना पुलिस को सूचना देने के साथ सभी घायलों को सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में उपचार के लिए भर्ती कराया.

हादसे के वक्त सभी यात्री सो रहे थे
दोनों मृतकों शवों को सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी के मोर्चरी में रखा गया है. दोनों के परिजनों को स्थानीय थाना पुलिस ने जानकारी दे दी है. सैफई मेडिकल यूनीवसिर्टी मे भर्ती घायलों में से एक के तीमारदार ने बताया कि हादसे के समय वो बस में सो रहे थे. जब दुर्धटना हो गई तो आनन फानन में सभी बस यात्रियों को पीछे के दरवाजे से बाहर निकाला गया. उसका कहना था कि बस के आगे ट्रैक्टरनुमा एक गाड़ी जा रही थी, जिसको बचाने के चक्कर मे यह दर्दनाक हादसा घटित हो गया. ऐसा बताया गया कि इस हादसे के कारण 2 घंटे के आसपास आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर आवागमन बंद भी रहा. एक लेन से ही वाहनों को धीमी गति से निकाला जा सका.

Etawah Tuesday Special: हनुमान जी के 'जिंदा' होने का एहसास कराती है इटावा के पिलुआ मंदिर की मूर्ति

Etawah Tuesday Special: हनुमान जी के 'जिंदा' होने का एहसास कराती है इटावा के पिलुआ मंदिर की मूर्ति

Etawah News: मंगलवार को बुढ़वा मंगल के अवसर पर बड़ी तादाद में हनुमानभक्त रात से ही यहां पहुंचना शुरू हो गये हैं. जिनकी सुरक्षा के लिए करीब 300 के आसपास पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है.

SHARE THIS:

इटावा. पवनपुत्र बजरंगबली के चमत्कारों के अनंत किस्से दुनिया भर में मशहूर हैं, लेकिन महाभारत कालीन सभ्यता से जुड़े उत्तरप्रदेश में इटावा के बीहड़ों में स्थित पिलुआ महावीर मंदिर केे बारे में मिथक और धारणा है कि इस मंदिर की हनुमान मूर्ति सैकड़ों सालों से उनके जिंदा होने का एहसास कराती नजर आती है. मंगलवार को बुढ़वा मंगल के अवसर पर बड़ी तादाद में हनुमानभक्त रात से ही यहां पहुंचना शुरू हो गये है. जिनकी सुरक्षा के लिए करीब तीन सौ के आसपास पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है. मंदिर परिसर के बाहर बड़ी तादाद में पूजा साग्रमी के अलावा प्रसाद आदि की दुकानें भी सज गई है.

ऐसा कहा जाता है कि साल में एक बार बुढ़वा मंगल के दिन यहां पर उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, राजस्थान और उत्तराखंड समेत देश के विभिन्न राज्यों के अलावा विदेशों से भी बड़ी संख्या में हनुमानभक्त पूजा अर्चना करने के लिए आते है. हनुमान मंदिर के मुख्य मंहत हरभजन दास का कहना है कि वैसे तो हनुमान जी की लेटी हुई मूर्ति इलाहबाद में भी है, लेकिन जैसी मूर्ति यहां पर है ऐसी दूसरी मूर्ति देश और दुनिया के किसी भी दूसरे हिस्से में नहीं है.

दावे कैसे-कैसे
हनुमान जी की इस प्रतिमा के मुख में हर वक्त पानी भरा रहता है. कितना भी प्रसाद मुंह में डालो पूरा प्रसाद मुंह में समा जाता है. आज तक किसी को पता नहीं चला कि यह प्रसाद जाता कहां हैं. महाबली हनुमान जी की प्रतिमा लेटी हुई है और लोगों की माने तो ये मूर्ति सांस भी लेती है और भक्तो के प्रसाद भी खाती है.

हनुमान जी खुद जीवित रूप में विराजमान!
कहा जाता है यहां हनुमान जी खुद जीवित रूप में विराजमान हैं. बीहड़ में स्थापति हनुमान मंदिर की मूर्ति अपने आप में कई चमत्कार समेटे हुए है, लेकिन आज तक इसके इस रहस्य का कोई पता नहीं लगा पाया कि इसके मुखार बिंदु में प्रसाद के रूप में जाने वाला दूध, पानी और लडडू आखिरकार जाता कहां है. इसको चमत्कार नहीं तो और क्या कहा जायेगा।

भक्तों की धारणा
हनुमान भक्तों का यह भी दावा है कि हनुमान जी इस मंदिर में जीवित अवस्था में है तभी एकांत में सुनने पर प्रतिमा से सांसें चलने की आवाज सुनाई देती है. बताया जाता है कि हनुमान जी के मुख से राम नाम की ध्वनि भी सुनाई देती है. बजरंगबली के ऐसे चमत्कारों के बारे में सुनकर एवं देखकर लोगों का विश्वास उनमें और भी ज्यादा बढ़ जाता है.

ऐसी है मान्यता
मान्यता है कि इस मंदिर में जो भी बजरंगबली के दर्शन करता है, उसके जीवन में कभी कष्ट नहीं आते हैं. हनुमान जी की मूूर्ति इतनी प्रभावशाली है कि इनकी आंखों में देखते ही लोगों की परेशानियां हल हो जाती हैं. इन्हें लगाया जाने वाला कई गुणा भोग भी इनके उदर को नहीं भर पाता है. यमुना नदी के किनारे बसे महाभारत कालीन सभ्यता से जुड़े यहां के बीहड़ में बंजरगबली के मंदिर में हनुमान जी की एक ऐसी मूर्ति स्थापित है, जिसके चमत्कार के आगे हर कोई नतमस्तक है. सैलून से कोई भी श्रद्धालु इस मूर्ति का मुख भरने का साहस नहीं कर पाया है.

मूर्ति उदगम की कथा
इस मूर्ति के उदगम के बारे में कहा जाता है कि प्रतापनेर के राजा हुक्म तेजप्रताप सिंह को ऐसा सपना आया, जिसमें इस मूर्ति के इसी स्थान पर निकले होने की बात बताई गई. इसके बाद राजा ने इस मूर्ति को अपने महल में स्थापित करने की कोशिश की, लेकिन राजा हार गया और हनुमान जी की मूर्ति आज अपने स्वरूप में हनुमान भक्तों की आस्था का केंद्र बना हुआ है. यह चमत्कारिक मंदिर चौहान वंश के अंतिम राजा हुक्म देव प्रताप की रियासत में बनाया गया था.

UP Anganwadi Recruitment 2021: यूपी के इन जिलों में अभी भी शुरू है आंगनवाडी भर्ती, जानें अंतिम तिथि

UP Anganwadi Recruitment 2021: यूपी के इन जिलों में अभी भी शुरू है आंगनवाडी भर्ती, जानें अंतिम तिथि

UP Anganwadi Recruitment 2021: उत्तर प्रदेश आंगनवाडी भर्ती के तहत राज्य के करीब 53,000 पदों पर भर्ती की जाएगी. सभी भर्तियां संविदा आधार पर की जाएंगीं. जिसके अंतर्गत लगभग 58 जिलों में भर्ती की शुरुआत की गई है.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 13, 2021, 21:52 IST
SHARE THIS:

नई दिल्ली. UP Anganwadi Recruitment 2021: उत्तर प्रदेश के कई जिलों में आंगनवाडी, मिनी आंगनवाडी और सहायिका पदों पर भर्ती अभी भी जारी है. हांलाकि कुछ जिलों में भर्ती प्रक्रिया संपन्न हो चुकी है. लेकिन अभी भी कई जनपद ऐसे हैं जहां पर भर्ती के लिए आवेदन मंगाए जा रहे हैं. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश आंगनवाडी भर्ती के तहत राज्य के करीब 53,000 पदों पर भर्ती की जाएगी. सभी भर्तियां संविदा आधार पर की जाएंगीं. जिसके अंतर्गत लगभग 58 जिलों में भर्ती की शुरुआत की गई है.

ऐसे में किन जिलों में भर्ती प्रक्रिया अभी भी शुरू है इसकी जानकारी नीचे साझा की जा रही है. इसके अलावा उम्मीदवार चाहें तो इस संबंध में उत्तर प्रदेश अभ्यर्थी बाल विकास सेवा एवं पुष्टहार विभाग की वेबसाइट से भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

UP Anganwadi Recruitment 2021: इन जिलों में शुरू है आवेदन प्रक्रिया
बता दें कि उत्तर प्रदेश में आंगनबाड़ी सहायिका के पदों पर लगभग 10 साल बाद भर्ती आयोजित की जा रही है. ऐसे में उत्तर प्रदेश आंगनवाड़ी भर्ती के इंतजार कर रहे उम्मीदवारों के लिए ये एक सुनहरा मौका है. भर्ती के लिए जारी अधिसूचना के अनुसार इन पदों के लिए केवल वही महिलाएं आवेदन कर सकती हैं, जो उत्तर प्रदेश की निवासी होंगीं. बता दें कि फिलहाल मैनपुरी, इटावा, जालौन, अलीगढ़, देवरिया, कासगंज, लखीमपुर खीरी और मथुरा जिले के लिए आवेदन प्रक्रिया अभी भी शुरू है. जिनके लिए अंतिम तिथि नजदीक ही हैं. ऐसे में इच्छुक उम्मीदवारों को जल्द से जल्द आवेदन कर लेना चाहिए. उम्मीदवार अंतिम तिथि से सम्बंधित जानकारी विभाग की वेबसाइट में चेक कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें-
UP ANM Recruitment 2021: यूपी में एएनएम की 5000 नौकरियां, देखें पूरी डिटेल
Assam Rifles Recruitment 2021: असम राइफल्स में 10वीं पास के लिए नौकरियां

अखिलेश यादव पर BJP सांसद सुब्रत पाठक ने साधा निशाना, बोले- पहले चाचा शिवपाल से करें बात

अखिलेश यादव पर BJP सांसद सुब्रत पाठक ने साधा निशाना, बोले- पहले चाचा शिवपाल से करें बात

UP Assembly Election 2022: पाठक बोले कि अखिलेश यादव पहले अपने चाचा शिवपाल से बैठकर तो बात कर लें. उसके बाद बूथ ओर यूथ की बात करें. पाठक ने कहा कि सैफई परिवार की 20-25 साल पहले क्या स्थिति थी और आज क्या है यह किसी से छुपी नहीं है.

SHARE THIS:

इटावा. भारतीय जनता पार्टी के महामंत्री और कन्नौज के सांसद सुब्रत पाठक ने समाजवादी पार्टी के प्रमुख और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए कहा कि सपा प्रमुख के लिए बूथ और यूथ केवल उनका परिवार ही है. इटावा सदर विधानसभा में आयोजित प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में . पाठक बोले कि अखिलेश यादव पहले अपने चाचा शिवपाल से बात कर लें. उसके बाद बूथ ओर यूथ की बात करें. पाठक ने कहा कि सैफई परिवार की 20-25 साल पहले क्या स्थिति थी और आज क्या है यह किसी से छुपा नहीं है. भ्रष्टाचार और लूट से नेताओं के महल बने हुए है.

बीजेपी सांसद ने कहा कि एक हमारे प्रधानमंत्री की मां 10×10 के छोटे से कमरे में रहती है. हमारे योगी बाबा ने कोई मकान नहीं बनाया, मंदिर से आये हैं और अगर प्रदेश की जनता आशीर्वाद नहीं देगी तो वापस मंदिर में ही जाएंगे.। हमने लूटकर कोई मकान-महल नहीं बनाया। पाठक ने कहा कि पीएम मोदी देश को सुपरपावर बनाना चाहते है. प्रधानमंत्री समाज के हर वर्ग के उत्थान के लिए प्रयासरत है. प्रदेश मे योगी सरकार के नेतृत्व मे आए बदलाव को लोग महसूस कर रहे है. प्रदेश को न सिर्फ अपराधियों से मुक्त किया, बल्कि उनकी अवैध संपत्तियों को भी जब्त किया गया.

गिनाई सरकार की उपलब्धियां
राममंदिर, धारा 370 हटाने और कोरोना काल मे 80 करोड़ देशवासियों को निशुल्क खाघान्न और सभी देशवासियों को मुफ्त वैक्सीन उपलब्ध कराने का भी जिक्र करते हुए सांसद ने कहा कि ये सराहनीय कार्य करने के लिए जनता मुक्तकंठ से प्रशंसा कर रही है. उन्होंने कहा कि देश के भ्रष्टाचारियों ने देश में महल बना लिए . चाहे कांग्रेस हो या समाजवादी परिवार लेकिन हमारे प्रधानमंत्री ने कोई मकान कोठी नहीं बनाई. हमने गांव में गरीब का घर व शौचालय बनाया है. हमारी सरकारों में गरीबों का उत्थान हुआ है. भले लोगों को समाज में आगे आना ही चाहिए । इतिहास में भी प्रबुद्ध वर्ग सामने आया था और समाज को बचाया था. उन्होंने कहा कि हमारे पड़ोस में ही कट्टरपंथियों ने मन्दिर-गुरुद्वारे तोड़ दिए है. संस्कृति नष्ट कर दी गई. 75 साल पहले के पाकिस्तान में हिन्दू 27 प्रतिशत हुआ करता था जो अब मात्र 1 प्रतिशत ही रह गया तो आखिर क्यों? अफगानिस्तान में तालिबान की ओर से किए गए अत्याचार का किसी सेक्युलर ने विरोध नहीं किया. हमारे समाज को अंग्रेजों व मुगलों के बाद कांग्रेस, समाजवादी व बहुजन समाज पार्टी प्रदेश को जाति में बांट रही है. हम सत्ता समाज को जोड़ने के लिए चाहते है, लेकिन अन्य पार्टियां समाज को तोड़ने का काम करना चाहती है.

Etawah: लिफ्ट देकर दो बहनों से गैंगरेप, एक आरोपी ने पीड़िता को सिगरेट से दागा, 3 अरेस्ट

Etawah: लिफ्ट देकर दो बहनों से गैंगरेप, एक आरोपी ने पीड़िता को सिगरेट से दागा, 3 अरेस्ट

crime in UP : इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. बृजेश कुमार सिंह बताया कि पुलिस ने तीनों आरोपियों को मौका-ए-वारदात से गिरफ्तार कर लिया है. पकड़े गए आरोपियों में दो एंबुलेंस चालक हैं जबकि तीसरा शातिर अपराधी.

SHARE THIS:

इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा जिले की सैफई में दो सगी बहनों से गैंगरेप का मामला सामने आया है. इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. बृजेश कुमार सिंह बताया कि पुलिस ने तीनों आरोपियों को मौका-ए-वारदात से गिरफ्तार कर लिया है. पकड़े गए आरोपियों में दो एंबुलेंस चालक हैं जबकि तीसरा शातिर अपराधी. पुलिस ने गिरफ्तार तीनों आरोपियों को फिलहाल जेल भेज दिया है और दोनों बहनों की मेडिकल कराई जा रही है.

सैफई थाना प्रभारी मो. हमीद सिद्दीकी के मुताबिक, पुलिस टीम के साथ वे गश्त पर निकले थे, तभी सायरन की आवाज पर एक दुकान से निकलकर तीन लोग भागने लगे. शक होने पर थाना प्रभारी ने गाड़ी खड़ी की, तो देखा कि दुकान का आधा शटर खुला था. जब अंदर देखा तो रोती हुई एक महिला बैठी मिली. तब इन महिलाओं ने खुद के साथ हुई वारदात की जानकारी दी.

इसे भी पढ़ें : हिस्ट्रीशीटर अपराधी लाल जी गुर्जर ने फांसी लगा कर की आत्महत्या, जानें पूरा मामला

छोटी बहन ने पुलिस को बताया कि उसका अपने पति से विवाद चल रहा था, जिसकी शिकायत करने वह महिला थाना इटावा आई थी. उसके साथ उसकी बड़ी बहन भी गई थी. थाने में पति से समझौता करा दिया गया. जिसके बाद दोनों बहनें टेम्पो से शाम 6 बजे सैफई आईं. फिर वहां कुछ समय तक उन्होंने ऑटो का इंतजार किया. जब कोई साधन नहीं मिला तो दोनों बहनें अगले चौराहे पर आ गईं, तब तक अंधेरा घिरने लगा था. इसी बीच सांवले रंग का एक शख्स इन दोनों के पास आया. उसने इन दोनों बहनों को भरोसा दिलाया कि वे जहां जा रही हैं, उसे भी वहीं जाना है. बाद में इस शख्स का नाम हरकेश यादव पता चला. दोनों बहनें विश्वास में आकर उसके साथ चल पड़ीं.

इसे भी पढ़ें : दूसरे युवक पर आया दिल तो बांग्लादेशी ने कर दी महिला की हत्या, ऐसे हुई गिरफ्तारी

रास्ते में हरकेश ने दोनो बहनों से कहा कि तुमलोग भूखी होगी, पहले खाना खा लो, फिर पहुंचा देंगे. जब दोनों बहनों ने मना किया तो हरकेश ने मारपीट की और जबरदस्ती होटल ले गया. वहां उसने फोन कर अपने साथी अश्वनी को बुला लिया. खाना खाने के दौरान उन्होंने दोनों बहनों को जबरन शराब पिलाने की कोशिश की. जब दोनों बहनों ने पीने से इनकार किया तो हरकेश और अश्वनी ने जबर्दस्ती पिलाने की कोशिश की. होटल वाले ने भी इन दोनों की हरकतों का विरोध किया. तब दोनों आरोपियों ने होटल वाले के साथ भी गाली-गलौज की. फिर हरकेश और अश्वनी दोनों बहनों को जबरन मोटरसाइकिल पर बैठाकर सैफई से बाहर रेलवे पुल के नीचे एक तिराहा पर ले गए, जहां कुछ दुकान व कमरे बने हुए हैं. यहां इन दोनों ने फोन करके अपने तीसरे साथी साहिल को बुलाया जो चार पहिया गाड़ी से आया.

इसे भी पढ़ें : नोएडा: घर में घुसकर 15 साल की लड़की से रेप, आरोपी गिरफ्तार

पीड़िताओं ने बताया कि तीनों ने हम दोनों बहनों को मारा पीटा और धमकाया कि जैसा हम लोग कहेंगे वैसा करो, नहीं तो जान से हाथ धोना पड़ेगा. छोटी बहन ने कहा कि उसके बाद मेरी बहन को थप्पड़ मारा और एक कमरे में बंद कर दिया. इसके बाद हरकेश ने छत पर ले जाकर मेरे साथ बलात्कार किया. इस दौरान उसने जलते सिगरेट से मेरे पैर दागे. इसी दौरान पुलिस की गाड़ी का सायरन बजा तो वे तीनों हमें छोड़कर भागे.

इसे भी पढ़ें : तलाक के लिए पति ने रची खौफनाक साजिश, गर्भवती पत्नी को लगवाया HIV इंजेक्शन

पुलिस ने कहा कि नशे की हालत में तीनों आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं. गिरफ्तार आरोपियों में हरिकेश यादव ग्राम झींगुपुर, थाना सैफई का रहनेवाला है, जबकि अश्वनी और साहिल चौबेपुर थाना के. अश्वनी और साहिल मेडिकल यूनिवर्सिटी में प्राइवेट एंबुलेंस चलाते हैं. वारदात का मुख्य आरोपी हरकेश यादव पहले भी 307 के मामले में जेल जा चुका है. आरोपियों के कब्जे से एक स्विफ्ट डिजायर कार, शराब की 2 बोतलें जब्त की गई हैं. सैफई थाना प्रभारी हामिद सिद्दीकी ने बताया कि पीड़ित बहनों की ओर से आए प्रार्थना पत्र के आधार पर आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई है.

इटावा: हिस्ट्रीशीटर अपराधी लाल जी गुर्जर ने फांसी लगा कर की आत्महत्या, जानें पूरा मामला

इटावा: हिस्ट्रीशीटर अपराधी लाल जी गुर्जर ने फांसी लगा कर की आत्महत्या, जानें पूरा मामला

Uttar Pradesh News: उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के सहसो थाना क्षेत्र के अंतर्गत हनुमंतपुरा में हिस्ट्रीशीटर अपराधी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. आत्महत्या करने की कोई वजह पता नहीं चली है. पुलिस मामले की जांच कर रही है

SHARE THIS:

इटावा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के इटावा (Etawah) जिले के सहसो थाना क्षेत्र के अंतर्गत हनुमंतपुरा में लाल जी गुर्जर नाम के हिस्ट्रीशीटर अपराधी ने फांसी लगाकर आत्महत्या (Suicide) कर ली. लाल जी गुर्जर के आत्महत्या करने की वजह स्पष्ट नहीं है. उसके परिजन भी इसकी वजह नहीं बता पा रहे हैं, जिससे यह बात स्पष्ट हो कि हिस्ट्रीशीटर ने आत्महत्या क्यों की है.

जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) डॉ. बृजेश कुमार सिंह ने बताया कि रविवार सुबह स्थानीय थाना पुलिस को इस बात की जानकारी मिली कि हनुमानपुरा में लाल जी गुर्जर नामक युवक ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली है. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लेकर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. उन्होंने बताया लाल जी गुर्जर सहसो थाने का हिस्ट्रीशीटर था. 34 ए नंबर से लाल जी की हिस्ट्रशीट खुली हुई थी. लाल जी के खिलाफ सहसो थाने में छह आपराधिक मामले दर्ज हैं. लालजी के खिलाफ दर्ज मामलों में दुराचार (रेप), मारपीट, शराब तस्करी, गुंडा एक्ट के अलावा अवैध असलाह लेकर लोगों को धमकाने के मामले दर्ज हैं.

उन्होंने बताया कि आत्महत्या करने वाला लाल जी सहसो थाने का सक्रिय अपराधी था, जिसकी हर समय निगरानी पुलिस की टीम करती रहती थी. वहीं, सहसो थाना प्रभारी गंगा दास गौतम ने बताया कि लाल जी गुर्जर ने पिछले दिनों तमंचे की नोक पर एक शख्स को धमकाया था, जिसका वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने लाल जी को धमकाने में प्रयुक्त किए गए तमंचे के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. इसके बाद वो अदालत से जमानत पर रिहा हुआ था.

लाल जी के चाचा धन सिंह ने बताया कि वो अपने घर मे एकांत में रहता था. देर रात साड़ी का फंदा लगाकर उनसे आत्महत्या कर ली, लेकिन वो नहीं बता सकते कि उसने ऐसा क्यों किया.

इटावा सफारी देखकर गदगद हुए 21 अमेरिकी पर्यटक, विजिटर बुक में बांधे तारीफों के पुल

इटावा सफारी देखकर गदगद हुए 21 अमेरिकी पर्यटक, विजिटर बुक में बांधे तारीफों के पुल

Uttar Pradesh News: अमेरिकी पर्यटक सफारी पार्क को देख कर गदगद हैं. वो सफारी पार्क की भव्यता से काफी खुश हैं. शानदार सफारी का निर्माण करने के लिए उन्होंने धन्यवाद दिया. सफारी में नेचुरल एयर है जो शहर के अंदर नहीं है. कुछ पर्यटकों का कहना था कि ऐसा लगाता है कि इटावा सफारी में आने के बाद अफ्रीका की सफारी के अंदर आ गया. यहां ग्रीनरी (हरियाली) बहुत अधिक है. बिल्कुल भी प्रदूषण नहीं है

SHARE THIS:

इटावा. अखिलेश सरकार के कार्यकाल के दौरान तैयार हुई इटावा सफारी (Etawah Safari) देशी-विदेशी पर्यटकों (Foreign Tourists) को काफी लुभा रही है. शनिवार को अमेरिकी दूतावास (American Embassy) में काम करने वाले 21 लोग अपने परिवार के साथ सफारी पार्क घूमने पहुंचे. इससे इटावा सफारी के अधिकारियों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा. इससे पहले एक साथ इतने विदेशी पर्यटक कभी भी सफारी का भ्रमण करने के लिए नहीं आये थे. सफारी भ्रमण करने आये 21 अमेरिकी नागरिकों में 11 पुरूष और दस महिलाएं थीं. यह सभी देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) स्थित अमेरिकी दूतावास में कार्य करते हैं.

अमेरिकन एंबेसी में कार्यरत अधिकारी और उनके परिवार के सदस्य चंबल सफारी के संचालक रामप्रताप सिंह की अगुवाई में इटावा सफारी घूमने आये थे. सिंह ने बताया कि तीन दिन के चंबल भ्रमण पर अमेरिकी अधिकारी और उनके परिवार के करीब 30 सदस्य यहां आये हुए हैं. इनमें से आठ सदस्य बटेश्वर में भ्रमण पर हैं. शनिवार को दोपहर बाद 71 वर्षीय डॉ. फ्रेजियर के सरंक्षण में यह सभी सदस्य इटावा सफारी पहुंचे. सफारी भ्रमण करने के बाद फ्रेजियर ने विजिटर बुक में सफारी के निर्माण से लेकर व्यवस्था और बेहतर प्रबंधन के बारे में तारीफों के पुल बांधे. उन्होंने शानदार शब्दों में कमेंट लिख पर्यटकों को सफारी आने का संदेश दिया.

सफारी पार्क घूमकर गदगद हुए अमेरिकी पर्यटक

अमेरिकी पर्यटक सफारी पार्क को देख कर गदगद हैं. वो सफारी पार्क की भव्यता से काफी खुश हैं. शानदार सफारी का निर्माण करने के लिए उन्होंने धन्यवाद दिया. सफारी में नेचुरल एयर है जो शहर के अंदर नहीं है. कुछ पर्यटकों का कहना था कि ऐसा लगाता है कि इटावा सफारी में आने के बाद अफ्रीका की सफारी के अंदर आ गया. यहां ग्रीनरी (हरियाली) बहुत अधिक है. बिल्कुल भी प्रदूषण नहीं है.

उन्होंने बताया कि वो अपने साथ साइकिल भी लेकर आये हैं, ताकि चंबल में साइकिल चलाकर आंनद का एहसास कर सकें. सिंह ने उम्मीद जताई कि अमेरिकन एंबेसी में काम करने वाले विदेशियों का इतनी बड़ी तादाद में आना इस बात का संकेत दे रहा है कि आने वाले दिनों में अन्य देशों के दूतावासों में काम करने वाले लोग भी सफारी का भ्रमण कर सकते हैं.

कड़ी सुरक्षा के बीच पर्यटकों को सफारी का भ्रमण कराया गया

इटावा सफारी पहुंचे अमेरिकियों ने इसके मुख्य गेट पर पत्थर के बने शेरों के सामने फोटो सेशन भी कराया. उन्हों कड़ी सुरक्षा के बीच सफारी में भ्रमण कराया गया. सफारी के क्षेत्रीय वन अधिकारी विनीत सक्सेना ने सभी पर्यटकों को भ्रमण कराया. उन्होंने बताया कि दोपहर करीब साढ़े तीन बजे अमेरिकी पर्यटकों का दल सफारी आया जो शाम सवा छह बजे के बाद भ्रमण कर वापस लौट गया. उन्होंने बताया कि अमेरिकी पर्यटकों को सफारी में मौजूद सभी वन्य जीवों का दीदार कराया गया. जिसका सभी ने खूब आंनद लिया. अमेरिकी पर्यटकों ने डायरेक्टर के.के सिंह और डिप्टी डायरेक्टर अरूण सिंह से भी मुलाकात की. इससे पहले दिसंबर 2019 में तीन जापानी पर्यटक अपने भारतीय परिचितों के साथ इटावा सफारी पार्क का दीदार करने के लिए आए थे.

बता दें कि 24 नंबवर, 2019 को शुभारंभ के बाद लगातार देशी-विदेशी पर्यटकों के सफारी आने का सिलसिला जारी है. 26 नवंबर को एक जर्मन युगल आया ता. उसके बाद जापानी पर्यटकों की आमद ने सफारी की लोकप्रियता को बढ़ाया, लेकिन अब एक साथ 21 अमेरिकी पर्यटकों ने यहां पहुंचकर प्राकृतिक आवास में वन्य जीवों को करीब से देखा.

UP Assembly Election: शिवपाल यादव ने चुनाव पूर्व सर्वे पर उठाया सवाल, बोले- जनता को किया जा रहा भ्रमित

UP Assembly Election: शिवपाल यादव ने चुनाव पूर्व सर्वे पर उठाया सवाल, बोले- जनता को किया जा रहा भ्रमित

UP Political News: एक न्यूज चैनल ने सर्वे के जरिये एक बार फिर से उत्तर प्रदेश मे भारतीय जनता पार्टी की सरकार के दुबारा सत्ता में काबिज होने का दावा किया गया है. जिसको लेकर उत्तर प्रदेश की राजनीति में सरगर्मी एक बार फिर तेज हो गई है.

SHARE THIS:

इटावा. चुनावी सर्वे (Pre-Poll Survey) पर सवाल उठाते हुए प्रगितशील समाजवादी पार्टी लोहिया (PSP Lohia) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) ने कहा कि यूपी विधानसभा 2022 के चुनाव (UP Assembly Election 2022) को लेकर आये सर्वे जनता को भ्रमित करने वाले हैं. शिवपाल सिंह यादव इटावा मे एक घार्मिक समारोह मे भाग लेेने के बाद चुनिंदा पत्रकारो से बात कर रहे थे. उन्होने कहा कि अभी चुनाव तक बहुत सारे सर्वे आयेंगे. उन्होने कहा कि हमारी जनता से यही अपील है कि जनता इन सर्वे से भ्रमित न हो. चुनाव में निर्णय जनता को करना करना है. इस बार जनता सही निर्णय लेगी.

बताते चले कि एक न्यूज चैनल ने सर्वे के जरिये एक बार फिर से उत्तर प्रदेश मे भारतीय जनता पार्टी की सरकार के दुबारा सत्ता में काबिज होने का दावा किया गया है. जिसको लेकर उत्तर प्रदेश की राजनीति में  सरगर्मी एक बार फिर तेज हो गई है. सर्वे में भारतीय जनता पार्टी को 2022 यूपी विधानसभा चुनाव में एक बार फिर से उत्तर प्रदेश में पूर्ण बहुमत की सरकार बनते हुए दिखाया गया है, जबकि मुख्य विपक्षी समाजवादी पार्टी को एक सैकड़ा के आसपास ही सीटें मिलती हुई दिखाई दे रही है. इसी सर्वे को लेकर के समाजवादी पार्टी से लेकर के बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस ने प्रतिक्रिया देते हुए इसे आधारहीन बताया है.

राजनेताओं ने भी उठाया सवाल
कई राजनेताओं ने इस बात पर भी सवाल उठाया है कि पश्चिम बंगाल में भी पूर्ण बहुमत की सरकार सर्वे के आधार पर गठित होती हुई दिखाई दे रही थी, लेकिन जब नतीजा सामने आया तो भारतीय जनता पार्टी सत्ता से कोसों दूर थी. बसपा सुप्रीमो मायावती ने तो चुनावी सर्वे पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस सर्वे का कतई कोई औचित्य नहीं बनता है. यह सर्वे भारतीय जनता पार्टी को हर हाल में प्रमोट कर रहे हैं. इसलिए इस पर कोई भी भरोसा नहीं किया जा सकता है. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव बेशक चुनावी सर्वे पर सवाल न उठा रहे हों. लेकिन वह यह कहने से चूक रहे हैं कि भारतीय जनता पार्टी झूठ का कारोबार करने में माहिर है.

Etawah News: बेटी ने भरा प्रेमी के नाम का मांग में सिंदूर, मां ने उतारा मौत के घाट

Etawah News: बेटी ने भरा प्रेमी के नाम का मांग में सिंदूर, मां ने उतारा मौत के घाट

Etawah Crime News - इटावा जिले के उमराई गांव में एक मां ने अपनी ही बेटी को मार डाला. बेटी अपने प्रेमी से शादी करना चाहती थी और उसने उसके नाम का सिंदूर अपनी मांग में भर लिया था. इस पर गुस्से में आई मां ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी. पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा कर दिया है.

SHARE THIS:

इटावा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के इटावा (Etawah) जिले के वैदपुरा इलाके से एक ऐसी खबर आई है जिसमें रिश्तों का ही खून कर दिया गया. यहां के उमराई गांव से पुलिस ने एक महिला को गिरफ्तार कर उसे अपनी ही बेटी का कातिल बताया है. लड़की के माथे पर लगे सिंदूर को देखने के बाद पुलिस ने बारीक पड़ताल शुरू की थी, जिसके बाद पर्तें जब खुलीं तो हत्यारोपी कोई और नहीं बल्कि लड़की की मां ही निकली.

इटावा के पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ओमवीर सिंह ने बताया कि असल मे बेटी की हत्या की यह घटना इटावा के वैदपुरा इलाके के उमराई गांव में 28 अगस्त की शाम को घटी. इसमें परिजनों की ओर से पहले बताया गया कि लड़की को परेशान करने वाला शख्स अपने दो साथियों के साथ हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद मौके से फरार हो गया. पुलिस ने लड़की के पिता के प्रार्थना पत्र पर लड़की के प्रेमी और उसके दो साथियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया.

लड़की की मौत के बाद परिजनों ने राजकुमार और उसके साथियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने घटना के खुलासे के लिए क्षेत्राधिकारी सैफई के नेतृत्व में एसओजी इटावा, थाना वैदपुरा, थाना सैफई से 3 पुलिस की टीमें गठित कीं.

जांच में साक्ष्यों के आधार पर यह तथ्य मिले कि मृतका प्रियंका की गला दबाकर हत्या उसकी मा निर्मला देवी ने की है. इसके बाद बुधवार को पुलिस ने महोला जेल रोड रेलवे पुल के पास से उसे गिरफ्तार कर लिया. हत्यारोपी मां निर्मला ने बताया कि उसकी पुत्री का गांव के राजकुमार से प्रेम प्रंसग चल रहा था. जिसका सभी परिवारीजनों ने विरोध किया. निर्मला देवी ने बताया कि वह और उसकी छोटी बेटी इटावा से दवा लेकर घर लौटे तो मृतका प्रियंका अपनी मांग में सिन्दूर भर रही थी. इसके विरोध के दौरान उसने गुस्से में आकर बेटी प्रियंका को धक्का देकर बेड पर गिरा कर उसका गला दबा दिया था, जिस कारण उसकी मृत्यु हो गई.

पुलिस के अनुसार मां ने ही अपने इस कृत्य को छुपाने एवं पुलिस से बचने के लिए प्रेमी राजकुमार पर अपनी पुत्री की हत्या कर फांसी पर लटकाने षडयंत्र रचकर उसके विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कराया गया था.

Load More News

More from Other District