इटावा : सपा नेता धर्मेंद्र यादव ने निकाला विजय जुलूस, जेल चौकी इंचार्ज सस्पेंड; 34 हिरासत में

विजय जुलूस में जिला पंचायत सदस्य धर्मेंद्र यादव.

विजय जुलूस में जिला पंचायत सदस्य धर्मेंद्र यादव.

4 जून को जेल से रिहा हुए धर्मेंद्र यादव ने 5 जून को जेल के बाहर से विजय जुलूस निकाला था. उन्होंने औरैया की भाग्यनगर सीट से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीता है. फिलहाल धर्मेंद्र यादव फरार हैं, जिनकी तलाश में पुलिस जुटी है.

  • Share this:

इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा में सपा नेता धर्मेंद्र यादव ने कोरोना लॉकडाउन के दौरान हूटर रैली निकाली. इस मामले में जेल चौकी प्रभारी भानु प्रताप सिंह को प्रारंभिक तौर पर दौषी पाए जाने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. यह जानकारी इटावा के एसएसपी डॉ. ब्रजेश कुमार सिंह ने दी. आपको बता दें कि यह हूटर रैली एक तरह से विजय जुलूस थी. धर्मेंद्र यादव औरैया जिले के समाजवादी युवजन सभा के अध्यक्ष हैं. हाल ही में उन्होंने औरैया की भाग्यनगर सीट से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीता है. वे इसी 4 जून को जेल से रिहा हुए हैं और 5 जून को उन्होंने जेल के बाहर से रैली निकाली.

वीडियो वायरल हुआ तो 24 गाड़ियां जब्त, 34 लोग हिरासत में

एसएसपी डॉ. ब्रजेश कुमार सिंह ने बताया कि धर्मेंद्र यादव के जुलूस का वीडियो वायरल होने पर इटावा, आगरा, औरैया और जालौन में छापेमारी कर 24 गाड़ियां जब्त कर ली गईं और तकरीबन 34 लोगों को हिरासत में लिया गया है. इस मामले की जांच की जिम्मेवारी एसपी सिटी प्रशांत कुमार को सौंपी गई है. उन्होंने बताया कि धर्मेंद्र यादव की तलाश में इटावा, औरैया, आगरा और जालौन जिलों में छापेमारी की गई. जिसमें 34 ऐसे लोगों को हिरासत में लिया गया है जो कहीं न कहीं इस हूटर रैली में शामिल थे. धर्मेंद्र यादव जिस ऑडी में सवार थे, उसे भी पुलिस ने जब्त कर लिया है. मुख्य आरोपी धर्मेंद्र यादव अभी फरार हैं, जिनकी तलाश में पुलिस जुटी है.

पुलिस ने धर्मेंद्र को औरैया से जिला बदर कर रखा है
कोरोनाकाल में निकाली गई इस रैली के बाद पुलिस प्रशासन ने धर्मेंद्र समेत 200 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू की है. पुलिस ने बताया कि धर्मेंद्र यादव की तलाश में दबिश दी जा रही है. धर्मेंद्र पर दो दर्जन आपराधिक मामले दर्ज हैं और उसे पुलिस ने औरैया से जिला बदर कर रखा है. 5 जून को निकाले गए जुलूस में दर्जनों गाड़ियां शामिल थीं. सैकड़ों समर्थक के साथ विजय जुलूस निकाल धर्मेंद्र ने अपनी ताकत का प्रदर्शन किया था. जुलूस में हार-माला पहने धर्मेंद्र एक खुली ऑडी कार में चल रहा था, जबकि उसके समर्थक उसकी गाड़ी के आगे-पीछे दिखाई दे रहे थे.

विजय जुलूस का किया गया था फेसबुक लाइव

सबसे खास बात यह है कि धर्मेंद्र यादव और उसके समर्थकों ने इस विजय जुलूस का फेसबुक लाइव किया था. धर्मेंद्र ने कानपुर से दिल्ली जाने वाले हाइवे पर इटावा से औरैया के अनंतराम टोल प्लाजा तक करीब 30 किलोमीटर लंबा जुलूस निकाला था. शनिवार को इटावा और औरैया दोनों जगह वीकेंड कोरोना कर्फ्यू था, लेकिन इस 30 किलोमीटर लंबे रास्ते में कहीं भी पुलिस ने उसे रोकने की कोशिश नहीं की. धर्मेंद्र के जुलूस का वीडियो वायरल होने से हुई फजीहत के बाद अब पुलिस ने धर्मेंद्र के ऊपर नामजद और उसके 200 नामालूम साथियों पर कई धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज