होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /एसपी सिटी को थप्पड़ मार कर उपद्रव करने के केस में 2 भाजपाई गिरफ्तार, मुख्य आरोपी विमल भदौरिया फरार

एसपी सिटी को थप्पड़ मार कर उपद्रव करने के केस में 2 भाजपाई गिरफ्तार, मुख्य आरोपी विमल भदौरिया फरार

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

Etawah SP City Slapgate Case: इटावा जिले में ब्लाक प्रमुख चुनाव के दौरान एसपी सिटी प्रशांत कुमार को थप्पड़ मारा गया था. ...अधिक पढ़ें

इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में ब्लाक प्रमुख चुनाव के दौरान एसपी सिटी (SP City) प्रशांत कुमार को थप्पड़ मारने, गोलीबारी कर ब्लाक प्रमुख चुनाव मे उपद्रव करने के आरोपी 2 भाजपाइयों विवेक चैधरी उर्फ संजू चैधरी व श्याम सिंह भदौरिया को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इटावा के एसएसपी डा.ब्रजेश कुमार सिंह ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि इटावा जिले की बढ़पुरा पुलिस ने वीडियो फुटेज के आधार पर इन दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी की है. दोनों उपद्रवियों को दोपहर बाद अदालत मे पेश किया जायेगा. इस केस में अभी भी मुख्य आरोपी हिस्ट्रीशीटर भाजपा नेता विमल भदौरिया समेत एक सैकड़ा से अधिक उपद्रवी फरार हैं.

मामले में भले ही पुलिस ने दो उपद्रवियों को गिरफ्तार कर लिया हो, लेकिन पुलिस अभी भी मुख्य आरोपी हिस्ट्रीसीटर भाजपा नेता विमल भदौरिया को पकड़ने में कामयाब नही हो सकी है. भाजपा नेता विमल भदौरिया की गिरफ्तारी के लिए औरैया, मैनपुरी, कन्नौज, कानपुर देहात व मध्यप्रदेश के भिंड में छापेमारी की, लेकिन हाथ कुछ नहीं लगा. भदौरिया को पकड़ने के लिए पुलिस का यूपी एमपी में बड़ा अभियान शुरू है. इस अभियान मे पुलिस की दस टीमों के एक सैकडा अफसर जवान विभिन्न स्थानों पर एक साथ छापेमारी करने मे जुटे हुए हैं.

आरोपी के ठिकानों पर दबिश
आरोपी विमल को उसके सभी ठिकानों पद दबिश देकर छानबीन की जा रही है. साथ ही फुटेज के आधार पर चिह्नित लोगों की तलाश जारी है. इस अभियान में करीब एक सैकड़ा पुलिसजनों को शामिल किया गया है. एक दर्जन स्थानों पर जबरदस्त छापेमारी की जा रही है. विमल के उदी स्थित आवास पर भी पुलिस की रेड पड़ी, लेकिन विमल समेत सभी लोग फरार हो गये हैं.

भदौरिया के मध्यप्रदेश में छुपने का अनुमान
विमल भदौरिया के उत्तरप्रदेश से मध्यप्रदेश में छुपने के अनुमान लगाए जा रहे हैं. इसीलिए इटावा की कई टीमें मध्य प्रदेश के संभावित स्थानों पर छापेमारी करने में जुटी हुई है. बढ़पुरा थाने में विमल की हिस्ट्रीशीट 100 ए के नाम से दर्ज हैं. 9 आपराधिक मामले दर्ज हैं. सबसे पहला मामला 1996 में दर्ज हुआ है. इटावा के बढ़पुरा ब्लाक में शनिवार को ब्लाक प्रमुख के चुनाव के दौरान 100 से अधिक उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव व फायरिंग की थी.

Tags: Etawah Police, Uttar pradesh news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें