इटावा की डीएम ने एंबुलेंसों का भाड़ा किया तय, अधिक रकम वसूलने पर होगी सख्त कार्रवाई

इटावा की डीएम ने एंबुलेंस भाडे को निर्धारित कर दिया है.

इटावा की डीएम ने एंबुलेंस भाडे को निर्धारित कर दिया है.

इटावा (Etawah) की डीएम श्रुति सिंह ने निजी एंबुलेंस (Ambulances) का किराया तय कर दिया है. अगर कोई एंबुलेंस संचालक तय कीमत से ज्यादा पैसे लेता है तो उसके खिलाफ कानूनी कारवाई की जाएगी.

  • Share this:

इटावा. इटावा (Etawah) में एंबुलेंस संचालकों के द्वारा जारी लूट के बाद जिले के डीएम ने एंबुलेंस को किराया तय कर दिया है. जिला अधिकारी श्रुति सिंह ने निजी एंबुलेंस (Ambulances) का किराया तय करने के साथ ही कहा कि तय कीमत से ज्यादा पैसे लेने पर एंबुलेंस संचालकों के खिलाफ कार्रवाई होगी. इटावा की जिलाधिकारी के द्वारा तय की गई दर के अनुसार लाइफ सपोर्ट (बीएलएस) एंबुलेंस 80 किलोमीटर तक 800 रुपये में चल सकेंगी. इससे अधिक दूरी होने पर 10 रुपये प्रति किलोमीटर किराया लिया जा सकेगा. इसी तरह एडवांस लाइफ सपोर्ट (LAS) एंबुलेंस संचालक 80 किलोमीटर तक 960 रुपये और इससे अधिक दूरी होने पर 12 रुपये प्रति किलोमीटर किराया ले सकेंगे.

ड्राइवर के लिए अधिकतम 500 रुपये प्रतिदिन आठ घंटे देने होंगे. आठ घंटे से अधिक होने पर 100 रुपये प्रति घंटे देने होंगे. आकस्मिक मरीजों को ले जाने वाले वालों पर बीएलएस एंबुलेंस की दरें लागू होंगी. एंबुलेंस में ऑक्सीजन, चिकित्सीय स्टाफ और अन्य सुविधाओं का शुल्क कास्ट प्राइस पर ही लेना होगा. सरकारी एंबुलेंस में किसी प्रकार का शुल्क देय नहीं होगा. जिलाधिकारी श्रुति सिंह ने बताया कि अगर कोई एंबुलेंस संचालक निर्धारित दर से अधिक पैसे लेता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

Covid-19 Update: गौतम बुद्ध नगर पुलिस आयुक्तालय के 335 पुलिसकर्मी कोरोना से संक्रमित

इसके लिए एडीएम जय प्रकाश पर्यवेक्षणीय अधिकारी बनाया गया है. शिकायत कंट्रोल रूम के अलावा अधिकारियों के मोबाइल नंबर पर भी की जा सकती है. इसके लिए नंबर जारी किये गये हैं. शिकायत कंट्रोल रूम 9045253394, 904503239, 405688-259697 एसीएमओ डॉ. यतेंद्र राजपूत 8126356238 एआरटीओ बृजेश कुमार सिंह 9415225893 सीओ सैफई राकेश कुमार 9454401446 शवों के लिए नि: शुल्क वाहन जिलाधिकारी ने बताया कि कोरोना से मृत लोगों को अस्पताल से घर या श्मशान तक ले जाने के लिए नि:शुल्क सरकारी वाहन दिया जाएगा. इसकी जिम्मेदारी सीएमओ को दी जाएगी है. कोरोना मरीज की मृत्यु होने पर सीएमओ वाहन उपलब्ध कराएंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज