होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

इटावा : यमुना की बाढ़ में डूबा श्मशान घाट, काली बांह मंदिर में भी घुसा पानी, जनजीवन बदहाल

इटावा : यमुना की बाढ़ में डूबा श्मशान घाट, काली बांह मंदिर में भी घुसा पानी, जनजीवन बदहाल

बाढ़ के पानी से काली बांह मंदिर का यह हाल हुआ है.

बाढ़ के पानी से काली बांह मंदिर का यह हाल हुआ है.

flood in UP : यमुना तलहटी गांव में पानी भर जाने के लोगों को वहां से बाहर निकाला गया. एसडीएम सदर सिद्धार्थ ने बताया कि बसवारा में राहत सामग्री वितरित की गई है, जबकि गढ़िया मुलूसिंह में पानी भर जाने के कारण एसडीआरएफ की टीम पहुंच गई है.

अधिक पढ़ें ...

इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा जिले की यमुना नदी में बाढ़ ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है. हालत यह है कि श्मशान घाट में पानी भर गया है और वहां अंतिम संस्कार बंद कर दिया गया है. ऐतिहासिक काली बांह मंदिर में बाढ़ का पानी करीब चार फुट घुस चुका है. फिलहाल यहां पूजा-अर्चना जारी है. चंबल का जलस्तर शुक्रवार को घटना शुरू हो गया, वहीं यमुना का जलस्तर दोपहर तक बढ़ता रहा. जलस्तर शाम 4 बजे बढ़कर समुद्र तल से 123.03 मीटर तक पहुंच गया, जो कल के मुकाबले करीब 80 सेमी अधिक था. हालांकि शाम को यमुना के घटने के संकेत मिले हैं.

श्मशान घाट को जाने वाली सड़क नगर पालिका ने बंद कर दी है. यमुना का पानी रात से बढ़ना शुरू हुआ और श्मशान घाट के आसपास के इलाके को अपनी चपेट में ले लिया. राजा सुमेर सिंह किले के पास स्थित हनुमान घाट सहित सभी घाट पानी में डूब गए हैं. छूसरी, धूमनपुरा व यमुना तलहटी के मकानों में भी पानी भर गया है. ग्वालियर मार्ग पर भी पानी शुक्रवार को बह रहा था. सड़क किनारे रहने वाले मंगल सिंह के घर में पानी भर जाने के कारण वे घर से सामान निकालते नजर आए. यहां पर पानी भर जाने के कारण मोबाइल का एक टावर ने काम करना बंद कर दिया.

काली बांह मंदिर में पानी भर जाने के बाद भी सैकड़ों श्रद्धालु दिन भर वहां पहुंचते रहे और पानी के बीच से गुजरकर माता के दर्शन किए और जयकारे लगाए. नगर पालिका ने श्मशान घाट बंद हो जाने पर अस्थाई श्मशान घाट की व्यवस्था की है. एफएम रेडियो स्टेशन के बगल में अस्थाई श्मशान घाट की व्यवस्था की गई है. हालांकि यहां पर कुछ लोगों ने विरोध किया लेकिन नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी विनय मणि त्रिपाठी ने मौके पर पहुंचकर लोगों को समझा दिया. इसके बाद लोग शांत हो गए.

पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष फुरकान अहमद ने यमुना तलहटी गांव में पानी भर जाने के कारण जेसीबी मशीन से लोगों को बाहर निकलवाया और उनके रिश्तेदारियों में भिजवा दिया गया. एसडीएम सदर सिद्धार्थ ने बताया कि बसवारा में राहत सामग्री वितरित की गई है, जबकि गढ़िया मुलूसिंह में पानी भर जाने के कारण एसडीआरएफ की टीम पहुंच गई है. यमुना तलहटी से लोगों को सुरक्षित निकालकर भेजा गया. लायंस क्लब के अध्यक्ष अतुल भार्गव ने बताया कि क्लब ने 200 भोजन के पैकेट शहर के आसपास के गांवों में अधिशासी अधिकारी नगर पालिका के निर्देश पर वितरित किए.

Tags: Etawah news, Flood, Uttar pradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर