टीचर और प्रबंधक के टॉर्चर से तंग आकर कक्षा 8 के छात्र ने सल्फास खा दी जान

उत्तर प्रदेश के इटावा (Etawah) में कक्षा आठ के छात्र (Student) मयंक ने शिक्षक और प्रबंधक के टॉर्चर से तंग आकर सल्फास (Sulfus) खा कर जान दे दी.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 10, 2019, 11:41 PM IST
टीचर और प्रबंधक के टॉर्चर से तंग आकर कक्षा 8 के छात्र ने सल्फास खा दी जान
मृतक छात्र मयंक के पिता मुकेश स्वयं भी एक शिक्षक हैं (Demo Pic)
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 10, 2019, 11:41 PM IST
उत्तर प्रदेश के इटावा (Etawah) में कक्षा आठ के छात्र (Student) मयंक ने शिक्षक और प्रबंधक के टॉर्चर से तंग आकर सल्फास (Sulfus) खा कर जान दे दी. छात्र ने अपनी मौत से पहले लिखे गए सुसाइड नोट (Suicide Note) में साफ साफ लिखा है, 'स्कूल में उसकी पिटाई की जाती है. जिस कारण वो बहुत ही परेशान है और आत्महत्या कर रहा है.'

जसवंतनगर थाने के प्रभारी निरीक्षक अनिल कुमार सिंह का कहना है कि छात्र के आत्महत्या करने के मामले में परिजनो की ओर से सुसाइड नोट मिला है. जिसको लेकर पूरे मामले की गहनता से पड़ताल की जा रही है. उन्होंने बताया कि स्कूल के मैथ के टीचर संदीप कुमार और प्रंबधक सुरेंद्र धनगर को लेकर सुसाइड नोट में जिक्र किया गया है कि छात्र को मैथ नहीं आता है, जिसको लेकर दोनों की ओर से छात्र की पिटाई की जाती है. जिससे तंग आकर उसने मौत को गले लगाया.

मृतक छात्र के पिता स्वयं भी एक शिक्षक
मृतक छात्र मयंक के पिता मुकेश स्वयं भी एक शिक्षक हैं और उनके बेटे ने शिक्षकों के दुर्व्यवहार से ही मौत को गले लगा लिया. 12 वर्षीय मयंक ब्राइट एंड पब्लिक स्कूल जसवंतनगर में कक्षा आठ का छात्र था. जिसने टीचर व मैनेजर के टॉर्चर के तंग आकर सल्फास खाकर दी जान दे दी. इससे पहले नाजुक हालत में छात्र को सैफई मेडिकल यूनीवसिर्टी में दाखिल कराया गया, जहां पर उसकी मौत हो गई.

बता दें, मुकेश कुमार शाक्य मैनपुरी जनपद के एक प्राइवेट स्कूल में शिक्षक के पद पर तैनात हैं. उनके दो बेटे हैं, जिसमें मयंक बड़ा बेटा था और गांव में ही अपने दादा-दादी के पास रहता था.

स्कूल से वापस आया तो अचानक से उसकी तबीयत खराब हुई
गुरुवार को छात्र स्कूल से वापस आया तो अचानक से उसकी तबीयत खराब हो गई. परिवारी जनों ने हालत गंभीर होने पर सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में भेजा, जहां डॉक्टरों ने उसका इलाज किया गया. लेकिन उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई. पुलिस ने बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी है. परिजनों ने इस मामले में इंसाफ की मांग की है. वहीं स्कूल के प्रबंधक और शिक्षक स्कूल में ताला बंद करके गायब हैं.
Loading...

(रिपोर्ट- दीपक मिश्रा)

ये भी पढ़ें-

दर्द से कराह रही प्रेग्नेंट महिला के लिए 'भगवान' बनी ममता कर्मी, चलती ट्रेन में कराई डिलीवरी
First published: August 10, 2019, 11:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...