Assembly Banner 2021

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा - पार्टी की जिला इकाई तय करेगी पंचायत चुनाव के उम्मीदवार

सैफई स्थित आवास पर आज अखिलेश यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं से बातचीत की.

सैफई स्थित आवास पर आज अखिलेश यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं से बातचीत की.

अखिलेश यादव ने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश की सबसे बुरी कानून व्यवस्था की स्थिति कहीं देखनी है, तो केवल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर की स्थिति देख लो.

  • Share this:
इटावा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने आज कहा है कि पंचायत चुनाव (panchayat elections) के लिए उम्मीदवारों का चयन पार्टी की जिला इकाई करेगी. सैफई (Saifai) स्थित आवास से अलीगढ़ (Aligarh) के किसान सम्मेलन (Kisan Sammelan) में शामिल होने के लिए जाने से पहले सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने पत्रकारों से बात की.

अपराध पर आड़े हाथों लिया सरकार को

उन्होंने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश की सबसे बुरी कानून व्यवस्था की स्थिति कहीं देखनी है, तो केवल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर की स्थिति देख लो. उससे स्पष्ट हो जाएगा कि पिछले एक महीने में किस तरह ओर कितने अपराध हुए हैं. ऐसे कौन से कारण है जो मुख्यमंत्री का अपना गृह जिला अपराधमुक्त नहीं हो सका है. वहां के लोग अपराधियों से सुरक्षित नहीं हैं. ऐसे में अन्य जिलों के हाल का आप अंदाजा ही लगा सकते हैं.



किसानों के साथ है समाजवादी पार्टी
तीन कृषि कानून को लेकर आंदोलन पर उतरे किसान आंदोलन के 100 दिन पूरे होने को लेकर उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी पहले दिन से ही किसानों के साथ है. यहां समाजवादी पार्टी के जितने भी कार्यकर्ता खड़े दिखाई दे रहे हैं, वे कार्यकर्ता बाद में हैं पहले किसान हैं. कोई ऐसा कार्यकर्ता नहीं बचा होगा जिसने धान पैदा न किया हो और उससे धान खरीद के नाम पर लूट न हुई हो. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी बताए कि जो एमएसपी सरकार ने तय की है, वे कितने किसानों को देने में कामयाब हुए हैं. कितने खरीद केंद्र बने, मंडी के लोगों ने किसानों की कितनी मदद की है? क्या यह सरकार साबित कर पाएगी. उन्होंने कहा कि जिन कृषि कानूनों का विरोध किसान कर रहे हैं उनको वापस किया जाना चाहिए. इसके साथ ही नियम और कानून एमएसपी के लिए बनना चाहिए. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी पहले दिन से ही किसानों के साथ खड़ी हुई है.

किसानों का संघर्ष बहुत पुराना

उन्होंने साफ-साफ कहा कि आप भले ही समाजवादी पार्टी के नेताओं से सवाल पूछें, लेकिन हकीकत जानने और समझने के लिए पार्टी के कार्यकर्ताओं से भी बात जरूर करें. तभी स्थितियां स्पष्ट हो सकेंगी कि सरकार सच कह रही है या नहीं. सैफई आवास पर मौजूद पार्टी कार्यकर्ता एक वकील का नाम लेकर अखिलेश यादव ने कहा कि आपका धान कितने रेट में खरीदा गया. किसानों के आंदोलन की चर्चा करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि यह आज की लड़ाई नहीं है. डॉ. राम मनोहर लोहिया और नेताजी के समय से किसानों की लड़ाई इसी तरीके से चल रही है, जो आज कृषि कानूनों के विरोध की शक्ल में और व्यापक हो चली है.

पार्टी कार्यकर्ताओं से अखिलेश ने की बातचीत

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज टप्पल जाने से पहले अपने आवास पर कार्यकर्ताओं से मिले और सभी की बात सुनी और आश्वासन दिया. पंचायत चुनाव के मद्देनजर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के सैफई पहुंचने की खबर मिलने के बाद इटावा और इटावा के आसपास के बड़ी तादाद में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता उनसे मिलने और रूबरू होने के लिए सैफई पहुंच गए थे. अखिलेश यादव ने तमाम छोटे-बड़े कार्यकर्ताओं से वार्ता की ओर उनके प्रार्थना पत्र अपने हाथों में लिए और सभी को भरोसा दिया कि उनकी बात पूरी की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज