होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

इटावा: बिहार-MP से अवैध असलहे लाकर बेचने वाले 2 तस्कर गिरफ्तार, हथियार और कारतूस बरामद

इटावा: बिहार-MP से अवैध असलहे लाकर बेचने वाले 2 तस्कर गिरफ्तार, हथियार और कारतूस बरामद

इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने अवैध हथियार तस्करों की गिरफ्तारी करने वाली पुलिस टीम को 25,000 रुपये इनाम देने की घोषणा की है

इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने अवैध हथियार तस्करों की गिरफ्तारी करने वाली पुलिस टीम को 25,000 रुपये इनाम देने की घोषणा की है

Uttar Pradesh News: पुलिस के मुताबिक आरोपी हथियारों की तस्करी कर 22 हजार रुपये में पिस्टल और लगभग पांच हजार रुपये में एक तमंचा बेचते थे. असलहों की सप्लाई करने पर इनको अच्छा मुनाफा होता था. यह लोग मध्य प्रदेश, बिहार और उत्तर प्रदेश के कई जिलों में 100 से अधिक असलहों की सप्लाई कर चुके है

अधिक पढ़ें ...

    इटावा. उत्तर प्रदेश के पड़ोसी राज्य बिहार से अवैध हथियारों की तस्करी (Illegal Arms Smuggling) करने वाले अंतरराज्यीय गैंग का पर्दाफाश हुआ है. पुलिस ने छापा मारकर दो हथियार तस्करों (Arms Smuggling) को गिरफ्तार किया है. पकड़े गए आरोपियों के पास से तीन पिस्टल, आठ तमंचा और 23 जिंदा कारतूस बरामद किया गया है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) ने अवैध हथियार तस्करों की गिरफ्तारी करने वाली पुलिस टीम को 25,000 रुपये इनाम देने की घोषणा की है.

    एसपी सिटी प्रशांत कुमार ने बताया कि कोतवाली पुलिस और एसओजी की टीम ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए वाइस ख्वाजा रोड पर भदावरी भैंस फार्म के पास से सिनोद और राघवेंद्र नाम के दो हथियार तस्करों को गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि पकड़े गए दोनों तस्कर बिहार समेत कई अन्य राज्यों से असलहा लाकर इटावा और आसपास के जनपदों में बेचने का काम करते थे. बरामद असलहों में तीन पिस्टल बिहार की बनी हुई है जबकि तमंचे इटावा और अन्य राज्यों के बने हुए है.

    पुलिस ने सिनोद निवासी नगला पीते थाना चौविया और राघवेंद्र निवासी मदयापुर थाना सैफई को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक सिनोद पूर्व में धारा 307 में मैनपुरी के किशनी थाने से जेल जा चुका है. वो अवैध शराब की तस्करी में भी इटावा के बढ़पुरा थाना से जेल जा चुका है. एसपी सिटी ने बताया कि इटावा जेल में रहने के दौरान सिनोद की मुलाकात एक अन्य अपराधी से हुई जिसके बाद वो अवैध हथियारों (तमंचा और पिस्टल) की तस्करी करने लगा.

    पुलिस के मुताबिक आरोपी हथियारों की तस्करी कर 22 हजार रुपये में पिस्टल और लगभग पांच हजार रुपये में एक तमंचा बेचते थे. असलहों की सप्लाई करने पर इनको अच्छा मुनाफा होता था. यह लोग मध्य प्रदेश, बिहार और उत्तर प्रदेश के कई जिलों में 100 से अधिक असलहों की सप्लाई कर चुके है. हालांकि पुलिस यह जानकारी नहीं दे सकी कि पकड़े गए लोग असलहे कहां से ला रहे थे.

    Tags: Arms Smuggling, Crime News, Etawah news

    अगली ख़बर