लाइव टीवी

BJP सांसद कठेरिया का बड़ा बयान, बोले- CAA की आड़ में दलितों के हितों का विरोध कर रहे हैं विपक्षी
Etawah News in Hindi

Deepak mishra | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 23, 2020, 3:13 PM IST
BJP सांसद कठेरिया का बड़ा बयान, बोले- CAA की आड़ में दलितों के हितों का विरोध कर रहे हैं विपक्षी
सीएए से दलितों को ही सबसे अधिक फायदा है.

भाजपा सांसद और राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष प्रोफेसर रामशंकर कठेरिया (Ramshankar Katheria) ने कहा है कि नागरिकता संशोधन कानून की आड़ में असली विरोध दलितों का हो रहा है. अगर दलित समाज नाराज होकर सड़कों पर आ गया तो हालात बिगड़ जाएंगे.

  • Share this:
इटावा. भाजपा के वरिष्ठ दलित सांसद और राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष प्रोफेसर रामशंकर कठेरिया (Ramshankar Katheria) ने कहा है कि नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने वाले दलों को ऐसा लग रहा है कि वह इसके बहाने मुस्लिम वोट बैंक को अपने पक्ष में कर लेंगे, लेकिन ऐसा नहीं होगा. उन्‍होंने आगे कहा कि वोट बैंक का लालच इतना ज्यादा है कि वह दलित वोट बैंक और दलितों के हितों का विरोध कर रहे हैं. रामशंकर कठेरिया ने कहा, 'यह स्पष्ट हो चुका है कि पड़ोसी देशों के पीड़ित शरणार्थियों में लगभग 70 फीसदी दलित वर्ग के लोग हैं. यह वह लोग हैं जो भारत में हिंदू धर्म में अनुसूचित जाति (Scheduled Caste) के सदस्य हैं.

दलितों को विरोध हो रहा है
प्रोफेसर रामशंकर कठेरिया ने कहा कि ऐसे ही लोग (अनुसूचित जाति) पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में सबसे ज्यादा पीड़ित हैं और दुखी होकर भारत में कई सालों से शरणार्थी का जीवन जी रहे हैं. ऐसे लोगों को नागरिकता देने का विरोध करने वाले साफ तौर पर दलितों के विरोधी हैं. कठेरिया ने यह भी कहा कि यदि दलित समाज नाराज होकर सड़कों पर आ गया तो हालात बिगड़ जाएंगे.
सांसदों से की ये अपील

प्रोफेसर रामशंकर कठेरिया ने देश के सभी राजनीतिक दलों से जुड़े दलित सांसदों से अपील की है कि वह दलीय सीमा से आगे बढ़कर इस मुद्दे पर मुस्लिम समाज के लोगों को समझाएं और अपने-अपने दलों के नेताओं पर भी दबाव डालें. उन्होंने कहा कि नागरिकता कानून के विरोध की लड़ाई दरअसल ऐसे 70 फीसदी दलितों के हितों के खिलाफ लड़ी जा रही है जो पिछले कई वर्षों से पड़ोसी देशों में उत्पीड़न झेल रहे थे और मदद की उम्मीद में कई सालों से भारत में शरणार्थी का जीवन जी रहे हैं. सांसद ने कहा कि सच्चाई जानते हुए भी वोट बैंक की राजनीति के लालच में लोग कट्टरपंथियों की साजिश का शिकार होकर नागरिकता कानून का विरोध कर रहे हैं.

 

ये भी पढ़ें-लखनऊ: PCS एसोसिएशन के ऑडिटर ने दिया इस्‍तीफा, अधिकारियों की बढ़ी बेचैनी

 

UP: नये DGP की लड़ाई अदालत पहुंची, IPS जेएल त्रिपाठी ने दायर की याचिका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इटावा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 3:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर